कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए रोज 10 मिनट करें ये 3 काम, दिल और दिमाग को भी मिलेगा आराम

कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए आपको सबसे ज्यादा शारीरिक रूप से एक्टिव रहने की जरूरत है। 

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Nov 04, 2020Updated at: Nov 05, 2020
कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए रोज 10 मिनट करें ये 3 काम, दिल और दिमाग को भी मिलेगा आराम

अनहेल्दी फैट शरीर में कोलेस्ट्रॉल बढ़ाने का काम करते हैं। यह हमारी धमनियों की अंदरूनी दीवारों से चिपक जाते हैं, उन्हें संकीर्ण बना देते हैं, जिससे दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। जहां लो डेंसिटी वाले लिपोप्रोटीन (LDL) दिल से जुड़ी बीमारियों के खतरे को बढ़ा सकते हैं, वहीं हाई डेंसिटी वाले लिपोप्रोटीन (HDL)कोलेस्ट्रॉल,  इस खतरे को कम कर सकते हैं। ऐसे में जरूरी ये है कि हम हाई डेंसिटी वाले लिपोप्रोटीन (HDL)कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाएं और एलडीएल (LDL) को घटाएं। आज हम आपको ऐसी ही 3 चीजों के बारे में बताएंगे, जो कि खराब कोलेस्ट्रॉल (LDL) को कम (Tips to Reduce Cholesterol level) करने में आसानी से आपकी मदद कर सकते हैं।

insidebadandgoodcholesterol

कोलेस्ट्रॉल कम करने के 3 तरीके  (How to lower cholesterol naturally)

1. रनिंग या जॉगिंग करें

रनिंग या जॉगिंग कोलेस्ट्रॉल कम करने और वजन कम करने के लिए यह एक बेहतरीन व्यायाम है। वैस्कुलर बायोलॉजी में प्रकाशित एक शोध की मानें, तो कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए रनिंग या जॉगिंग सबसे अच्छे विकल्पों में से एक हैं। वहीं आर्काइव्स ऑफ इंटरनल मेडिसिन में प्रकाशित 2013 के एक अध्ययन में, शोधकर्ताओं ने बताया कि सप्ताह में कम से कम 10 मिनट रनिंग या जॉगिंग करने से एचडीएल कोलेस्ट्रॉल के स्तर में काफी बेहतर सुधार दिखा है। साथ ही इससे ब्लड प्रेशर भी संतुलित रहता है। जर्नल ऑफ ओबेसिटी की मानें, तो अधिक वजन वाले और मोटापे से ग्रस्त लोगों को कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए खाने के बाद टहलना, दौड़ना और साइकिल चलाना चाहिए। इससे एलडीएल कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड के स्तर में सुधार आ सकता है।

insidewalking

इसे भी पढ़ें : बेहतर पाचन से लेकर कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करने में फायदेमंद है मोरक्को आर्गन ऑयल, जानें इसके अन्य फायदे

2.साइकिल चलाएं

जर्नल ऑफ द अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के वैज्ञानिकों की मानें, जो लोग रेगुलर साइकिल चलाते हैं, उनमें हाई कोलेस्ट्रॉल विकसित होने की संभावना कम होती है। साथ ही उनका ब्लड प्रेशर नॉर्मल होता है और वो दिमागी रूप से भी ज्यादा सक्रिय रहते हैं। ऐसा इसलिए कि साइकिल चलाते वक्त पैर एक सर्कुलर मोशन में चलता है, जिससे ब्लड सर्कुलेशन पूरे शरीर में पहुंचता है। इस मूवमेंट के दौरान दिल सक्रिय रूप से काम करता है, जिससे हार्ट हेल्थ को बढ़ावा मिलता है।

3.रेजिस्टेंस ट्रेनिंग

शोध बताते हैं कि हाई कोलेस्ट्रॉल वाले लोगों के लिए रेजिस्टेंस ट्रेनिंग बेहद फायदेमंद है। जर्नल एथेरोस्क्लेरोसिस के एक अध्ययन की मानें, तो जिन लोगों ने रेजिस्टेंस ट्रेनिंग में भाग लिया उन लोगों का हाई डेंसिटी वाले लिपोप्रोटीन (HDL)कोलेस्ट्रॉल अन्य लोगों की तुलना में बेहतर था। वहीं शोध ये भी बताता है कि कैसे ब्लड सर्कुलेशन का स्मूथ होना, दिल से जुड़ी बीमारियों के खतरे को कम कर देता है। वहीं अगर रेजिस्टेंस ट्रेनिंग को एरोबिक एक्सरसाइज के साथ किया जाए, तो ये दोनों कोलेस्ट्रॉल कम करने के साथ तेजी से वजन घटाने में भी मदद कर सकते हैं।

insidegreatbloodcirculation

इसे भी पढ़ें : सेहत के लिए जरूरी है Dietary Fiber, जानें कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए कौन सा फाइबर लें?

कोलेस्ट्रॉल पर कैसे होता इन कामों का असर?

बता दें कि इन कामों को करने से उन प्रोटीन पार्टिकल का साइज बढ़ जाएगा, जिनमें कोलेस्ट्रॉल होता है। इस तरह ये ब्लड सर्कुलेशन को प्रभावित किए बिना शरीर में अपना काम करते रहते हैं। पर जो लोग एक्सरसाइज करना बंद कर देते हैं या शरीरिक गतिविधियों को नहीं करते, उनमें इन प्रोटीन पार्टिकल का साइज छोटा और घना होता है और तब ये ब्लड सर्कुलेशन में परेशानी पैदा करता है।

इस तरह इन 3 कामों को रोजाना 10 मिनट करके करना, आपको कई बामारियों से बचाए रख सकता है। इससे आपका दिल तो स्वस्थ रहेगा ही, बल्कि दिमाग भी स्ट्रेस फ्री रहेगा। बस ध्यान देने वाली बात ये है कि अगर आप नियमित रूप से व्यायाम नहीं कर रहे हैं, तो धीरे-धीरे शुरू करें। अपने डॉक्टर से जांच अवश्य करवाएं, ताकि वह आपके वर्तमान हृदय स्वास्थ्य का मूल्यांकन कर सके। इसके बाद अपने उम्र और लाइफस्टाइल के हिसाब से एक्सरसाइज चुनें और नियमित रूप से उसे करें। 

Read more articles on Exercise-Fitness in Hindi

Disclaimer