इन 6 पेड़-पौधों की पत्तियां देती हैं सेहत को कई फायदे, जानें इनके उपयोग और मिलने वाले लाभ

आज हम आपको ऐसे 5 पेड़-पौधों की पत्तियों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्हें स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। जानें इनके बारे में-

Anju Rawat
Written by: Anju RawatUpdated at: Dec 07, 2021 15:36 IST
इन 6 पेड़-पौधों की पत्तियां देती हैं सेहत को कई फायदे, जानें इनके उपयोग और मिलने वाले लाभ

3rd Edition of HealthCare Heroes Awards 2023

आयुर्वेद में ऐसे कई पेड़-पौधे या जड़ी-बूटियां हैं, जिनका इस्तेमाल औषधि के रूप में किया जाता है। कुछ पेड़-पौधे के सिर्फ फल, तो कुछ पेड़-पौधे के छाल औषधीय गुणों से भरपूर होते हैं। वैसे ही कुछ पेड़-पौधे के फल, जड़, छाल और पत्तियां सभी लाभदायक होते हैं। आज हम आपको ऐसे पेड़-पौधों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनकी पत्तियों का इस्तेमाल औषधि की रूप में किया जा सकता है। ये पत्तियां स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होने के साथ ही कई तरह की समस्याओं से भी निजात दिलाती हैं। हम बात कर रहे हैं नीम, बेल, पुनर्नवा, पान और सदाबहार के पत्तों की। जानें इन पेड़-पौधों की पत्तियों से स्वास्थ्य को होने वाले लाभ-

daibetes

1. नीम के पत्तों के फायदे (neem leaves benefits)

नीम एक ऐसा पेड़ है, जिसके तने, पत्तियां और बीज औषधि का काम करते हैं। नीम की पत्तियों को आयुर्वेद में काफी फायदेमंद माना गया है। इसकी पत्तियों का इस्तेमाल तरह-तरह की समस्याओं को दूर करने के लिए किया जाता है। इसमें एंटी बैक्टीरियल और एंटी फंगल गुण होते हैं, जो सूजन, जलन और खुजली को कम करता है। नीम की पत्तियों में फंगस, वायरस और बैक्टीरिया से लड़ने की क्षमता होती है। यह अपने एंटीकैंसर गुणों के लिए भी जाना जाता है। नीम की पत्तियों से त्वचा और बालों से जुड़ी समस्याएं भी दूर होती हैं। अगर आप मधुमेह या डायबिटीज रोगी हैं, तो भी नीम की पत्तियों का इस्तेमाल कर सकते हैं। मूसड़ों की सूजन को कम करने में नीम की पत्तियां फायदेमंद होती हैं। आप इसका इस्तेमाल रोज सुबह चबाकर कर सकते हैं। नीम की पत्तियां मुंह की दुर्गंध को भी दूर करती हैं।

इसे भी पढ़ें - रात को नाभि में नीम का तेल लगाने से दूर होती हैं कई त्वचा समस्याएं, जानें इसके अन्य फायदे

2. बेल की पत्तियों के फायदे (benefits of bael leaves)

बेल का पेड़़ औषधीय गुणों से भरपूर होता है। इसके फल में कैल्शियम, फॉस्फोरस, प्रोटीन और आयरन काफी अच्छी मात्रा में होता है। बेल के फल के साथ ही पत्ते भी स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होते हैं। बेल के पत्तों में एंटी फंगल, एंटी बैक्टीरियल और एंटी वायरल गुण होते हैं, जो कई रोगों से बचाव करते हैं। बेल के पत्ते पेट के लिए सबसे अधिक फायदेमंद होते हैं। इसके पत्तों के सेवन से पाचन क्रिया बेहतर होती है। बेल के पत्तों में फेरोनिना नामक तत्व होता है,  जो डायरिया की समस्या से बचाता है। पेट के कीड़ों को मारने के लिए भी इसके पत्ते फायदेमंद होते हैं। आप डॉक्टर की सलाह पर इसके पत्तों का सेवन कर सकते हैं। बेल में कई स्वास्थ्य गुण समाए हुए हैं

evergreen leaves benefits

3. सदाबहार के पत्तों के फायदे (Evergreen Leaves benefits)

सदाबहार के पत्ते स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभदायक होता है। अधिकतर घरों में इसका पौधा लगा होता है, लेकिन लोग इसके औषधीय गुणों से अंजान होते हैं। अगर आपके घर में भी सदाबहार का पौधा है, तो आप इसके पत्तों से औषधीण गुण प्राप्त कर सकते हैं। सदाबहार का पौधा डायबिटीज के साथ ही कैंसर में भी लाभदायक होता है। सदाबहार में पाया जाने वाला विन्डोलिन नामक तत्व ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल में रखने में मददगार है। सदाबहार की पत्तियों का रस नाक में डालने से गले का संक्रमण ठीक होता है। सदाबहार की पत्तियां डायबिटीज रोगियों के लिए फायदेमंद होती है

4. पुनर्नवा के पत्ते (Punarnava leaves benefits)

आयुर्वेद में पुनर्नवा के पौधे का इस्तेमाल औषधि के रूप में किया जाता है। इसकी पत्तियां कई तरह के रोगों को दूर करने में फायदेमंद होती हैं। किडनी की बीमारी को रोकने में पुनर्नवा के पत्ते सहायक होते हैं। यह कई तरह की बीमारियों के लक्षणों में कमी करके, गति को धीमा करते हैं।

5. पान के पत्ते (Betel leaves benefits)

पान के पत्ते स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होते हैं। इसके पत्ते विटामिंस, मिनरल्स से भरपूर होते हैं। अगर आप मोटापे से परेशान हैं, तो पान के पत्तों का सेवन कर सकते हैं। इससे वजन बढ़ने की समस्या से छुटकारा मिलता है। कब्ज की समस्या से भी पान के पत्ते राहत दिलाते हैं। इसके साथ ही इसमें एंटी सेप्टिक, एंटी वायरल और एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं, जो फंगल इंफेक्शन से बचाते हैं। 

इसे भी पढ़ें - सिरदर्द, घुटनों के दर्द जैसी इन 7 समस्याओं में फायदेमंद है बबूल की फली का पाउडर, जानें इस्तेमाल का तरीका

6. चांगेरी के पत्ते

चांगेरी के पत्ते भी आयुर्वेद के अनुसार काफी फायदेमंद होते हैं। इसके पत्तों में एसिडिक गुण होते हैं, जो सूजन को दूर करने में मददगार होते हैं। इसके पत्तों का सेवन आप जूस के रूप में कर सकते हैं। पत्तों का रस निकालें और इसका सेवन करें। यह मूत्राशय में होने वाले सूजन को दूर करता है। त्वचा रोग, घाव और जलन को शांत करने के लिए भी इसके पत्तों का सेवन किया जा सकता है। चांगेरी के पत्तों का रस बुखार से भी राहत दिलाता है।

अगर आप भी प्राकृतिक तरीके से अपनी सामान्य समस्याओं को दूर करना करना चाहते हैं, तो इन पेड़ों-पौधों की पत्तियों का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

Disclaimer