Doctor Verified

परिवार की आनुवंशिकी आपके स्वास्थ्य को कैसे प्रभावित करती है? डॉक्टर से जानें इस बारे में

कई ऐसी बीमारियां होती हैं, जो हमें अपने माता-पिता या परिवार के किसी अन्य सदस्य से मिल जाती है। इन्हें  आनुवंशिक बीमारियां कहा जाता है। चलिए जानते हैं

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Apr 01, 2022Updated at: Apr 04, 2022
परिवार की आनुवंशिकी आपके स्वास्थ्य को कैसे प्रभावित करती है? डॉक्टर से जानें इस बारे में

क्या जो बीमारी हमारे माता-पिता को होती है, वह हमें भी हो सकती है? अक्सर आपने लोगों को कहते सुना होगा कि ये बीमारी मुझे अपने मां या पिता से आनुवंशिक में मिली है। या मेरी यह बीमारी जेनेटिक है। इसका मतलब है यह बीमारी उनके माता-पिता को भी है, जो उन्हें जीन के जरिए स्थानांतरण हुई है। इतना ही नहीं कई बार परिवार के अन्य सदस्या जैसे दादा-दादी या भी भाई-बहन से भी बीमारी जेनेटिक में मिल सकती है। इतना सीधा मतलब है कि परिवार की आनुवंशिकी आपके स्वास्थ्य को सीधे तौर पर प्रभावित कर सकती है।  कामिनेनी अस्पताल के प्रोफेसर और एचओडी-जेनेटिक्स डॉक्टर एनी क्यू हसन (-Dr Annie Q Hasan, Prof and HOD - Genetics, Kamineni Hospitals) से विस्तार से जानते हैं आनुवंशिकी आपके स्वास्थ्य को कैसे प्रभावित करता है-

क्या कहते हैं डॉक्टर? 

हमारी हेल्थ जीवनशैली और आनुवंशिकी से प्रभावित होती है। खराब जीवनशैली और आनुवंशिकी दोनों ही स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकती हैं। इसमें जीवनशैली को बदलकर स्वास्थ्य को बेहतर बनाया जा सकता है। लेकिन आनुवंशिकी से होने वाली बीमारियां जीवनभर तक रह सकती है। हमारे जीन स्वास्थ्य और बीमारी के लिए जिम्मेदार होते हैं, जो हमें अपने माता-पिता से मिलते हैं। माता-पिता और परिवार के अन्य सदस्यों के साथ हमारी शारीरिक समानता के अलावा, हम समान जीन भी साझा करते हैं। डायबिटीज, हृदय रोग आदि ऐसी बीमारियां हैं, जो आनुवंशिकी हो सकते हैं। इसके अलावा अस्थमा, कैंसर और ब्लड प्रेशर की समस्या भी किसी को जेनेटिक हो सकती है। 

इसे भी पढ़ें - आपकी मां से आपको मिल सकती हैं ये 5 बीमारियां, अनुवांशिक होने के कारण आपकी अगली पीढ़ी को भी है खतरा

आनुवंशिक रोग (Genetic Disease Name)

डायबिटीज, ब्लड प्रेशर, अस्थमा, कैंसर और हृदय से जुड़े रोग किसी भी व्यक्ति को आनुवंशिक में मिल सकते हैं। अगर आपके माता-पिता को इनमें से कोई बीमारी है, तो हो सकता है यह आपको भी अपना शिकार बना सकता है। ये बीमारियां सामान्य रूप से आनुवंशिक में देखी जाती हैं। लेकिन इसका ये मतलब बिल्कुल नहीं है कि अगर आपके माता-पिता को यह बीमारी है, तो आपको भी होगी ही होगी। सही जीवनशैली, स्वस्थ जीवन से आप इनसे अपना बचाव कर सकते हैं। 

आनुवंशिक रोगों से कैसे बचें?

  • समय-समय पर अपना हेल्थ चेकअप करवाएं। जो बीमारी आपके माता-पिता को है, इसकी जांच करवाते रहें।
  • अगर आपको किसी भी आनुवंशिक रोग का लक्षण नजर आता है, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।
  • हेल्दी डाइट रूटीन फॉलो करें। अपनी डाइट में प्रोटीन, फाइबर और सभी जरूरी पोषक तत्वों को शामिल करें। किसी भी व्यक्ति के लिए बैलेंस डाइट लेना बहुत जरूरी होता है।
  • स्वस्थ रहने के लिए रेगुलर एक्सरसाइज, योग और मेडिटेशन करना भी बहुत जरूरी होता है। 
  • हेल्दी रहने के लिए अपने वजन को नियंत्रण में रखना बहुत जरूरी होता है। इसके लिए हेल्दी डाइट लें, फिजिकली एक्टिव रहें। 

अगर आपके घर पर भी किसी को कोई समस्या है, तो आप बचाव टिप्स को फॉलो कर सकते हैं। इससे आप खुद को इन बीमारियों की चपेट में आने से बचा सकते हैं। लेकिन अगर किसी भी बीमारी का कोई लक्षण नजर आए, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

Disclaimer