शिशु के लिए घर पर ही बनाएं हर्बल काजल, जानें इसे बनाने का तरीका और फायदे

शिशुओं को काजल लगाने से आंखों की रोशनी अच्छी होती है। साथ ही इससे आंखों में चमक आती है। आइए जानते हैं इसके फायदे-

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Feb 05, 2021Updated at: Feb 05, 2021
शिशु के लिए घर पर ही बनाएं हर्बल काजल, जानें इसे बनाने का तरीका और फायदे

काजल आंखों की खूबसूरती को बढ़ाने में अहम योगदान देता है। खासकर छोटे बच्चों की खूबसूरती में काजल चार चांद लगाने का कार्य करती है। मेरी मां कहती है कि काजल लगाने से बच्चों की आंखे बड़ी-बड़ी होती हैं और बच्चों को आंखों में किसी तरह की परेशानी नहीं होती। खासतौर पर घर पर बना हुआ काजल आंखों के लिए बहुत ही अच्छा होता है। मेरे घर में भी एक छोटी सी बच्ची है, जिसे मेरी मां घर पर तैयार काजल लगाती है। इससे बच्चे को आंखों में किसी तरह की कोई परेशानी नहीं होती है। हालांकि, काजल लगाते समय मेरी मां कुछ बातों का ख्याल रखती है। वो में आज आप लोगों के साथ शेयर करना चाहती हैं, ताकि अगर आप भी अपने शिशु को काजल लगाना चाहते हैं, तो अच्छे से लगाएं। आइए जानते हैं किस तरह बच्चों को काजल लगाया जाए और इससे आखों को क्या फायदा होता है?

कैसे बनाएं काजल (How to Prepare Homemade Kajal)

काजल बनाने के लिए सबसे पहले 1 बड़ा सा दिया लें। इस दिए के लिए रुई से एक मोटी सी बाती तैयार करें। अब दिए में सरसों का तेल भरें, अगर आप सरसो तेल का इस्तेमाल नहीं करना चाहते हैं, तो घी का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। अब इसमें 1-2 टुकड़ा कपूर का डालें। अब बाती को भिगोकर इस दिए को जलाएं। इसके बाद दिए के दोनों ओर दो ईंट रखे और इसके ऊपर एक छोटी सी कटोरी रखें। अब रातभर के लिए दिए को जलता हुआ छोड़ दें। अगर आप दिन में काजल बना रहे हैं, तो करीब 5 से 6 घंटे तक के लिए दिए को जलाए रखें। इसके बाद आप देखेंग कि कटोरी के ऊपरी हिस्से में काजल बनकर तैयार है। अब इस काजल को आप काजलदानी में रखें और इसमें थोड़ा सा घी मिक्स करें। आपका काजल तैयार है। अब आप इसे अपने बच्चे को लगा सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें - शिशुओं के पेट में गैस और दर्द से राहत दिलाए ग्राइप वॉटर, जानिए इसके सभी फायदे और कुछ नुकसान

काजल लगाते समय रखें इन बातों का ख्याल-

मेरी मां शिशु को काजल लगाते समय कुछ बातों का ज्यादा ध्यान रखती हैं। जैसे-

  • घर पर तैयार काजल को कभी भी वे शिशु को डायरेक्ट नहीं लगाती हैंं।
  • काजल लगाने से पहले उसे आग पर पकाना जरूरी होता है, क्योंकि अगर आप डायरेक्ट काजल लगाती हैं, तो इससे शिशु की आंखें चिपक सकती हैं।
  • काजल को पकाने के लिए आपको ज्यादा मेहनत करने की जरूरत नहीं है। बस काजल दानी को दूर से आग से पास ले जाकर 1 से 2 मिनट के लिए गर्म करना होता है। 
  • अब इस काजल को सावधानी से शिशु को लगाएं। 

घर पर तैयार काजल लगाने के फायदे (Benefits of Homemade Kajal)

  • काजल लगाने से शिशु की आंखों को आराम मिलता है। हालांकिं, अगर आपके शिशु को काजल से एलर्जी है और चिकित्सक शिशु को काजल लगाने से मना करते हैं, तो उसे काजल ना लगाना ही बेहतर होगा। 
  • बड़े-बुजुर्गों का मानना है कि काजल लगाने से आंखें बड़ी होती हैं। लेकिन इस बात में कितनी सच्चाई है, इसे वैज्ञानिक रूप से प्रमाणित नहीं किया गया है। 
  • काजल शिशु की आंखो को सूर्य की रोशनी से बचाव करता है। 
  • इससे उनकी आंखें साफ होती हैं।
 

ये हमारे घर का आजमाया हुआ काजल है। घर पर तैयार काजल को लगाने से शिशु को किसी तरह का कोई नुकसान नहीं होता है। अगर आप बाहर के केमिकलयुक्त काजल का इस्तेमाल करते हैं, तो इससे आंखों में कई तरह की समस्याएं हो सकती हैं। अगर आपके घर में कोई शिशु है, तो इस काजल को जरूर ट्राई करें। इसके साथ आप भी इस काजल का इस्तेमाल कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें - शिशुओं में इन कारणों से हो सकती है कैल्शियम की कमी, जानिए कैल्शिमय की कमी के लक्षण

 
Read More Article On  New Born Care In Hindi 
Disclaimer