साफ दिख रहे पानी में भी हो सकते हैं हानिकारक बैक्टीरिया, जानें घर पर बिना मशीन पानी फिल्टर करने के आसान तरीके

बाहरी स्रोत से आने वाले पानी में हो सकते हैं हानिकारक बैक्टीरिया और फंगी, जो आपको बीमार बना सकते हैं। इन तरीकों से आप घर पर आसानी से पानी फिल्टर करें।

Monika Agarwal
Written by: Monika AgarwalUpdated at: Mar 11, 2021 10:30 IST
साफ दिख रहे पानी में भी हो सकते हैं हानिकारक बैक्टीरिया, जानें घर पर बिना मशीन पानी फिल्टर करने के आसान तरीके

3rd Edition of HealthCare Heroes Awards 2023

हममें से अधिकांश लोग पीने वाले पानी के प्रति अकसर लापरवाही बरतते हैं। हम बस नल खोलते हैं, पानी का गिलास भरते हैं, और पीते हैं। लेकिन आपको वास्तव में हर दिन पीने के लिए कितना पानी चाहिए, जानते हैं या क्या आप जो पानी पी रहे हैं वह सुरक्षित हैं? क्या कभी आपने सोचा है कि अचानक से अगर आपके नल का पानी दूषित हो जाए तो आप क्या कर सकते हैं? इन सब का एक ही जवाब है कि यदि आप शुद्ध व साफ पानी पीना चाहते हैं तो उसका फिल्टर होना बहुत आवश्यक होता है। या आप पहले से ही फिल्टर किए गए पानी की बॉटल भी ले सकते हैं। पानी को फिल्टर करने के लिए आपका बजट  या आपके आसपास किस तरह का पानी उपलब्ध है यह सब बातें भी ध्यान रखना जरूरी हैं। आप के आसपास बहुत से होमवेयर स्टोर्स पर छोटे घरेलू वाटर फिल्टर मिल जायेंगे, जो सीधे आपकी रसोई के नल से कनेक्ट हो सकते हैं। या फिर आप स्वयं भी घर पर पानी को फिल्टर कर सकते हैं। सबसे पहले तो आपका यह जानना जरूरी है कि आपको सारे दिन में कितना पानी पीना चाहिए। 

filteration of water

आपको कितने पानी की जरूरत होती है? (How much water you should drink)

आपको जानकर आश्चर्य होगा कि आपके शरीर के वजन में 50 फ़ीसदी से अधिक पानी का भार है। जो बताता है कि पानी के बिना आप सामान्य शरीर के तापमान को, अपने जोड़ो की फ्लैक्सिबिलिटी को कायम नहीं रख पाएंगे। शरीर से गंदगी और अनावश्यक तत्व मल और मूत्र के द्वारा भी बाहर नहीं निकल पाएंगे। जब पूरी मात्रा में पानी नहीं जायेगा तो उससे डिहाइड्रेशन की समस्या बढ़ेगी और हमारी मसल्स में कमजोरी, शरीर में ऐंठन, वाटर बैलेंस, थकान, हीट स्ट्रोक जैसे खतरे बढ़ जाएंगे।इसी बात से समझ लें कि वास्तव में, पानी इतना महत्वपूर्ण है कि कोई भी व्यक्ति इसके बिना पांच दिनों से अधिक जीवित नहीं रह सकता। इसलिए महिलाओं को कम से कम 8 से 12 गिलास और पुरुषों को कम से कम 12 से 15 गिलास पानी रोजाना पीना जरूरी है

इसे भी पढ़ें- सुबह सोकर उठने पर सबसे पहले पानी पीना है अच्छी आदत, जानिए खाली पेट पानी पीने के 10 फायदे

पानी फिल्टर करने के आसान नुस्खे (Water filtering methods)

अब जब हर मर्ज की दवा यानी कि पानी घर पर आसानी से उपलब्ध है तो, जरूरी है इसको साफ रखने के लिए सभी मानको को पूरा करने की। यह जरूरी तो नहीं कि पीने का पानी पूरी तरह से पीने के लिए सुरक्षित हो। इसीलिए निम्नलिखित तरीकों से इसको फिल्टर करना जरूरी है।

1. एक्टिवेटेड चारकोल (Activated charcoal)

use of charcoal

एक्टिवेटेड चारकोल के कारण पानी से स्मेल, जहरीले कंपाउंड आदि खत्म हो जाते हैं हालांकि यह जर्म्स व बैक्टेरिया आदि को पानी से हटाने में सहायक नहीं होते हैं। इसे प्रयोग करने के लिए आपको एक कपड़े या छलनी में चारकोल रख कर पानी उसमें से छानना होता है।

2. पानी उबालना (Heating water) 

यदि आप पानी को उबाल कर पीते हैं तो भी वह सुरक्षित हो जाता है। आप उसे एक मिनट तक उबाल सकते हैं और यदि आप 6000 फीट से अधिक ऊंचाई पर रहते हैं तो 3 मिनट तक पानी को उबाल सकते हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि पानी को किसी भी बैक्टीरिया या कीटाणु के इंफेक्शन से बचाने के लिए उसका उबलना आवश्यक होता है।

