लिवर खराब होने के संकेत हैं ये 5 लक्षण, इन नुस्‍खों से करें देखभाल

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Dec 21, 2017
Quick Bites

  • आजकल के लोग अपने खान पान पर विशेष ध्यान नहीं दे पाते हैं
  • जिसकी वजह से लीवर ख़राब हो जाता हैं, या लीवर सम्बंधित अन्य परेशनी हो जाती हैं
  • जैसे लीवर का फैटी होना, सुजन आ जाना और लीवर में इन्फेक्शन हो जाना इत्यादि

 

आज कल प्रत्येक व्यक्ति को पेट से सम्बंधित कुछ न कुछ परेशानी लगी रहती है, यह परेशानी लिवर में गड़बड़ी की वजह से अधिक होती हैं, क्योकि आज कल के लोग अपने खान पान पर विशेष ध्यान नहीं दे पाते हैं, जिसकी वजह से लिवर ख़राब हो जाता हैं, या लीवर सम्बंधित अन्य परेशनी हो जाती हैं, जैसे लिवर का फैटी होना, सुजन आ जाना और लिवर में इन्फेक्शन हो जाना इत्यादि। यदि हमारा खाना ठीक प्रकार से नहीं पच रहा हैं या हमे पेट में किसी प्रकार की परेशानी आ रही हैं तो हमे समझ जाना चाहिए की ये लिवर की खराबी के लक्षण हैं। इसे अनदेखा करना घातक साबित हो सकता हैं।

इसे भी पढ़ें:  रोजाना खाएं सिर्फ ये 5 चीजें, कभी खराब नहीं होगा लिवर!

लिवर खराब होने की वजह और लक्षण

ज्यादातर लिवर की खराबी अधिक तेल मसाले वाला भोजन, ज्यादा शराब पीने या बहार का खाना अधिक खाने की वजह से होता हैं। लिवर की खराबी के कई लक्षण हो सकते हैं जैसे- मुंह से गन्दी बदबू आना, आँखों के नीचे काले धब्बे पड़ना, पेट में हमेशा दर्द रहना, भोजन का सही ढंग से नहीं पचना, त्वचा पर सफ़ेद धब्बे पड़ना, पेशाब या मल गहरे रंग का होना इत्यादि लिवर की खराबी के सामान्य लक्षण हैं। कुछ अन्य भी लक्षण हो सकते हैं लिवर की खराबी के जो हमे जांच के बाद ही पता चल पाते हैं।

इसे भी पढ़ें: लिवर कैंसर से बचने के लिए कितने कप कॉफी है फायदेमंद, जानें

यदि पाचनतंत्र में खराबी हो या लिवर पर वसा जमा हो या फिर वह बड़ा हो गया हो तो ऐसे में पानी भी नही हजम होगा, त्वचा पर सफ़ेद धब्बे पढने लगते हैं जिससे “लिवर स्पॉट” भी कहा जाता हैं। अगर हमारा लिवर सही से कार्य नहीं कर रहा होता हैं, तो मुंह से गन्दी बदबू भी आने लगती हैं क्योंकी मुंह में अमोनिया ज्यादा रिसता हैं, आँखों के नीचें धब्बे पड़ने लगते हैं जिस पर आपके ख़राब स्वास्थ का असर साफ़ दिखाई देने लगता हैं।

लिवर को स्‍वस्‍थ रखने के आयुर्वेदिक घरेलू उपाय

  • रात को सोने से पहले दूध में हल्दी मिला कर पीयें क्यूंकि हल्दी में रोग निरोधक क्षमता होती हैं और यह हैपेटाइटिस बी व सी के कारण होने वाले वायरस को बढ़ने से रोकता हैं।  
  • एक गिलास पानी में एक चम्मच एप्पल साइडर विनेगर एवं शहद  मिला कर दिन में दो से तीन बार ले। यह शरीर में मौजूद विषैले प्रदार्थ को निकालने में मदद करता हैं।  
  • आंवला विटामिन सी का सबसे अच्छा स्तोत्र हैं यह लिवर को कार्यशील बनाने में मदद करता है, स्वस्थ लीवर के लिए दिन में 4-5 आंवले का सेवन ज़रूर करे।   
  • पपीता पेट से सम्बंधित सभी रोगों क लिए एक रामबाण औषधि हैं, प्रतिदिन दो चमच पपीते के रस में आधा चम्मच नीबू का रस मिलकर पीयें इससे पेट सम्बंधित कई परेशानियों से निजात मिलता हैं, खासकर यह “लिवर सिरोसिस” में लाभकारी होता हैं|
  • पालक और गाजर के रस का मिश्रण “लिवर सिरोसिस” के लिए फायदेमंद घरेलु उपचार हैं।
  • सेब और हरी पत्तेदार सब्जियां पाचन तत्र में उपस्थित विशाख्त प्रदर्ठो को बहार निकलने में और लिवर को स्वस्थ रखने में मदद करता हैं।
  • भुई आवला या भू-धात्रीं एक ऐसी औषधि हैं  जो हमारे लीवर को संपूर्ण  सुरक्षा देता हैं। इसका प्रतिदिन सेवन करना चाहिए।

इनपुट्स- प्रवक्ता डॉ. सुबोध भटनागर, स्वामी परमानंद प्राकृतिक चिकित्सालय योग अनुसंधान केंद्र

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Home Remedies For Diseases In Hindi

Loading...
Is it Helpful Article?YES8572 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK