Doctor Verified

लंबे समय से स्‍ट्रेस में रहने के कारण शरीर पर पड़ते हैं ये 4 प्रभाव, जानें कैसे करें बचाव

अगर आप लंबे समय तक स्‍ट्रेस में रहते हैं तो आपकी सेहत पर इसका बुरा असर पड़ सकता है, जानते हैं इसे व‍िस्‍तार से  

 
Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Apr 25, 2022Updated at: Apr 25, 2022
लंबे समय से स्‍ट्रेस में रहने के कारण शरीर पर पड़ते हैं ये 4 प्रभाव, जानें कैसे करें बचाव

तनाव वैसे भी आपकी सेहत के ल‍िए हान‍िकारक होता है पर लंबे समय तक स्‍ट्रेस में रहने के कारण कई तरह की शारीर‍िक समस्‍याएं हो सकती हैं। अगर आपको लगातार स्‍ट्रेस की समस्‍या का सामना करना पड़ता है तो आपको हार्ट से जुड़ी समस्‍या, पेट से जुड़ी समस्‍या या अन्‍य कोई शारीर‍िक समस्‍या हो सकती है। स्‍ट्रेस से बचने के ल‍िए आप कुछ आसान तरीके अपना सकते हैं ज‍िनके बारे में हम आगे बात करेंगे। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के बोधिट्री इंडिया सेंटर की काउन्‍सलिंग साइकोलॉज‍िस्‍ट डॉ नेहा आनंद से बात की।

stress

image source: estrellaent

1. स्‍ट्रेस के कारण रेस्‍पि‍रेटरी ड‍िसीज का खतरा (Stress can cause respiratory problem)

स्‍ट्रेस के कारण आपको रेस्‍प‍िरेटरी ड‍िसीज की समस्‍या भी हो सकती है। अगर आप ज्‍यादा स्‍ट्रेस लेंगे तो आपको सांस लेने में परेशानी हो सकती है। ज‍िन लोगों को पहले से क्रॉन‍िक ब्रोकाइट‍िस, अस्‍थमा, क्रॉन‍िक पल्‍मोनरी ड‍िसीज की समस्‍या होती है उनके ल‍िए स्‍ट्रेस खतरनाक साब‍ित हो सकता है।  

इसे भी पढ़ें- तनाव कम करने के लिए करें जमीन से जुड़ी ये 5 एक्टिविटीज, जानें जमीन से जुड़े रहने के फायदे

2. हार्ट से जुड़ी समस्‍या (Stress can cause heart problem) 

स्‍ट्रेस के कारण आपको हार्ट से जुड़ी समस्‍या भी हो सकती है। स्‍ट्रेस बढ़ने के कारण आपका हार्ट रेट बढ़ सकता है, ब्‍लड प्रेशर बढ़ सकता है या हार्ट से जुड़ी अन्‍य कोई समस्‍या हो सकती है। स्‍ट्रेस हार्मोन जल्‍दी-जल्‍दी बढ़ना यानी कई बार स्‍ट्रेस होना अच्‍छा लक्षण नहीं है इसल‍िए आापको इस पर गौर करना चाह‍िए नहीं तो आपको हार्ट अटैक या हार्ट स्‍ट्रोक की समस्‍या भी हो सकती है।         

3. पेट से जुड़ी समस्‍या (Stress can cause gastric problem)

स्‍ट्रेस के कारण आपका डाइजेशन भी खराब हो सकता है। अगर आपको पेट में दर्द महसूस हो रहा है तो इसका एक कारण स्‍ट्रेस भी हो सकता है। अगर आपको जी म‍िचलाहट या पेट से जुड़े और कोई लक्षण नजर आ रहे हैं तो हो सकता है आपको स्‍ट्रेस महसूस हो रहा हो।

4. स्‍ट्रेस के कारण दर्द की समस्‍या (Stress can cause pain)

अगर आप ज्‍यादा तनाव लेंगे तो आपको मसल्‍स में टाइटनेस महसूस होगी और ज्‍यादा स्‍ट्रेस लेने के कारण आपको स‍िर में दर्द की समस्‍या, माइग्रेन हो सकता है या आपको स‍िर, गर्दन या शोल्‍डर में भारीपन महसूस हो सकता है।   

इसे भी पढ़ें- जीवन में बहुत तनाव है तो खुद के लिए निकालें थोड़ा समय, जानें स्ट्रेस कम करने के कुछ बेहद आसान तरीके

स्‍ट्रेस को कैसे कम करें? (How to reduce stress)

stress in hindi

image source: bannerhealth.

स्‍ट्रेस के साइड इफेक्‍ट्स पूरे शरीर में देखने को म‍िलते हैं। अगर आपको स्‍ट्रेस होता है तो आपको अन‍िद्रा की समस्‍या,हाई बीपी की समस्‍या, इम्‍यून‍िटी घटने की समस्‍या आद‍ि का सामना करना पड़ सकता है। अगर आपको स्‍ट्रेस होता है तो आप मोटापे का श‍िकार हो सकते हैं, आपको स्‍क‍िन से जुड़ी समस्‍या हो सकती है। इन परेशान‍ियों से बचने के ल‍िए आप न‍िम्‍न उपाय अपना सकते हैं- 

  • अगर आपको स्‍ट्रेस हो रहा है तो आप मेड‍िटेशन कर सकते हैं, रोजाना एक्‍सरसाइज के अलावा कम से कम 30 म‍िनट के ल‍िए एक्‍सरसाइज करें।
  • स्‍ट्रेस कम करने के ल‍िए आप हेल्‍दी डाइट का सेवन करें और पर्याप्‍त मात्रा में पानी का सेवन करते रहें, एक द‍िन में कम से कम आपको 8 से 10 ग‍िलास पानी का सेवन करना चाह‍िए। 
  • स्‍ट्रेस कम करने के ल‍िए आपको फाइबर र‍िच डाइट का सेवन करना चाह‍िए, फाइबर फूड्स से आप मौसमी फल और ताजी हरी सब्‍ज‍ियों को शाम‍िल कर सकते हैं।
  • स्‍ट्रेस कम करने के ल‍िए संगीत सुनें और इस दौरान आप 30 म‍िनट वॉक करें।  
  • स्‍ट्रेस कम करने के ल‍िए अपनी हॉबी को फॉलो करें और डॉक्‍टर की सलाह पर आप अलग-अलग थैरेपी भी ट्राय कर सकते हैं।  

स्‍ट्रेस के लक्षण महसूस होने पर देरी न करें, आपको डॉक्‍टर से जल्‍द से जल्‍द संपर्क करना चाह‍िए, स्‍ट्रेस के कारण आपकी सेहत न ब‍िगड़े इसके ल‍िए हेल्‍दी लाइफस्‍टाइल फॉलो करें जैसे हेल्‍दी डाइट लेना और एक्‍सरसाइज करना।  

main image source: gaviscon

Disclaimer