गैनोडर्मा के 11 फायदे और इस्तेमाल करने का तरीका

गैनोडर्मा के सेवन से दिल की बीमारी से लेकर कई अन्य समस्याओं को दूर किया जा सकता है। चलिए जानते हैं इसके बारे में विस्तार से

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraUpdated at: Sep 01, 2021 14:30 IST
गैनोडर्मा के 11 फायदे और इस्तेमाल करने का तरीका

गैनोडर्मा लकड़ी पर उगने वाला खुम्ब जाति का पौधा है। इसे कई जगहों पर रिशी नाम *(What is Ganoderma) से भी जाना जाता है। इसकी पैदावर उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में अधिक होती है। इसकी 80 से अधिक प्रजातियां होती हैं। इसका इस्तेमाल आयुर्वेदिक औषधी के रूप में किया जाता है। यह एक तरह से मशरूम की तरह होता है। इसका सेवन स्वास्थ्य के लिए काफी लाभकारी होता है। गाजियाबाद स्वर्ण जयंती के आयुर्वेदाचार्य डॉक्टर राहुल चतुर्वेदी बताते हैं कि गैनोडर्मा के सेवन से कई बीमारियों को दूर किया जा सकता है। यह हमारे शरीर के अंदर 3 तरह से कार्य करता है। पहला शरीर के किसी भी अंग में क्षति होने पर उसे ठीक करना, दूसरा शरीर की गंदगी को साफ करना, जिससे आपका शरीर लंबे समय तक स्वस्थ रहे और तीसरा शरीर की इम्यूनिटी को बूस्ट (Immunity Boost) करना। जिसकी वजह से हमारा शरीर लंबे समय तक स्वस्थ रहता है। ऐसे में अगर आप अपने शरीर को स्वस्थ रखना चाहते हैं, तो इसका इस्तेमाल जरूर करें।  चलिए विस्तार से जानते हैं गैनोडर्मा के फायदों (benefits of Ganoderma) के बारे में-

 Ganoderma_Immunity

गैनोडर्मा के फायदे (Health benefits of Ganoderma) 

1. दिमाग को करे तेज

मस्तिष्क से जुड़ी समस्याओं को दूर करने में गैनोडर्मा लाभकारी साबित होता है। साथ ही यह आपके दिमाग को तेज करने में असरदार होता है। क्योंकि इसमें ऐसे कई तरह के पोषक तत्व मौजूद होते हैं, जो आपके मस्तिष्क को पोषित करने में आपकी मदद करते हैं।

2. कैंसर से करे बचाव

गैनोडर्मा कैंसर रोगियों (cancer Patient) के लिए काफी लाभकारी होता है। इसमें मौजूद बीटा ग्लूकन और कंजुगेट लानोलिक एसिड प्रोस्टेट और ब्रेस्ट कैंसर से बचाव करता है। यह कैंसर रोगियों के लिए काफी प्रभावी साबित होता है। साथ ही यह कैंसर मरीजों के लिए भी लाभकारी होता है।

इसे भी पढ़ें- घाव, खुजली, जलन जैसी इन 5 समस्याओं को दूर करता है पित्तपापड़ा का पौधा, जानें इसके प्रयोग

 3. डायबिटीज रोगियों के लिए लाभकारी

गैनोडर्मा में मौजूद विटामिंस, मिनरल्स और फाइबर डायबिटीज रोगियों (Diabetes patient) के लिए फायदेमंद होता है। साथ ही इसमें फैट, शुगर और कार्बोहाइड्रेट की मात्रा बिल्कुल भी नहीं होती है, जो डायबिटीज रोगियों के लिए काफी अच्छा साबित होता है। साथ ही यह आपके शरीर में इंसुलिन बनाती है। जो डायबिटीज रोगियों के लिए फायदेमंद होता है।

Ganoderma_Diabetes

4. इम्यूनिटी को करे मजबूत

गैनोडर्मा में एंटीऑक्सीडेंट भरपूर रूप से मौजूद होता है, जो इम्यूनिटी बढ़ाने में कारगर साबित होता है। इसके सेवन से शरीर में विषाणुरोधी क्षमता बढ़ती है। साथ ही यह हमारे शरीर को भरपूर प्रोटीन प्रदान करता है। यह शरीर में कोशिकाओं के पुन: निर्माण में हमारी मदद करता है। साथ ही इसमें नैचुरल रूप से एंटीबायोटिक्स मौजूद होता हैं, जो फंगस और संक्रमण से बचाव में असरदार होता है। 

5. मोटापा करे कम

गैनोडर्मा में लीन प्रोटीन मौजूद होता है, जो वजन को घटाने में असरदार है। अधिकतर एक्सपर्ट वजन कम करने के दौरान प्रोटीन खाने की सलाह देते हैं। ऐसे में अगर आप गैनोडर्मा का सेवन करते हैं, तो आपके शरीर का वजन कम हो सकता है। 

