शिशु और बच्चों को घी खिलाना कितना है सुरक्षित? जानें इसके फायदे और नुकसान

शिशुओं या छोटे बच्चों की डाइट में घी जोड़ना उनके विकास के लिए जरूरी है। जानते हैं इसके फायदे, नुकसान और घी खिलाने के तरीके...

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Jun 28, 2021Updated at: Jun 28, 2021
शिशु और बच्चों को घी खिलाना कितना है सुरक्षित? जानें इसके फायदे और नुकसान

जन्म के बाद के कुछ महीने नवजात शिशु को मां का दूध पिलाते हैं। वहीं 6 महीने बाद शिशु कुछ खाद्य पदार्थ जैसे फल, कुछ डेरी प्रोडक्ट्स खा सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि बच्चों के लिए पोषक तत्व को उनकी डाइट में जोड़ना जरूरी है। लेकिन अगर हम बात पौष्टिक खाने की कर रहे हैं तो हम घी को कैसे भूल सकते हैं। पर माएं अपने बच्चे को घी खिलाने से पहले कई सवालों से घिर जाती हैं। वे सोचती हैं कि क्या इतने छोटे बच्चे को खिलाना फायदेमंद है (ghee benefits for babies)? कहीं इसके सेवन से कोई नुकसान तो नहीं? आज का हमारा लेख इसी विषय पर है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि बच्चों को घी खिलाना कितना सुरक्षित है। साथ ही हम घी खिलाने के तरीके और इसके नुकसान के बारे में भी जानेंगे। इसके लिए हमने न्यूट्रिशनिस्ट और वैलनेस एक्सपर्ट वरुण कत्याल ( wellness expert and nutritionist varun katyal) से भी बात की है।  पढ़ते हैं आगे...

1 - शिशु को घी खिलाना कितना है सुरक्षित?

6 महीने के बाद बच्चा घी का सेवन कर सकता है। इस पर हुई एक रिसर्च के मुताबिक 6 से 8 महीने के शिशु की डाइट में 0.6 kcal/g को जोड़ सकते हैं। वहीं 12 से 23 महीने के बच्चे की डाइट में 1 kcal/g जोड़ सकते हैं। ऐसा करने से उर्जा भरपूर मिलती है। इस शोध के मुताबिक बच्चे की डाइट में घी के साथ-साथ गुड, शहद, मक्खन, तेल आदि को भी उनकी डाइट में उर्जा के लिए जोड़ सकते हैं।

शोध पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

2 - बच्चे के लिए घी की सीमित मात्रा क्या है?

चूंकि हम सब जानते हैं कि घी उर्जा का प्रमुख स्रोत है। ऐसे में शिशु और छोटे बच्चों की डाइट में 1 टीस्पून घी जोड़ सकते हैं। इसकी जानकारी इंडियन जर्नल ऑफ़ प्रैक्टिकल पीडियाट्रिक्स में दी गई है।

शोध पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

इसे भी पढ़ें- 6 माह से बड़े बच्चों के लिए सूजी की खीर बनाने की रेसिपी, सेहत को मिलेंगे कई फायदे

3 - बच्चों और शिशु को घी देना कितना है फायदेमंद?

बता दें कि घी के अंदर भरपूर मात्रा में विटामिन ए,  फैटी एसिड, ऊर्जा, कोलेस्ट्रोल, कैलोरी, मोनो अनसैचुरेटेड फैटी एसिड, विटामिन डी आदि महत्वपूर्ण तत्व पाए जाते हैं जो बच्चों के विकास में बेहद काम आ सकते हैं। जानते हैं कैसे-

