मानसून के दौरान पेट की समस्याओं से हैं परेशान? आयुर्वेद के इन तरीकों से पाएं जल्द राहत

अगर आप भी मानसून के इस मौसम में पेट से संबंधित समस्याओं से परेशान हैं तो आज से ही आयुर्वेद के इन आसान तरीकों को अपनाएं, जल्द मिलेगी राहत।

Vishal Singh
आयुर्वेदWritten by: Vishal SinghPublished at: Jul 21, 2020
मानसून के दौरान पेट की समस्याओं से हैं परेशान? आयुर्वेद के इन तरीकों से पाएं जल्द राहत

ज्यादातर भारत के सभी हिस्सों में मानसून पहुंच चुका है, ऐसे में लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है जिसमें कई स्वास्थ्य समस्याएं भी है और विश्वभर में चल रही महामारी कोरोना वायरस का खतरा भी। स्वास्थ्य समस्याएं तो कई है जो मानसून के दौरान लोगों को तंग करने का काम करती है, ऐसी ही पेट से संबंधित पाचन क्रिया है जिसके कारण लोग काफी परेशान रहते हैं। मानसून के इस मौसम में पाचन संबंधी कई समस्याएं पैदा हो जाती हैं। लेकिन आपके मन में सवाल आता होगा कि मानसून और पाचन संबंधी समस्याओं में क्या संबंध है। 

मानसून के दौरान आपका पाचन तंत्र पूरी तरह से सुस्त हो जाता है। अगर आपके पाचन वाले हिस्से जैसे पेट, अग्न्याशय और छोटी आंत सही से काम नहीं कर रहे हैं, तो गैस, अम्लता, सूजन और पेट खराब जैसी समस्याएं पैदा होती हैं जो आपके लिए एक गंभीर समस्या बन जाती है। इससे छुटकारा पाने के लिए आप आयुर्वेद का सहारा ले सकते हैं जो मानसून के दौरान आपकी पाचन क्रिया को बेहतर और मजबूत बनाने का काम करेगा। 

ayurvedic tips

घी (Ghee)

गाय का शुद्ध देसी घी आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होता है, ये आपकी पाचन क्रिया को भी मजबूत करने का काम करेगा। आपको बता दें कि घी में ब्यूटायरेट एसिड होता है जो पूरी तरह से सूजन-रोधी होता है। घी आपके पाचन रस को उत्तेजित करता है और आपके शरीर को पोषक तत्वों को अवशोषित करने में मदद करता है। इसके अलावा ये आंतों की सूजन को कम करने में काफी प्रभावी है। 

इसे भी पढ़ें: अपच की समस्या से निजात दिलाएंगे से खास घरेलू नुस्खे

अदरक (Ginger)

ये तो आप सभी जानते होंगे कि अदरक कई गंभीर बीमारियों को खत्म करने का काम करता है। ये आपके पेट को स्वस्थ रखने के लिए भी बहुत असरदार होता है। मानसून के दौरान लोग अक्सर चाय में अदरक डालकर पीना पसंद करते हैं, ये कई संक्रमण और फ्लू को दूर करने का काम करता है। अदरक लार, पित्त और गैस्ट्रिक रस के स्राव को बढ़ाता है और गैस्ट्रिक सूजन से भी लड़ सकता है। आप खाना खाने के बाद कच्चे अदरक के रस को चूस सकते हैं। आयुर्वेद में अदरक को पेट को स्वस्थ रखने के लिए और गैस की समस्या को दूर करने का सबसे अच्छा तरीकों में से एक माना जाता है। 

हेल्दी डाइट लें (Take A Healthy Diet)

मानसून के दौरान आपकी डाइट कैसे रहती है इसका आपके स्वास्थ्य और पेट पर खास असर पड़ता है। आपको मानसून के दौरान हेल्दी डाइट लेने की जरूरत होती है, जिससे की आप किसी भी पेट संबंधित समस्या का सामना न करें। इसके लिए आप ताजे और अच्छी तरह पके हुए भोजन जैसे चावल, जौ, गेहूं, दाल या हरे चने जैसे खाद्य पदार्थों ही लें। कच्ची सब्जियां आपको संक्रमण का शिकार बना सकती है साथ ही पेट संबंधित कई समस्याओं को पैदा कर सकती है। 

इसे भी पढ़ें: पेट दर्द की समस्या से हैं परेशान? इन घरेलू नुस्खों को अपनाकर दर्द से पाएं छुटकारा

जीवनशैली को बनाएं हेल्दी (Make lifestyle Healthy)

जिन लोगों को अक्सर पेट से संबंधित समस्याएं होती है उन लोगों को मानसून के दौरान अपनी जीवनशैली में कुछ बदलाव करने की जरूरत होती है। आप खुद को गर्म रखने की कोशिश करें, अगर आप कुछ ठंडा खाते हैं तो इससे आपके शरीर में बैक्टीरिया या वायरल हमलें हो सकते हैं। आयुर्वेद आपको रोजाना लेने वाले छोटे स्नेक्स को छोड़ने का सुझाव देता है, ये आपके पाचन और चयापचय दोनों को धीमा करने का काम करता है। 

मानसून के दौरान अपने आपको स्वस्थ रखने के लिए जरूरी है कि आप अपने पेट का पूरा ख्याल रखें और संक्रमण और फ्लू से अपना बचाव करें। बताएं गए आयुर्वेद के तरीकों को अपनाकर आप अपने पेट की समस्याओं से निजात पा सकते हैं। 

Read More Article On Ayurveda in Hindi 

Disclaimer