Moringa Powder Benefits: औषधीय गुणों की भरमार है मोरिंगा पाउडर, जानें क्या है और इसके आयुर्वेदिक फायदे

मोरिंगा पाउडर में कैल्शियम की एक अच्छी मात्रा होती है, जो आपके पेट के एंजाइमों को ठीक रखता है। आइए जानते हैं इसके अन्य फायदों के बारे में।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Jun 10, 2020Updated at: Jun 10, 2020
Moringa Powder Benefits: औषधीय गुणों की भरमार है मोरिंगा पाउडर, जानें क्या है और इसके आयुर्वेदिक फायदे

आयुर्वेद हमें बहुत कुछ दिया है और इन आयुर्वेदिक चीजों की खास बात ये है कि ये हमारे आस पास ही मिलते हैं और एक साथ कई फायदे पहुंचाते हैं। ऐसी ही एक आसानी से मिलने वाली चीज है  मोरिंगा पाउडर (Moringa Powder)। ये आयुर्वेद की दुनिया की एक ऐसी पेशकश है, जो स्वास्थ्य के लिए कई तरह से फायदेमंद है। बात चाहें महिलाओं के स्वास्थ्य से जुड़ी हो या दिल और पेट से जुड़ी बीमारियों से, मोरिंगा पाउडर इन सब में आपकी मदद (Health Benefits of Moringa) कर सकता है। पर आखिरकार ये है क्या? भारत में कहा मिलता है और आप इसका कैसे इस्तेमाल कर सकते हैं? तो आइए आज हम आपको इन तमाम सवालों के जवाबों से अवगत करवाते हैं।

insidebenefitsofmoringa

क्या है मोरिंगा पाउडर (Moringa Powder)

मोरिंगा ओलीफ़ेरा एक पौधा है जो भारत के उत्तरी भाग में बड़े पैमाने पर बढ़ता है। भारतीय आम भाषाओं में इसे सहजन, मुनगा, मोरिंगा और सूरजने की फली आदि कहा जाता है। मोरिंग पाउडर सहजन के सूखे पत्तों को प्राकृतिक रूप से पीसकर कर बनाया जाता है। इसे पाउडर (Sahjan (Moringa) Powder Ke Fayde) से लोग पुराने डायबिटीज का आयुर्वेदिक इलाज करते थे। तो वहीं इससे हाई बीपी वाले लोग चाय बनाकर भी पीते हैं। इसी तरह इसके कई और फायदे (Moringa Powder Benefits भी हैं), आइए जानते हैं उनके बारे में।

महिला स्वास्थ्य के लिए मोरिंगा पाउडर

पीरियड्स में

मोरिंगा पाउडर आपके पीरियड्स में ऐंठन को कम कर सकता है। मोरिंगा पाउडर में अच्छी मात्रा में आयरन होता है, जो आपकी दैनिक आयरन की आवश्यकता के 32% के बराबर होता है। इसलिए, मोरिंगा पाउडर का सेवन आपके ब्लड में हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ा सकता है और पीरियड्स के दौरान आपको अधिक सक्रिय और ऊर्जावान बनाए रखता है। इसलिए पीरियड्स में आपको एक चमच मोरिंगा पाउडर को चाय में मिला कर जरूर पीना चाहिए।

स्तनपान कराने वाली मांओं के लिए

जिन महिलाओं में स्तनपान के दौरान दूध बनने में परेशानी होती है उनके लिए मोरिंगा पाउडर एक रामबाण इलाज बन सकता है। कुछ शुरुआती शोध से पता चलता है कि मोरिंगा दूध उत्पादन को एक सप्ताह के उपयोग के बाद बढ़ाता है। वहीं मां बनने के बाद ये शरीर में खून की कमी को भी पूरा करने में मदद करता है।

मेनोपॉज के लक्षण

प्रारंभिक शोध से पता चलता है कि 3 महीने के लिए ताजा मोरिंगा के पत्तों को भोजन में शामिल करने से मेनोपॉज के लक्षणों में सुधार होता है।  मेनोपॉज के लक्षण जैसे कि क्रैंप्स और चिड़चापन, नींद की समस्या को कम करने में मदद करता है। इसके लिए कहा जाता है कि रात में सोने से पहले मोरिंगा पाउडर को दूध में मिला कर पिएं।

insideasthma

इसे भी पढ़ें : कई बीमारियों का काल है सहजन की पत्तियां, जानें इसके फायदे और इस्तेमाल करने के तरीके

मोरिंगा पाउडर के अन्य फायदे

अस्थमा

प्रारंभिक शोध से पता चलता है कि 3 सप्ताह के लिए रोजाना 3 ग्राम मोरिंगा लेने से अस्थमा के लक्षणों में कमी आ सकती है।वहीं हल्के से मध्यम अस्थमा वाले वयस्कों में फेफड़ों की कार्यक्षमता में सुधार होता है। ये फेफड़ों में म्यूकस संबंधी परेशानियों को भी कम कर सकता है।

त्वचा के लिए फायदेमंद

यूएस-आधारित कृषि अनुसंधान सेवा के अनुसार, मोरिंगा पाउडर विटामिन ए और विटामिन ई का एक समृद्ध स्रोत है। ये दोनों विटामिन हैं जो आपकी त्वचा को चमकदार और स्वस्थ रखने में बहुत बड़ी भूमिका निभाते हैं। इसके अलावा, यह फाइन लाइन्स और झुर्रियों जैसे उम्र बढ़ने के संकेत को भी कम करने में आपकी मदद करता है। साथ ही ये एंटीऑक्सिडेंट-सामग्री के साथ-साथ आपके मुँहासे को भी ठीक करने में मदद कर सकते हैं।

insidestress

इसे भी पढ़ें : डायबिटीज, ब्लड प्रेशर और मोटापा घटाने के लिए रोज पिएं 'सहजन की पत्तियों की चाय', जानें बनाने का तरीका

तनाव को कम करता है

एडाप्टोजेन्स वो जड़ी-बूटियां हैं, जो शरीर को तनाव के विषाक्त प्रभाव से बचाती हैं। रिसर्च जर्नल ऑफ फार्माकोलॉजी और फार्माकोडायनामिक्स में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, मोरिंगा के पेड़ के पत्ते शक्तिशाली नेचुरल एडाप्टोजेन्स से भरे होते हैं जो आपकी नींद और होर्मोस में एक संतुलन बनाए रखते हैं। इस वजह आपको कम स्ट्रेस होता है और एक गहरी नींद सो सकते हैं।

दिल के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद

मोरिंगा के पत्ते क्वेरसेटिन नामक एक एंटीऑक्सिडेंट से भी समृद्ध होते हैं, जो कि न्यूट्रिशनल जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, रक्तचाप को नियंत्रित करने में मदद करता है। साथ ही, इसमें कोलेस्ट्रॉल कम करने वाली शक्तियां भी होती हैं। ये दोनों गुण आपके हृदय स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए मोरिंगा को एक सही प्राकृतिक तरीका बनाते हैं।

Read more articles on Ayurveda in Hindi 

Disclaimer