  1. हड्डियों को मजबूत बनाएं घी - घी के सेवन से बच्चों की हड्डियों के लिए जरूरी पोषक तत्व मिलते हैं। घी के अंदर विटामिन ए और विटामिन डी मौजूद होते हैं जो हड्डी से जुड़ी बीमारियों जैसे ओस्टियोपोरोसिस, हड्डियों के विकास का रोग आदि को दूर करने में फायदेमंद हैं। ऐसे में घी के सेवन से बच्चों की हड्डियां मजबूत होती है और उनका विकास भी प्रभावी ढंग से किया जा सकता है।
  2. इम्यूनिटी को बढ़ाएगी - बच्चों की इम्यूनिटी को बूस्ट करने में घी बेहद मददगार साबित हो सकता है। घी के सेवन से प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने में मदद मिल सकती है। ऐसे में बच्चों की डाइट में 1 टीस्पून की जोड़ना एक बेहतर विकल्प हो सकता है।
  3. ऊर्जा का प्रमुख स्रोत जी - जैसा कि हमने ऊपर भी बताया बच्चों में उर्जा के लिए घी उनकी डाइट में जोड़ना जरूरी है। ऐसे में हम कह सकते हैं कि घी एनर्जी बूस्टर का काम करता है।
  4. वजन को बढ़ाए घी - अगर आप अपने शिशु का वजन बढ़ाना चाहते हैं तो घी को उनकी डाइट में जोड़ना एक अच्छा विकल्प साबित हो सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि घी में फैट मौजूद होता है। ऐसे में घी को जोड़ने से वजन बढ़ाया जा सकता है वहीं ये ऊर्जा का भी स्रोत है। लेकिन इसकी अधिकता बच्चे का वजन ज्यादा मात्रा में भी बढ़ा सकता है।  
  5. बच्चों का स्टैमिना बढ़े - घी के उपयोग से बच्चों की सहनशक्ति यानी स्टैमिना और याददाश्त को बढ़ाया जा सकता है। हालांकि घी का सहनशीलता से क्या संबंध है इस पर और रिसर्च चल रही है। ऐसे में सहनशक्ति को बढ़ाने के लिए बच्चों की डाइट में घी को जोड़ने से पहले एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें।

घी देते वक्त बरतने वाली सावधानियां-

1 - बच्चों को सीमित मात्रा में घी दें।

2 - अगर घी के सेवन से बच्चों में एलर्जी दिखाई दे तो तुरंत उसका सेवन रोकें और डॉक्टर से संपर्क करें।

3 - बच्चे की डाइट में शुद्ध देशी घी को जोड़ें।

घी खिलाने का तरीका

शिशु की डाइट में घी हलवे, खिचड़ी, दलिया, रोटी, चावल आदि में मिला कर दिया जा सकता है। इसके अलावा घी के लड्डू से भी बच्चों के शरीर में घी पहुंचाया जा सकता है लेकिन लड्डू खिलाने से पहले ध्यान रहे कि लड्डुओं का सेवन सीमित मात्रा में कराएं क्योंकि लड्डू में शुगर भी मौजूद होता है।

इसे भी पढ़ें- शिशुओं को खजूर खिलाने से होते हैं ये 7 फायदे, जानें खिलाने का तरीका

शिशुओं और छोटे बच्चों को घी खिलाने के नुकसान

  • चूंकि घी के अंदर फैट मौजूद होता है ऐसे में इसके अधिक मात्रा से बच्चे का वजन अधिक बढ़ सकता है।
  • अधिक मात्रा में घी के सेवन से बच्चे को पेट की समस्या जैसे अपच आदि हो सकती है।
  • घी के अधिक सेवन से बच्चों के शरीर में विटामिन ए की मात्रा बढ़ जाती है, जिसके कारण उनके शरीर में लक्षणों के तौर पर सिर दर्द, जी मिचलाना, चक्कर आना आदि लक्षण दिखाई दे सकते हैं।

नोट - ऊपर बताए गए बिंदुओं से पता चलता है कि बच्चों की डाइट में घी जोड़ना उनकी विकास में मददगार साबित हो सकता है। लेकिन इसकी अधिकता बच्चों की सेहत पर नकारात्मक प्रभाव भी डाल सकती है ऐसे में सबसे पहले सीमित मात्रा की जानकारी लें उसके बाद उनकी डाइट में घी को जोड़ें।

इसके लिए हमने न्यूट्रिशनिस्ट और वैलनेस एक्सपर्ट वरुण कत्याल ( wellness expert and nutritionist varun katyal) से भी बात की है। 

Read More Articles on Parenting in hindi

Disclaimer