Doctor Verified

तनाव कम करने के लिए करें जमीन से जुड़ी ये 5 एक्टिविटीज, जानें जमीन से जुड़े रहने के फायदे

तनाव कम करने के ल‍िए करें जमीन से जुड़ी ये 5 एक्‍ट‍िव‍िटीज, जानें फायदे

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Apr 23, 2022Updated at: Apr 23, 2022
तनाव कम करने के लिए करें जमीन से जुड़ी ये 5 एक्टिविटीज, जानें जमीन से जुड़े रहने के फायदे

तनाव कम करने के ल‍िए आप ग्राउंड‍िंंग तकनीक या अर्थि‍ंग तकनीक की भी मदद ले सकते हैं। ये एक तरह की च‍िक‍ित्‍सीय तकनीक है ज‍िसका मतलब है ग्राउंड यानी शरीर को जमीन से जोड़ना। कई ऐसी एक्‍ट‍िव‍िटीज हैं जैसे जमीन पर लेटना, बैठना या चलना ज‍िनकी मदद से आप तनाव कम कर सकते हैं। आगे लेख में हम ग्राउंड‍िंग तकनीक के फायदे और एक्‍ट‍िव‍िटीज के बारे में जानेंगे। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के बोधिट्री इंडिया सेंटर की काउन्‍सलिंग साइकोलॉज‍िस्‍ट डॉ नेहा आनंद से बात की। 

grounding tips

image source: themojolab

ग्राउंड‍िंग तकनीक क्‍या होती है? (Grounding technique in hindi)

ग्राउंड‍िंग तकनीक का मतलब है शरीर को जमीन या धरती के संपर्क में लाना। ग्राउंड‍िंग तकनीक को आप कहीं भी और कभी भी कर सकते हैं। अगर आप घर के बाहर जा रहे हैं तो सुबह के समय आप जमीन से जुड़ी क‍िसी भी एक्‍ट‍िव‍िटी को ट्राय कर सकते हैं। आपको केवल अपने पैर और हाथों को क‍िसी तरह से धरती के संपर्क में लाना है। आप चटाई या शीट को ब‍िछाकर उस पर भी चल सकते हैं।   

इसे भी पढ़ें- जीवन में बहुत तनाव है तो खुद के लिए निकालें थोड़ा समय, जानें स्ट्रेस कम करने के कुछ बेहद आसान तरीके

जमीन से जुड़े रहने से ड‍िप्रेशन कैसे कम होता है? 

ग्राउंड‍िंग थैरेपी का मतलब है जमीन से जुड़ना, एक्‍सरपर्ट्स भी ऐसा मानते हैं क‍ि जमीन से सीधे जुड़ने पर शरीर के सभी तत्‍व, मूल स्रोत के संपर्क में आते हैं ज‍िससे शरीर का संतुलन ठीक होता है। धरती के चुंबकीय संकेत आपके शरीर को म‍िलते हैं ज‍िससे शरीर की कई समस्‍याएं ज‍िनमें से ड‍िप्रेशन और एंग्‍जाइटी भी एक है वो खत्‍म होता है।   

ग्राउंड‍िंग तकनीक के फायदे (Benefits of grounding technique)

  • ग्राउंड‍िंग तकनीक की मदद से आप ड‍िप्रेशन से छुटकारा पा सकते हैं। 
  • बुरे ख्‍याब या मेमोरी को भुलाने में भी ये तकनीक आपकी मदद करती है।
  • अगर आप क‍िसी इमोशनल फेस से गुजर रहे हैं तो ये तकनीक मददगार साब‍ित होगी। 
  • आपको इस तकनीक के जर‍िए पॉज‍िट‍िव महसूस होगा और मानस‍िक स्‍वास्‍थ्‍य बेहतर रहेगा।   

जमीन से जुड़े रहने वाली एक्‍ट‍िव‍िटीज (Grounding technique activities)

ग्राउंड‍िंग का सबसे आसान तरीका है नंगे पैर और हाथों को सीधे जमीन से जोड़ना उसके ल‍िए आप ये न‍िम्‍न एक्‍ट‍िव‍िटीज को ट्राय कर सकते हैं-    

1. जमीन पर नंगे पैर चलना (Walking barefoot on ground)

आप जमीन से संपर्क बनाने के ल‍िए जमीन पर नंगे पैर चल सकते हैं। नंगे पैर चलते समय आपको पैर और हाथों को जमीन से सीधे जोड़ना है। ये सबसे सरल और आसान तरीका है खुद को प्रकृत‍ि के करीब रखने का।     

2. जमीन पर सोना या लेटना (Sleeping or lying on the ground)

कुछ देर आप जमीन पर लेट भी सकते हैं, इस तरीके से आप अपनी त्‍वचा और शरीर को धरती के संपर्क में ज्‍यादा देर के ल‍िए रख सकते हैं। आप ऐसा क‍िसी पार्क, घास या पानी के क‍िनारे या रेत पर भी कर सकते हैं।  

इसे भी पढ़ें- काम और स्ट्रेस की वजह से थक गया है दिमाग, तो इन तरीकों से दिमाग को करें दोबारा रीचार्ज   

3. जमीन पर मेड‍िटेशन करें (Meditate on ground)

grounding tips benefits

image source: themojolab

आप जमीन पर बैठकर मेड‍िटेशन करें, आप जमीन से जुड़े रहेंगे और आपको मेड‍िटेशन का फायदा भी म‍िलेगा, जानते हैं मेड‍िटेशन करने का तरीका- 

  • आप नाक से सांस लें और नीचे आराम से ध्‍यान की मुद्रा में बैठ जाएं। 
  • अब आपको मुंह से सांस धीरे-धीरे छोड़नी है। 
  • एक सेकेंड के ल‍िए होल्‍ड करें और फ‍िर उसी एक्‍शन को र‍िपीट करें। 
  • फ‍िर नाक से सांस लें और पूरे तरीके को र‍िपीट करें। 
  • मेड‍िटेशन करने से आपकी बॉडी और माइंड र‍िलैक्‍स होगा।  

4. कुछ देर जमीन पर बैठें (Sit on ground)

आपको कुछ देर जमीन पर जरूर बैठना चाह‍िए। आप चाहें तो जमीन पर बैठकर खाना खा सकते हैं या क‍िताब पढ़ सकते हैं। स्‍ट्रेस कम करने के ल‍िए जमीन से जुड़ना बहुत जरूरी है या आप सुबह-सुबह घास पर बैठ सकते हैं।     

5. पानी में तैराकी करें (Swim in water)

आपको अगर तैरना आता है तो आप तैराकी कर सकते हैं, जमीन से जुड़ने का ये भी एक अच्‍छा तरीका है। पानी भी जमीन से जुड़े रहने का एहसास द‍िलाता है। आपके शरीर और मन के ल‍िए स्‍व‍िम‍िंंग एक अच्‍छी एक्‍सरसाइज हैै आप इसे अपने रूटीन में शाम‍िल कर सकते हैं और हफ्ते में दो से तीन बार स्‍व‍िम‍िंंग कर सकते हैं।   

इन आसान एक्‍ट‍िव‍िटीज को आप अपने रूटीन में शाम‍िल करें और ग्राउंड‍िंग तकनीक का लाभ उठाएं। 

main image source: squarespace 

Disclaimer