तुलसी की जड़ों में भी छिपे हैं कई औषधीय गुण, जाने इसके 5 फायदे और इस्तेमाल का तरीका

तुलसी की पत्तियों की तरह तुलसी का जड़ भी स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हो सकता है। आइए जानते हैं इसके बारे में-

 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Mar 22, 2022Updated at: Mar 22, 2022
तुलसी की जड़ों में भी छिपे हैं कई औषधीय गुण, जाने इसके 5 फायदे और इस्तेमाल का तरीका

हिंदू धर्म में तुलसी का खास महत्व है। लगभग हर एक भारतीय घरों में तुलसी आसानी से मिल सकती है। पारंपरिक दृष्टि के साथ-साथ स्वास्थ्य की दृष्टि से भी तुलसी का विशेष महत्व होता है। इसके सेवन से शरीर की कई बीमारियां दूर होती हैं। आयुर्वेद में शरीर की कई परेशानियों जैसे- कमजोर इम्यूनिटी, सर्दी-खांसी, जुकाम इत्यादि को दूर करने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है। आयुर्वेद में तुलसी की पत्तियों से लेकर जड़ तक का इस्तेमाल किया जाता है। आज हम इस लेख में तुलसी की जड़ों के फायदों के बारे में जानेंगे। तुलसी की पत्तियों की तरह इसकी जड़ भी स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होती है। आइए विस्तार से जानते हैं तुलसी की जड़ के फायदे- 

तुलसी की जड़ के फायदे (benefits of basil roots)

पत्तियों की तरह तुलसी की जड़ का इस्तेमाल शरीर की कई परेशानियों को दूर करने के लिए किया जाता है। इससे खांसी, सर्दी-जुकाम, गठिया जैसी परेशानी को कम किया जा सकता है। आइए जानते हैं विस्तार से इसके बारे में-

1.  बुखार से राहत

शरीर के तापमान को कम करने के लिए तुलसी की पत्तियां लाभकारी होती हैं। आयुर्वेद में तुलसी की जड़ों का इस्तेमाल भी बुखार की समस्याओं को कम करने के लिए किया जाता है। बुखार होने पर 1 कप पानी में 20 ग्राम करीब तुलसी की जड़ डालें। अब इसमें 10 काली मिर्च डालकर अच्छे से उबालें। जब पानी आधा रह जाए, तो इस काढ़े को पिएं। इससे बुखार की परेशानी बहुत ही जल्द कम हो सकती है। हालांकि, ध्यान रखें कि अगर बुखार ठीक नहीं हो रहा है, तो डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

इसे भी पढ़ें - खांसी के घरेलू इलाज के लिए इन 5 तरीकों से इस्तेमाल करें तुलसी, जल्द मिलेगा आराम

2. स्किन की परेशानियां 

स्किन की समस्याओं जैसे- दाग-धब्बे, कुष्ट, दाद इत्यादि को ठीक करने के लिए तुलसी की जड़ा का इस्तेमाल किया जा सकता है। इसका इस्तेमाल करने के लिए तुलसी की जड़ को सोंठ के साथ मिक्स करके अच्छे से पीस लें। अब इसे प्रभावित हिस्से पर लगाएं। इससे काफी लाभ मिलेगा। इसके अलावा आप तुलसी की पत्तियों को पीसकर भी प्रभावित स्थान पर लगा सकते हैं। इससे स्किन की समस्याएं ठीक हो सकती हैं। 

3. गठिया दर्द में आराम 

गठिया की परेशानियां जैसे- जोड़ों में दर्द, ऐंठन, सूजन इत्यादि को कम करने के लिए भी तुलसी की जड़ का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए तुलसी की जड़, डंठल, पत्तियों और बीज को बराबर मात्रा में मिक्स कर लें। इसके बाद इसमें थोड़ा सा गुड़ मिलाकर इसका चूर्ण तैयार कर लें। अब इसकी गोलियां तैयार करें। सुबह-शाम दूध के साथ इसका सेवन करने से जोड़ों में दर्द की परेशानी से छुटकारा मिल सकता है। 

4. कीड़ा काटने पर दिलाए राहत

कीड़ा काटने के बाद स्किन पर लालिमा और सूजन की शिकायत होने सकती है। ऐसे में तुलसी की जड़ का इस्तेमाल करना आपके लिए लाभकारी हो सकता है। इस स्थिति में तुलसी की जड़ को मक्शन या घी के साथ पीस लें। अब इसका लेप तैयार करें। इसके बाद इस लेप को प्रभावित हिस्से पर लगाएं। इससे आपकी समस्या कंट्रोल हो सकती है।

5. खांसी से राहत

खांसी और गला बैठने पर तुलसी की जड़ का सेवन करना आपके लिए लाभकारी हो सकता है। इसलिए लिए आप खांसी या गला बैठने पर तुलसी की जड़ को सुपारी की तरह चूसें। इससे काफी आराम महसूस हो सकता है।

इसे भी पढ़ें - रोजाना तुलसी की चाय पीने के फायदे और नुकसान

तुलसी की पत्तियों की तरह तुलसी का जड़ भी स्वास्थ्य से जुड़ी परेशानियों को दूर करने में लाभकारी हो सकता है। हालांकि, ध्यान रखें कि अगर आपकी परेशानी ज्यादा बढ़ रही है, तो इस स्थिति में डॉक्टर से संपर्क करें। 

 

Disclaimer