खाने में 'सुमैक स्पाइस' के इस्तेमाल से शरीर को मिलते हैं कई बेहतरीन लाभ, जानें इसके फायदे-नुकसान

सुमैक स्पाइस के बारे में शायद ही आपने सुना हो। यह एक ऐसा मसाला है, जिसका इस्तेमाल आप सभी तरह की डिशेज में कर सकते हैं। इसके कई स्वास्थ्य लाभ भी है। 

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Mar 19, 2021
खाने में 'सुमैक स्पाइस' के इस्तेमाल से शरीर को मिलते हैं कई बेहतरीन लाभ, जानें इसके फायदे-नुकसान

खाने की खुशबु, रंग और स्वाद बढ़ाने के लिए सदियों से विभिन्न मसालों का इस्तेमाल किया जा रहा है। लेकिन मसाले केवल खाने को स्वादिष्ट ही नहीं बनाते, बल्कि हमारे स्वास्थ के लिए भी बहुत जरूरी हैं। सुमैक स्पाइस भी ऐसा ही एक मसाला है, जो औषधीय गुणों से भरपूर है। राम हंस चेरीटेबल हॉस्पिटल, सिरसा के आयुर्वेदाचार्य श्रेय शर्मा का कहना हैं कि सुमैक स्पाइस पहले मध्य-पूर्व एशिया के देशों में ही इस्तेमाल होता था, लेकिन अब इसका इस्तेमाल भारत में भी किया जा रहा है। आजकल यह मार्केट्स में आसानी से मिल जाता है। अगर आपको इसकी बेरी मिल जाए, तो साबुत बेरी खरीद लें, इनकी शेल्फ लाइफ अधिक होती है। पाउडर का इस्तेमाल आप कई महीनों तक कर सकते हैं, लेकिन साबुत बेरी करीब सालभर तक खराब नहीं होती है। इसके इस्तेमाल से मांसपेशियों के दर्द, बुखार में आराम मिलता है। इसके अलावा खाने में इसके इस्तेमाल से सेहत को कई अन्य फायदे भी होते हैं। आइए जानते हैं इस बारे में विस्तार से-

घर पर ऐसे बनाएं सुमैक स्पाइस

सुमैक स्पाइस सुमैक फूल की बेरी (छोटा बेर के समान फल) से प्राप्त होता है। इसके लिए आप बाजार से साबुत बेरी लें, इन्हें तोड़कर सुखाएं, इसके बाद पीस लें। पीसने पर गहरे लाल-जामुनी रंग का पाउडर बन जाता है, जिसका टैक्सचर थोड़ा दरदरा होता है। 

ऐसा है इसका स्वाद 

इसका स्वाद और गंध नींबू के समान होता है, लेकिन पूरी तरह खट्टा नहीं होता है। इसमें थोड़ा-सा मीठापन भी होता है, जो एसिडिटी को संतुलित करता है। 

पोषकता (Nutrition)

  • कार्बोहाइड्रेट - 71 प्रतिशत 
  • वसा - 19 प्रतिशत 
  • प्रोटीन - 5 प्रतिशत

इसमें दो तरह की वसा होती है। पहली ओलिएक एसिड (मोनो सैचुरेटेड) जो हृदय को स्वस्थ रखती है। दूसरी लिनोलिक एसिड (पॉली सैचुरेटेड) जो त्वचा, सेल्युलर मैम्ब्रेन को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करती है। इसमें विटामिन बी1, बी2, बी6 और सी भी पाया जाता है।

कैसे करें इस्तेमाल 

Health benefit of sumac spice

सुमैक स्पाइस को सबसे ज्यादा मांसाहारी डिशेज, सलाद में गार्निशिंग के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इसे ग्रीन सलाद, खीरे के सलाद, ग्रिल्ड चिकन, ब्रेड, फाइड फिश पर छिड़ककर खाया जाता है। चावल की डिशेज, कबाब का स्वाद बढ़ाने के लिए भी इसका इस्तेमाल किया जाता है। सब्जियों में भी इसे शामिल किया जा सकता है। कई जगह इसे पॉपकार्न पर भी छिड़का जाता है। स्वीट डिशेज में भी इसका इस्तेमाल किया जा सकता है। 

