शिशु के सिर पर इन 4 तेलों से करें रेगुलर मसाज, घने और मजबूत होंगे बाल

शिशु के सिर की मालिश के लिए सही तेलों का चुनाव करना जरूरी है। इन तेलों की मालिश से शिशु के बाल स्वस्थ रहेंगे।

Meena Prajapati
Written by: Meena PrajapatiPublished at: May 14, 2021Updated at: Mar 23, 2022
शिशु के सिर पर इन 4 तेलों से करें रेगुलर मसाज, घने और मजबूत होंगे बाल

बचपन से शिशु की देखभाल अगर अच्चे से हो तो भविष्य में उसे पर्सनैलिटी और स्वास्थ्य को लेकर समस्याएं नहीं झेलनी पड़तीं। कहते हैं बचपन का खाया-पीया बड़े होकर दिखता है। इसलिए जरूरी है कि शिशु की देखभाल पूरी सावधानी के साथ की जाए। माताएं तो यह भी ध्यान रखती हैं कि बच्चे को सुलाते समय उसका सिर सीधा रहे। अगर ज्यादा देर शिशु का सिर एक ही तरफ रहता है तो उन्हें डर रहता है कि कहीं शिशु की खोपड़ी टेढ़ी न हो जाए। ऐसी तमाम एहतियात हैं जो माता-पिता शिशु के जन्म से पहले ही रखना शुरू कर देते हैं। इसी तरह शिशु के स्वस्थ बालों के लिए जरूरी है कि उसके लिए सही तेल का चुनाव किया जाए। आज हम आपको यहां कुछ तेलों की जानकारी दे रहे हैं जिन्हें अपनाकर आप अपने शिशु के बालों की ग्रोथ को अच्छा कर सकते हैं और दूसरा बालों को स्वस्थ रख सकते हैं। 

Inside5_hairoilforinfants

क्यों जरूरी है शिशु के सिर की मालिश

ये निम्न कारणों से शिशु की मालिश जरूरी है-

बालों की ग्रोथ के लिए

शिशु के बालों की ग्रोथ के लिए उसके सिर की मालिश जरूरी है। तेल की मालिश से शिश को सिरदर्द से भी राहत मिलती है।

ब्लड सर्कुलेशन बढ़ाए

सिर की चंपी करने से खोपड़ी में ब्लड सर्कुलेशन और मॉश्चराइज होती है। जिससे शिशु के बालों की ग्रोथ भी ठीक होती है। 

अच्छी नींद के लिए

शिशु की अच्छी नींद के लिए उसके सिर की मालिश करना जरूरी है। मालिश करने से शिशु रिलैक्स महसूस करता है उसे सिर में ठंडा मिलता है और नींद अच्छी आती है।

इसे भी पढ़ें : शिशुओं के स्वास्थ्य के लिए जरूरी हैं ये 4 टेस्ट, डॉक्टर से जानें इन्हें क्यों और कब करवाना चाहिए

ये हैं शिशु के बालों के लिए फायदेमंद तेल

सरसों का तेल

हर घर की किचन में उपब्ध सरसों का तेल बच्चों के सिर की मालिश के लिए बहुत फायदेमंद होता है। सरसों के तेल में मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड, ओमेगा 3 और 6 फैटी एसिड पाए जाते हैं जो बालों की ग्रोथ के लिए अच्छे होते हैं। तो वहीं सरसों के तेल से खुजली और रूसी की समस्या भी दूर होती है। शिशु के सिर पर रोज सरसों के तेल की चंपी उसे बहुत फायदा पहुंचा सकती है।

Inside1_hairoilforinfants

तिल का तेल

तिल का तेल बालों के अलावा खाने में भी प्रयोग में लाया जाता है। तिल के तेल से दर्द संबंधी परेशानियां और त्वचा संबंधी परेशानियां भी दूर होती हैं। सर्दियों में इस तेल का प्रयोग लाभदायक होता है। तो वहीं शिशु के सिर की मालिश करने के लिए भी तिल का तेल उपयोगी है। दरअसल तिल के तेल में एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं। जिस वजह से यह सिर को किसी तरह से संक्रमण से दूर रखता है। तिल के तेल की मालिश शिशु के सिर में रूसी की समस्या को दूर करती है।

इसे भी  पढ़ें : शिशु के लिए घर पर ही बनाएं हर्बल काजल, जानें इसे बनाने का तरीका और फायदे

Inside2_hairoilforinfants

अरंडी का तेल

गठिया, त्वचा से लेकर झुर्रियों की समस्या को दूर रखने में अरंडी तेल बहुत लाभकारी है। इसके अलावा भी इसके कई गुण हैं। इसमें विटामिन ई पाया जाता है जो बालों की ग्रोथ के लिए अच्छा है। लेकिन अरंडी का तेल उन बच्चों के लिए प्रयोग में नहीं लाना चाहिए जिन्हें किसी तरह की एलर्जी की समस्या हो। इसके तेल की चंपी भी शिशु को स्वस्थ बाल दे सकती है।

जैतून का तेल

जैतून का तेल प्राचीन समय से प्रयोग में लाया जा रहा है। यह तेल शिशु की चंपी के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। इस तेल की चंपी से सिर की खुजली और रूसी की परेशानी चली जाती है। जैतून के तेल में एंटी-बैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण होते हैं जिस वजह से सिर में कई समस्या नहीं लगती हैं। यह तेल बालों को ज्यादा चमकदार बनाता है। इसे बच्चों के अलावा बड़े भी प्रयोग में ला सकते हैं।  

बच्चों की परवरिश बचपन से स्वस्थ तरीके से होने से उन्हें बड़े होने पर बीमारियां कम होती हैं। साथ ही सिर की मालिश करने से उनके बाल बड़े होने पर भी स्वस्थ रहते हैं। यहां बताए गए तेलों के प्रयोग से अगर शिशु को किसी तरह की दिक्कत हो, तो प्रयोग बंद कर दें।

Read more on Children Health in Hindi 

 

Disclaimer