व्रत का खाना

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Mar 21, 2012

vrat ka khanaव्रत की परंपरा सालों से चली आ रही है। व्रत के दौरान खान-पान का भी खास ख्याल रखा जाता है। हर व्रत की अलग-अलग महत्ता होती है, इसीलिए हर व्रत की थाली का खाना भी अलग ही होता है। नवरात्र में व्रत का भोजन लोग अपने हिसाब से अलग-अलग लेते हैं। कुछ लोग नमक रहित फलाहार लेना पसंद करते हैं तो कुछ लोग निर्जल व्रत करते हैं या फिर फलाहार का व्रत करते हैं। बहरहाल, आइए जानें, व्रत का खाना कैसा होना चाहिए।

 

  • बहुत से ऐसे लोग होते हैं जो व्रत ये सोचकर करते हैं कि इस बहाने वे डायटिंग कर लेंगे या फिर अपना वजन कम कर लेंगे। लेकिन ये सिर्फ उनका भ्रम है। व्रत के दिनों में वजन घटने के बजाय बढ़ ही जाता है।
  • दरअसल आधुनिक जीवनशैली और भागदौड़ के कारण लोग व्रत का खाना भी बाहर से ले लेते हैं। ऐसे में बाजार में उपलब्ध व्रत के ढेर सारे व्यंजन और व्रत की तमाम चीजें, जो घी व तेल से भरपूर होती हैं वो हाई कैलोरी वाली होती हैं और वजन बढ़ाती है।
  • व्रत का खाना अपनी दिनचर्या को ध्यान में रखते हुए लेना चाहिए और आपके उपवास का लक्ष्य डाइटिंग या धार्मिक आस्था के कारण हो सकता है।
  • व्रत का खाना तैयार करते समय ध्या‍न रखें कि कैलोरी इनटेक कम व न्यूट्रीशन वैल्यू ज्यादा हो।
  • जितना हो सके दही, पनीर और फलों का सेवन करें।
  • व्रत के खाने को तैयार करते समय आप कुट्टू की पूरी की जगह कुट्टू की रोटी लें।
  • पनीर कोफ्ता की बजाय ग्रिल्ड पनीर का सेवन करें।
  • आलू पकौड़े या आलू चिप्स के बजाय उबले हुए आलू का सेवन करना बेहतर रहेगा।
  • साबूदाना खाने के बजाय रोस्टेड मखाने लेने चाहिए।
  • व्रत के खाने में शक्कर, गुड़, शहद, गन्ने का रस, मिठाई, आम, चीकू, अंगूर, केला, मक्खन, तला-भुना, पूरी, परांठा, पकौड़े, सूखे मेवे, सूखे फल, चावल, अरबी, फुलक्रीम दूध इत्यादि चीजों को शामिल नहीं करेंगे तो बेहतर होगा।
  • पानी व तरल पदार्थ जैसे शिकंजी,लस्सी,शहद इत्यादि लें, इससे डिटॉक्सिफिकेशन में मदद मिलेगी।
  • व्रत में जहां तक संभव हो फ्राइड खाने से बचें। इसके बजाय पर उबले हुए खाने को खाएं।
  • व्रत में अक्सर कार्बोहाइड्रेट और फैट वाली चीजें ही खाई जाती हैं जबकि प्रोटीन युक्त पदार्थ शरीर को नहीं मिल पाते। ऐसे में आप संतुलित आहार लेने के लिए दिन में एकबार सामग के चावल की खीर या फिर ठंडा दूध पी सकते हैं।
  • आलू को उबालकर उसमें दही और सेंधा नमक डालकर भी खा सकते हैं।
  • कुट्टू के आटे में आलू की बजाय मूली या लौकी मिलाकर खाना अच्छा रहता है।
  • पूरा दिन भूखे न रहें। बीच-बीच में कोई फल भी खाते रहें जिससे शरीर को फाइबर तत्व भी मिल जाए।
  • पकौड़े और नमकीन की जगह मखाना खाएं या फिर लो फैट मिल्क से बना दही खा सकते हैं।
  • जो लोग डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर या कार्डिएक के रोग से ग्रसित लोगों का पूरे नौ दिन के उपवास से बचना चाहिए और साथ ही सिंघाड़े का आटा,शकरकंद, आलू, अरबी, चीकू व केले से दूर रहना उनके लिए फायदेमंद है।
  • अगर आप अपने व्रत के खाने में संतुलित भोजन को शामिल करना चाहते हैं तो आप पूरा दिन भूखा रहकर रात में हैवी खाना न खाएं। बल्कि पूरे दिन में फल, जूस,सूप इत्यादि का सेवन करते रहें। 
Loading...
Is it Helpful Article?YES12 Votes 15816 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
I have read the Privacy Policy and the Terms and Conditions. I provide my consent for my data to be processed for the purposes as described and receive communications for service related information.
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK