एक कप थिसल चाय आपको रखेगी वायरल बीमारियों से दूर, न्यूट्रीशनिस्ट से जानें इसके 6 फायदे और कुछ नुकसान

मिल्क थिसल एक औषधिय पौधा है। इसकी चाय पीने से स्वास्थ्य को कई फायदे होते हैं।

Meena Prajapati
Written by: Meena PrajapatiUpdated at: Mar 09, 2021 16:07 IST
एक कप थिसल चाय आपको रखेगी वायरल बीमारियों से दूर, न्यूट्रीशनिस्ट से जानें इसके 6 फायदे और कुछ नुकसान

भारत एक ऐसा देश है जहां बहुत सी मर्ज का इलाज औषधिय पौधों में छुपा है। ऐसा ही एक औषधिय पौधा है मिल्क थिसल। इस पौधे को मिल्क थिसल (Milk Thistle) इसलिए भी कहा जाता है क्योंकि इसके फूलों को मरोडने से उनमें से दूध निकलता है। इसका वैज्ञानिक नाम सिलिबम मरियनम है। यह पौधा दुनिया में किसी जगह भी उग जाता है। सालों से इस पौधे का इस्तेमाल कई रोगों को खत्म करने में किया जा रहा है। मिल्क थिसल में अनेक गुण छुपे हुए हैं। इसे काढ़ा, चाय या पाउडर के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। आज हम बात कर रहे हैं कि मिल्क थिसल की चाय सेहत के लिए कैसे फायदेमंद है। दिल्ली के अपोलो अस्पताल में न्यूट्रीशनिस्ट पुनीता श्रीवास्तव ने मिल्क थिसल की चाय के फायदे, उसे बनाने की विधि और उसके कुछ साइड इफैक्ट भी बताए हैं, आइए जानते हैं।

Inside3_milkthistletea1

मिल्क थिसल की चाय बनाने की विधि

डॉ. पुनीता के मुताबिक मिल्क थिसल की चाय उसके बीजों से बनती है। इसके बीजों को तोड़कर सुखा लिया जाता है। फिर उसका पाउडर बनाया जाता है। गर्म पानी में एक चम्मच पाउडर डाला जाता है। फिर इसका सेवन किया जाता है। अगर आप इसमें कुछ और टेस्ट मिलाना चाहते हैं तो इसमें नींबू या शहद भी मिला सकते हैं। मिल्क थिसल के पाउडर को कांच के जार में स्टोर भी किया जा सकता है। इसका टी बैग भी बना सकते हैं। मिल्क थिसल की चाय किसी भी मौसम में पी जा सकती है। गर्मी के मौसम में एक से दो कप और सर्दी में तीन से चार कप पी जा सकती है।

मिल्क थिसल में मौजूद पोषक तत्त्व 

मिल्क थिसल में ज्यादा मात्रा में सिलिमैरी एंटी-ऑक्सीडेंट होता है। ये 65 से 80 फीसद होता है। यह एक एंटी-ऑक्सीडेंट है जो इम्युनिटी को बनाने में करता है। यह पौधा एंटी-ऑक्सीडेंट से भरपुर है। एंटी-इंफ्लामेंट्री, एंटी-वायरल है। 

इसे भी पढ़ें : रोज इस तरह बनाकर पिएं नीम की पत्तियों से बनी हर्बल चाय, सेहत को मिलेंगे कई जबरदस्त फायदे

मिल्क थिसल की चाय के फायदे

बदलते मौसम की बीमारियों से दिलाए निजात

मिल्क थिसल की जड़, पत्ते, बीज आदि का उपयोग स्वास्थ्य लाभों के लिया किया जाता है। डॉ. पुनीता के मुताबिक, मिल्क थिसल में 65 से 80 फीसद सिलिमैरी एंटी-ऑक्सीडेंट होता है। यह एंटी-ऑक्सीडेंट इम्युनिटी को बढ़ाने में मदद करता है। इसलिए बदलते मौसम के साथ होने वाली वायरल बीमारियों को यह ठीक करता है।

लिवर के लिए फायदेमंद

न्यूट्रीशनस्ट पुनीता का कहना है कि मिल्क थिसल की चाय लिवर के लिए बहुत फायदेमंद है। आजकल फैटी लिवर की परेशानी बहुत कॉमन हो गई है। इसे मिल्क थिसल की चाय खत्म करती है। इस बीमारी से निजाप पाने के लिए दिन में एक बार मिल्क थिसल की चाय पी जा सकती है।

inside2_milkthistletea

अस्थमा में मददगार

जिन लोगों को अस्थमा की समस्या होता है उनके लिए मिल्क थिसल की चाय रामबाण है। दरअसल इसमें पाया जाने वाला सिलीमैरी एंटी-ऑक्सीडेंट अस्थमा को ठीक करने में मदद करता है। इस मर्ज को ठीक करने के लिए मिल्क थिसल की चाय या काढ़ा पिया जा सकता है।

इसे भी पढें : वजन घटाने, डायिबिटीज और स्ट्रेस को दूर करने में मददगार है ओलोंग टी, जानें सेहत के लिए 5 फायदे

डायबीटिज ठीक करे

मिल्क थिसल में एंटी-डायबिटिक प्रॉपर्टीज होती हैं। इसमें पाया जाने वाला सिलिमरीन गुण ब्लड शुगर लेवल को तेजी से बढ़ने से रोकता है। इसलिए डायबिटीज नियंत्रित रहती है।

स्तनपान

मिल्क थिसल प्रोलेक्टिन हार्मोन के लेवल को बढ़ाता है। जिससे शरीर में दूध की मात्रा बढ़़ती है। भटकटैयी की चाय पीने से यह समस्या भी ठीक होती है।

त्वचा संबंधी रोगों में फायदेमंद

मिल्क थिसल का सेवन करने से त्वचा संबंधी रोग ठीक होते हैं। इसके लिए आप रोजाना एक कप चाय तो ले ही सकते हैं। इसके अलावा इसके फलों के रस को तेल में मिलाकर शरीर पर लगाना चाहिए। इससे खाज, खुजली, फोड़े, फुंसी जैसी समस्याओं को ठीक करता है। 

अन्य फायदे

मिल्क थिसल की चाय पीने से बीपी की समस्या, मोटापा घटाने में, हड्डियों को मजबूती देता है। इसके अलावा सूजन, दर्द में भी सहायक है।

Inside1_milkthistletea1

मिल्क थिसल की चाय के नुकसान

मिल्क थिसल की चाय का सेवन अधिक करने से नुकसान भी हो सकते हैं। इसलिए न्यूट्रीशनिस्ट डॉ. पुनीता ने कहा कि गर्मी के दिनों में ज्यादा मिल्क थिसल की चाय का सेवन नहीं करना चाहिए। अगर आपको इसकी चाय पीनी भी है तो दिन में एक कप पी सकते हैं। इसके ज्यादा सेवन से गैस, अपच, एलर्जिक रिएक्शन, डायरिया जैसी परेशानियां हो सकती हैं। 

मिल्क थिसल की चाय पीने से शरीर के कई रोग ठीक होते हैं। इसे रोजाना ग्रीन टी तरह इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके बीज, जड़, पत्ते आदि स्वास्थ्य के लिए  बहुत लाभदायक होते हैं। यह पौधा सड़कों पर कहीं भी उग जाता है। आयुर्वेद में इसका विशेष स्थान है।

Read More Article On Healty Diet In Hindi

 

Disclaimer