स्वास्थ्य लाभ

सुमैक स्पाइस पोषक तत्वों और एंटी ऑक्सीडेंट्स से भरपूर होता है। आप इसे मसाले या हर्बल मेडिसिन के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं। उत्तरी अमेरिका में इसका इस्तेमाल कई बीमारियों को ठीक करने के लिए भी किया जाता है, जैसे खांसी, गले की खराश और पेट दर्द। 

इसे भी पढ़ें - इस तरह धनिया और मिश्री खाने से सेहत को मिलेंग कई फायदे, खांसी और मुंह की दुर्गंध से भी मिलेगा छुटकारा

एंटी ऑक्सीडेंट से भरपूर

सुमैक स्पाइस एंटी ऑक्सीडेंट्स का पावर हाउस है। टैनिन्स, एंथोसियानिन्स और फ्लैवोनाइड्स जैसे एंटी ऑक्सीडेंट्स इसके औषधीय गुणों का कारण है। इसमें पाए जाने वाले एंटी ऑक्सीडेंट्स सूजन कम करते हैं। इस तरह इसके सेवन से इन्फ्लैमेटरी डिसीजेज जैसे हृदय रोगों और कैंसर का खतरा कम हो जाता है। कई अध्ययनों में यह बात सामने आई है कि नियमित रूप से इसका सेवन करने से कार्डियोवॉस्क्युलर डिसीजेज के खतरे कम होते हैं। इसमें मौजूद एंटी ऑक्सीडेंट्स कोशिकाओं को क्षतिग्रस्त होने से बचाते हैं और शरीर में ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम करते हैं।

ठीक होता है बुखार

 

सुमैक स्पाइस के सेवन से बुखार कम किया जा सकता है। इसके लिए सुमैक स्पाइस का काढ़ा तैयार करें। इसे पीने से बुखार के मरीजों का तापमान कम होता है। 

डायबिटीज करें कंट्रोल

सुमैक स्पाइस टाइप-2 डायबिटीज के रोगियों के लिए काफी फायदेमंद होता है। इससे शरीर में ग्लूकोज के स्तर को कम करने में मदद मिलती है। यह रक्त में शुगर के स्तर को संतुलित रखने में भी सहायता करता है। 

मांसपेशियों के दर्द में आराम

सुमैक स्पाइस का सेवन पेन रिलीवर की तरह काम करता है। यह मांसपेशियों के दर्द में आराम पहुंचाता है। इसलिए अगर आपको मांसपेशियों में दर्द रहता है, तो आप इसे अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं।

किडनी और ब्लैडर की समस्याओं में राहत

सुमैक स्पाइस के सेवन से किडनी और ब्लैडर से संबंधित समस्याएं कम होती है। सुमैक में मौजूद न्यूट्रिशन किडनी से टॉक्सिन्स को बाहर निकालने में मदद करता है। इससे किडनी में स्टोन की समस्या भी नहीं होती है।

इसे भी पढ़ें - कुलथी की दाल है किडनी की पथरी के रोगियों के लिए वरदान, जानें इसके फायदे और सेवन का सही तरीका

साइड इफेक्ट्स

  •  सुमैक स्पाइस काजू, आम के परिवार का सदस्य है। इसलिए जिन लोगों को काजू और आम से एलर्जी है, वे इसके सेवन से बचें। 
  • सुमैक रक्त में शुगर के स्तर को कम करता है, इसलिए अगर आप रक्त में शुगर का स्तर कम करने वाली दवाईयां ले रहे हैं, तो इसका सेवन न करें। ऐसे में इसका सेवन करने से रक्त में शुगर का स्तर कम हो जाएगा।
  •  गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाएं डॉक्टर की सलाह से ही खाने में इसका इस्तेमाल करें।

कितनी मात्रा में लें

How to eat suman spice

यह एक प्राकृतिक उत्पाद है, इसलिए इसका सेवन करना सुरक्षित है। लेकिन आप बहुत ज्यादा मात्रा में इसका सेवन करने से बचें। ज्यादा मात्रा में सेवन करने से इसके साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं। 

आप भी सुमैक स्पाइस को अपने खाने में शामिल कर सकते हैं। लेकिन अगर इसके सेवन से आपको कोई साइड इफेक्ट नजर आता है, तो सेवन करना तुरंत बंद कर दें। डॉक्टर की सलाह पर ही इसका सेवन करें। इसके अलावा अगर आपको ऊपर दी गई कोई समस्या है, तो भी इसके सेवन से बचें। 

Read More Articles on Ayurveda in Hindi

Disclaimer