Doctor Verified

Typhoid Fever: टाइफाइड का बुखार कितने दिन तक रहता है?

Typhoid Fever in Hindi: टाइफाइड फीवर आंतों का एक संक्रमण है, जो बैक्टीरिया के कारण होता है। बुखार इसका सबसे सामान्य लक्षण है।

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Jun 24, 2022Updated at: Jun 24, 2022
Typhoid Fever: टाइफाइड का बुखार कितने दिन तक रहता है?

Typhoid Fever Kitne Din Rehta Hai: टाइफाइड एक बैक्टीरियल इंफेक्शन है जिसका प्रमुख लक्षण  बुखार है। यह पाचन तंत्र और ब्लडस्ट्रीम में बैक्टीरिया की वजह से होता है। जब साल्मोनेला बैक्टीरिया (Salmonella Bacteria) शरीर के अंदर प्रवेश करता है,  तो टाइफाइड के लक्षण महसूस होते हैं। यह बैक्टीरिया तरल पदार्थों के माध्यम से शरीर में जा सकता है। इस स्थिति में व्यक्ति को बुखार, कमजोरी, थकान और सिरदर्द जैसे लक्षण महसूस हो सकते हैं। टाइफाइड फीवर का पता लगाने के लिए विडाल टेस्ट (Widal Test) किया जाता है। जब कोई व्यक्ति टाइफाइड से संक्रमित होता है, तो उसके मन में अकसर सवाल रहता है कि टाइफाइड बुखार का असर कितने दिन तक रह सकता है? इस सवाल का जबाव जानने के लिए हमने फैमिली फिजिशियंस ऑफ इंडिया के अध्यक्ष डॉक्टर रमन कुमार से बातचीत की-

fever

टाइफाइड बुखार कितने दिन तक रहता है? (How Long Does Typhoid Last)

टाइफाइड आंतों का एक संक्रमण है। साल्मोनेला बैक्टीरिया के संपर्क में आने के 1 से 2 सप्ताह बाद टाइफाइड के लक्षण दिखना शुरू होने लगते हैं। इसका सबसे आम लक्षण तेज बुखार होता है। इस स्थिति में बुखार 104 डिग्री तक भी पहुंच सकता है। लेकिन टाइफाइड में बुखार कितने दिन तक रहता है, इस पर डॉक्टर रमन कुमार बताते हैं कि अगर टाइफाइड के लक्षण नजर आते ही इसका इलाज शुरू करवा दिया जाए तो बुखार 3 से 5 दिनों के बाद धीरे-धीरे कम होने लगेगा। टाइफाइड रोग की अवधि 3-4 सप्ताह की हो सकती है।

इसके अलावा अगर टाइफाइड का समय पर इलाज न करवाया जाए, तो यह फीवर कुछ हफ्तों से लेकर महीनों तक रह सकता है। इलाज के बिना टाइफाइड गंभीर हो सकता है, जोखिम को बढ़ा सकता है। 

इसे भी पढ़ें- बार-बार बुखार क्यों आता है? जानें इसके 3 कारण और बचाव के उपाय

टाइफाइड फीवर के लक्षण (Typhoid Fever Symptoms in Hindi)

बुखार टाइफाइड का मुख्य लक्षण होता है। इसके अलावा टाइफाइड फीवर होने पर व्यक्ति को पाचन से संबंधित समस्याएं भी महसूस हो सकती हैं क्योंकि टाइफाइड का बैक्टीरिया आंतों को प्रभावित करता है। टाइफाइड के लक्षणों में शामिल हैं-

  • तेज बुखार
  • सिरदर्द
  • कमजोरी
  • थकान
  • शरीर पर लाल दाने
  • पेट में दर्द
  • कब्ज और दस्त
  • भून न लगना
  • आलस
  • छाती में बलगम बनना
  • मतली और उल्टी
headache

टाइफाइड के स्टेज (Typhoid Stages in Hindi)

First Stage of Typhoid Fever: टाइफाइड के पहले स्टेज में आपको सूखी खांसी, आलस, सिरदर्द जैसे लक्षण महसूस हो सकते हैं। शरीर का तापमान थोड़ा बढ़ सकता है।

Second Stage of Typhoid Fever: टाइफाइड के दूसरे स्टेज में आपको तेज बुखार महसूस हो सकता है। इसके अलावा फूला हुआ पेट, वजन कम भी होने  की समस्या भी हो सकती है।

Third Stage of Typhoid Fever: टाइफाइड  का तीसरा चरण थोड़ा गंभीर हो सकता है। इस स्टेज में रक्तस्त्राव हो सकता है। बॉडी डिहाइड्रेट हो जाती है। 

Fourth Stage of Typhoid Fever: टाइफाइड के चौथे चरण में तेज बुखार होता है। यह स्थिति गंभीर संक्रमण, निमोनिया, किडनी फेलियर जैसी जटिलाओं का कारण बन  सकती है।

इसे भी पढ़ें- डेंगू में पेट दर्द क्यों होता है? जानें इसके कारण और बचाव के उपाय

Typhoid Fever: अगर आपको भी टाइफाइड के लक्षण नजर आते हैं, तो इस स्थिति को बिल्कुल भी नजरअंदाज न करें। टाइफाइड के लक्षण शुरू होते ही तुरंत डॉक्टर से कंसल्ट करें। क्योंकि जैसे-जैसे समय बढ़ता है, टाइफाइड के लक्षण भी बढ़ने लगते हैं और स्थिति गंभीर रूप ले सकती है।

Disclaimer