इसे भी पढ़ें- जिंबू जड़ी-बूटी के 6 फायदे और इस्तेमाल करने का तरीका

6. पाचन तंत्र को करे मजबूत

गैनोडर्मा में विटामिन बी मौजूद होता है, जो खाने के ग्लूकोज के रूप में बदलकर शरीर में उर्जा पैदा करने में असरदार होता है। इसमें विटामिन बी-2 और बी-3 भरपूर रूप से होते हैं, जिसका सेवन करने से शरीर की पाचन क्रिया बेहतर होता है। साथ ही यह पाचन को मजबूत करने में असरदार होता है। 

7. शरीर की गंदगी को करे साफ

गैनोडर्मा के इस्तेमाल से शरीर की गंदगी को साफ किया जा सकता है। यह शरीर पर बैक्टीरिया और कवक की वजह से उत्पन्न होने वाली समस्याओं को दूर करने में लाभकारी माना जाता है। यह स्किन से संक्रमण और संवेदनशीलता को खत्म करने में आपकी मदद कर सकता है।

8. बालों की समस्याओं से राहत

गैनोडर्मा का इस्तेमाल बालों पर भी किया जाता है। इसके तेल से आप स्किन के चकत्तों, बालों के डैंड्रफ को कम कर सकते हैं। खासतौर पर अगर बालों में किसी तरह का फंगल इंफेक्शन हुआ है, तो इसके इस्तेमाल से आप अपनी समस्या को दूर कर सकते हैं। 

9. दांतों के लिए लाभकारी

ओरल हेल्थ से जुड़ी समस्याओं को दूर करने में भी गैनोडर्मा लाभकारी हो सकता है। इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी-ऑक्सीडेंट दांतों के इंफेक्शन को दूर करने में लाभकारी होते हैं। इसकी सबसे अच्छी बात यह है कि इससे किसी भी तरह का साइड-इफेक्ट होने का खतरा कम होता है। 

इसे भी पढ़ें- दूधी घास (छोटी दूधी) त्वचा, बालों और सेहत की इन 4 समस्याओं को करती है दूर, जानें फायदे और प्रयोग का तरीका

10. स्किन की समस्या को करे कम

गैनोडर्मा के इस्तेमाल से स्किन का फ्री-रेडिकल्स से बचाव होता है। इसके इस्तेमाल से चेहरे पर पिंपल्स, दाग-धब्बों जैसी समस्याओं को दूर किया जा सकता है। गैनोडर्मा में दो तरह के एंटी-ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं, तो स्किन की कई तरह की परेशानियों को दूर करने में लाभकारी होते हैं। इसके सेवन से आपकी स्किन पर चमक आती है। 

11.  दिल की बीमारी से करे बचाव

 गैनोडर्मा में भरपूर रूप से पोषक तत्व मौजूद होता है, जो हृदय रोगियों के लिए लाभकारी है। इसमें कुछ ऐसे एंजाइम मौजूद होते हैं, जो शरीर के कोलेस्ट्रॉल लेवल को कंट्रोल कर सकता है। यह दिल की बीमारी से निजात दिलाने में लाभकारी होता है। अगर आप दिल की बीमारी से जूझ रहे हैं, तो गैनोडर्मा का सेवन करें। इससे आपको काफी राहत मिल सकता है।  

कैसे ले सकते हैं गैनोडर्मा? (How to Use Ganoderma)

गैनोडर्मा का इस्तेमाल कई तरीकों से किया जा सकता है। जैसे- सूप, कॉफी, चाय, काढ़ा इत्यादि के रूप में गैनोडर्मा का सेवन किया जा सकता है। इसके अलावा मार्केट में गैनोडर्मा के कैप्सूल भी मौदूज होते हैं, जिसका सेवन किया जा सकता है। लेकिन ध्यान रखें कि बिना एक्सपर्ट की सलाह के इसका सेवन न करें।

गैनोडर्मा के नुकसान (Side Effect of Ganoderma)

वैसे तो गैनोडर्मा के सीधे तौर पर साइड-इफेक्ट नहीं होते हैं। क्योंकि यह एक दवा नहीं है। इसमें भरपूर रूप से एंटी-ऑक्सीडेंट होता है। इसलिए अधिकतर लोग इसका सेवन कर सकते हैं। हालांकि, अगर आप किसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं, तो इसका सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से राय जरूर लें।  

नोट - ध्यान रखें कि गैनोडर्मा स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद हो सकता है। लेकिन अगर आपको कोई गंभीर बीमारी है, तो इसका सेवन करने से पहले एक बार डॉक्टर से जरूर संपर्क करें।

Read More Articles on ayurveda in hindi

Disclaimer