स्तनपान (ब्रेस्टफीडिंग) कराने वाली महिलाओं को कौन से फल खाने चाहिए और कौन से नहीं? जानें एक्सपर्ट से

ब्रेस्टफीडिंग के दौरान आपको इन फलों का सेवन जरूर करना चाहिए। इससे मां और बच्चे दोनों को भरपूर पोषण मिलता है। 

Dipti Kumari
Written by: Dipti KumariPublished at: Apr 08, 2022Updated at: Apr 08, 2022
स्तनपान (ब्रेस्टफीडिंग) कराने वाली महिलाओं को कौन से फल खाने चाहिए और कौन से नहीं? जानें एक्सपर्ट से

मां का दूध छोटे बच्चे के लिए सबसे पौष्टिक आहार होता है। शिशुओं को पहले छह महीने तक केवल मां का दूध ही देना चाहिए। यह ऊर्जा और पोषक तत्वों का सबसे अच्छा स्रोत होता है। नई मां के लिए भी ब्रेस्टफीडिंग फायदेमंद है। इसलिए स्तनपान कराने वाली मां को अपने आहार में स्वस्थ खाद्य पदार्थों को शामिल करना चाहिए। स्वस्थ भोजन के सेवन से आप और आपका बच्चा दोनों स्वस्थ रहते हैं। साथ ही अगर डिलीवरी के बाद आपका वजन बढ़ गया है, तो सही खानपान की मदद से आप इसे कम कर सकती हैं। लेकिन कई बार ब्रेस्टफीडिंग कराने वाली मां के मन में ये सवाल उठता है कि क्या वे ये फल खा सकती है, कहीं इससे उन्हें या उनके बच्चे को नुकसान तो नहीं होगा। ऐसे में आपके लिए कुछ खास बातों का जान लेना जरूरी होता है और साथ ही आपको ब्रेस्टफीडिंग कराने के दौरान कौन-से फल खाने चाहिए और कौन-से नहीं। इस बारे में हमने विस्तार से बात की डाइट क्लीनिक और डॉक्टर हब क्लीनिक की डायटीशियन अर्चना बत्रा।  

ब्रेस्टफीडिंग कराने के दौरान इन फलों का करें सेवन 

1. हरा पपीता

हरे पपीता खाने में बेहद स्वादिष्ट लगता है। लोग सब्जी के रूप में इसका सेवन करते हैं। हरे पपीते को गैलेक्टागॉग माना जाता है। गैलेक्टागॉग ऐसे पदार्थ हैं जो स्तन दूध उत्पादन को बढ़ावा देते हैं। तो यह दूध पिलाने वाली मां के लिए फायदेमंद हो सकता है। हरा पपीता खाने से आपको हाइड्रेटेड रहने में मदद मिल सकती है, जो कि स्तनपान के दौरान जरूरी है। यह कब्ज को दूर कर पाचन तंत्र को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता है। इस फल को आप स्मूदी के रूप में भी अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। चाहे तो इसे सलाद के रूप में भी ले सकते हैं। 

breastfeeding-fruits

Image Credit- Freepik

 2. चीकू

चीकू में कैलोरी की मात्रा अधिक होती है, जो स्तनपान कराने वाली मां के लिए बेहद जरूरी होता है। चीकू खाने से आप स्तनपान के दौरान बर्न होने वाली कैलोरी वापस गेन की जा सकती है। साथ ही चीकू में फाइबर, विटामिन और कई खनिज पाए जाते हैं। इसमें एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण पाए जाते हैं। 

3. अंजीर

अंजीर स्वास्थ्य के लिए बेहद अच्छा माना जाता है। इसमें मैंगनीज, मैग्नीशियम, कॉपर, कैल्शियम, आयरन और पोटैशियम जैसे कई पोषक तत्व पाए जाते हैं। इसके अलावा अंजीर फाइबर, विटामिन के, और विटामिन बी 6 का भी एक बड़ा स्रोत हैं। यह मां और बच्चे दोनों के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। इसे आप भिगोकर, सलाद या ड्राई फ्रूट्स के रूप में भी खा सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें- क्या ब्रेस्टफीडिंग कराने वाली मांओं को चाय-कॉफी पीना चाहिए? जानें इस दौरान कैफीन के फायदे-नुकसान

4. केले

केला शरीर को पोषण प्रदान करने के लिए सर्वोत्तम आहार में से एक माना जाता है। केले में फाइबर भरपूर मात्रा में फाइबर पाया जाता है, जिससे कब्ज को ठीक करने में मदद मिलती है। इसके अलावा केले में पोटैशियम पाया जाता है, जो शरीर के लिए बेहद उपयोगी होता है। शरीर में तरल पदार्थ और इलेक्ट्रोलाइट संतुलन को बनाए रखने के लिए स्तनपान कराने के दौरान आपको इसकी अधिक आवश्यकता होगी।

breastfeeding-fruits

Image Credit- Freepik

5. प्रून

प्रून में उच्च फाइबर होता है, जो स्तनपान के दौरान कब्ज के कारण होने वाली परेशानियों को रोकने या उनके लक्षण कम करने में मददगार साबित हो सकता है। यह मल त्याग में भी मदद करता है और पुराने कब्ज की समस्या को भी ठीक करता है। इसे आप बवासीर की समस्या में भी खा सकते हैं। 

किन फलों का सेवन नहीं करना चाहिए

स्तनपान के दौरान आपको किसी भी फल से परहेज करने की आवश्यकता नहीं है। फल एक स्तनपान कराने वाली मां और उसके बच्चे के लिए आवश्यक पोषक तत्वों का एक समृद्ध स्रोत हैं। इसलिए बिना किसी डर के आप स्तनपान कराने के दौरान अपने आहार में विभिन्न प्रकार के फलों को शामिल कर सकते हैं। हालाँकि यदि किसी विशेष फल की वजह से आपको या बच्चे को परेशानी हो रही है, पेट में दिक्कत, जलन या कब्ज की समस्या हो रही है। इसके अलावा किसी प्रकार की एलर्जी जैसे चकत्ते, सूजन और उल्टी होने पर आपको तुरंत उस फल का सेवन बंद कर देना चाहिए। इसके अलावा किसी भी तरह की कोई परेशानी होने पर डॉक्टर से संपर्क जरूर करें। 

Main Image Credit- Freepik

Disclaimer