3.टेबलेट्स का प्रयोग करना (Disinfecting tablets)

आप पानी को फिल्टर करने के लिए कुछ टेबलेट्स जैसे क्लोरीन डाइऑक्साइड, आयोडिन आदि का प्रयोग कर सकते हैं। इन्हें प्रयोग करने से पहले आप टेबलेट्स के पैकेट पर लिखे दिशा निर्देशों को अवश्य पढ़ लें और उसके बाद ही उन्हें पानी में मिलाएं।

4. यूवी ट्रीटमेंट से रखें साफ (Ultraviolet sunlight)

इस तरीके से आप अपने पानी के अंदर सूर्य की हानिकरक किरणों को जाने देते हैं। इन किरणों के कारण पानी के अंदर मौजूद जर्म्स आदि के डीएनए नष्ट हो जाते हैं जिस कारण पानी बैक्टीरिया, कीटाणुओं व सभी प्रकार के माइक्रो आर्गेनिज्म से मुक्त हो जाता है। यदि आप पानी में नींबू का रस भी मिला देते हैं तो उससे यह प्रक्रिया तेजी से होने लगती है।

5. ट्रैवल साइज फिल्टर (Sediment filters)

use small filter for water

आप बहुत से मार्केट में उपलब्ध ट्रैवल साइज फिल्टर का भी प्रयोग कर सकते हैं। इनके कुछ उदाहरण हैं, हैंड पंप मशीन, फिल्टरिंग स्ट्रॉ, फिल्टरिंग वॉटर पिचर आदि।

6. खुद बनाये पोर्टेबल फिल्टर (Portable sediment filter)

आप एक बाल्टी जिसमें एक छेद हो को एक्टिवेटेड कार्बन, ग्रेवल व प्ले सैंड के साथ जोड़ सकते हैं और इसे अपने पीने वाले पानी की आगे कनेक्ट कर सकते हैं।

पानी को फिल्टर करने का क्या कारण है? (Reasons of water filteration)

पानी को फिल्टर करने के पीछे भी कारण होते हैं। एनवायरनमेंटल प्रोटेक्शन एजेंसी ने घर में उपलब्ध पानी के लिए कुछ स्टैंडर्ड सेट किए हैं। उदाहरण के लिए आर्सेनिक का अधिकतर कंटामिनेंट लेवल गोल 0.0 एमजी/लीटर होता है। हालांकि ईपीए ने नल के पानी का अधिकतर अमाउंट 0.01 mg/ लीटर तय किया है। इसका अर्थ यह होता है की नल का पानी पीने से उसमें अधिक आर्सेनिक होने के कारण हमारे शरीर में वह हानि पहुंचा सकता है। बाहरी गतिविधियों के लिए, पानी को फिल्टर करके ही पियें। ताकि आप पानी में मिले हुए हानिकारक कीटाणुओं या अन्य दूषित पदार्थों के सेवन से बच सकें। जो कि जंगली जानवरों या अन्य कारणों से दूषित हो सकता है।

इसे भी पढ़ें- पानी पीने के बारे में 7 गलत बातें जिन्हें लोग मानते हैं सही, एक्सपर्ट से जानें इनकी सच्चाई और सही से पिएं पानी

हर तरीके के फिल्टर का प्रभाव (Effects of filter on water)

हमने अभी बहुत से तरीके के फिल्टर के बारे में जाना। लेकिन अगर आपके मन में इन फिल्टर्स को लेकर अभी भी कोई संदेह है तो आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह फिल्टर वाकई में प्रभावकारी हैं। इन तरीकों को अपनाने से पानी में निम्न बदलाव महसूस कर सकते हैं।

  • पानी के स्वाद व स्मेल को बेहतर बनाता है।
  • पानी से केमिकल कंटेंट को मिटाता है।
  • हानिकारक कीटाणुओं को पानी से साफ करता है।
  • पानी में मौजूद हेवी मेटल्स को खत्म करता है।

जानें कुछ जरूरी टिप्स (Tips of using filter)

किसी भी फिल्टर का प्रयोग करने से पहले आपको कुछ बातें ध्यान में रखनी होंगी। जैसे यदि आप लंबे समय तक पानी को फिल्टर करना चाहते हैं तो आप स्वयं के द्वारा बनाए हुए फिल्टर की बजाय किसी कंपनी का प्रोडक्ट यूज करें। लेकिनयदि आप मार्केट में उपलब्ध महंगे फिल्टर को नही खरीद सकते तो आप आज के इन कुछ  फिल्टर का प्रयोग कर सकते हैं। जिस से आप शुद्ध व सुरक्षित पानी पी सकें।

बहुत से लोगों के शहर में पानी की व्यवस्था खराब है, उन्हें पता नही होता है की उनके यहां कैसा पानी आता है। कुछ लोगों के क्षेत्र में पानी में लेड भी मिल कर आती है जोकि हमारे मस्तिष्क के लिए बहुत हानिकारक होती है। इसलिए पानी को पीने से पहले आपको उसे फिल्टर करना बहुत आवश्यक होता है।

Read more on Miscellaneous in Hindi 

Disclaimer