प्रेग्नेंसी के पहले महीने में हो सकती है ये समस्याएं, जानें बचाव के लिए कौन सी सावधानियां हैं जरूरी

 

गर्भवस्था के पहले महीने आपको बेहद सावधानी बरतने की जरूरत होती है। इस दौरान आपको कम झुकना और भारी सामान बिल्कुल नहीं उठाना चाहिए।

सम्‍पादकीय विभाग
महिला स्‍वास्थ्‍यWritten by: सम्‍पादकीय विभागPublished at: Nov 29, 2021Updated at: Nov 30, 2021
प्रेग्नेंसी के पहले महीने में हो सकती है ये समस्याएं, जानें बचाव के लिए कौन सी सावधानियां हैं जरूरी

प्रेग्नेंसी का पहला महीना गर्भवती महिलाओं के लिए बेहद मुश्किल समय होता है। उनके शरीर में बहुत सारे हार्मोनल और व्यवहारिक बदलाव आते हैं। हालांकि बहुत बार गर्भावस्था के पहले महीने में महिलाओं को प्रेग्नेंसी का पता भी नहीं चल पाता है। ऐसे समय में महिलाओं के पीरियड्स नहीं आते हैं। इसके अलावा स्तन का आकार बढ़ना, मूड बार-बार बदलना, अत्यधिक थकान महसूस करना, बार-बार पेशाब लगना, एसिड रिफ्लक्स के वजह से सीने में जलन, सूंघने की क्षमता में वृद्धि आदि ऐसे ही कुछ लक्षण है। इन बदलावों के कारण गर्भावस्था में महिलाओं को काफी परेशानी होती है। 

गर्भावस्था के पहले महीने आने वाली परेशानियां ( Pregnancy Problems in First Month)

1. थकान (Fatigue)

गर्भावस्था के पहले महीने थकान इसलिए महसूस होती है क्योंकि शरीर में प्रोजेस्टरोन हार्मोन बनता है, जिससे गर्भवती महिलाओं का शरीर जल्दी थका हुआ महसूस करने लगता है।

First-month-pregnancy

Image Credit - Freepik

2. स्तन के आकार में वृद्धि (Increase in Size of Breast)

प्रोजेस्टेरोन और एस्ट्रोजन जैसे हार्मोन बढ़ते हैं इसलिए गर्भवती महिलाओं के स्तन का आकार बढ़ा हुआ महसूस होता है। कभी-कभी स्तनों में दर्द का अनुभव भी होता है।

3. पेट दर्द व ऐंठन (Cramping and Belly Pains)

गर्भावस्था में महिलाओं को पेट में हल्का दर्द और ऐंठन की समस्या होती है। इसके अलावा कब्ज और गैस की परेशानी भी होती है। हमेशा आप अपने अंदर भारीपन का अनुभव करती हैं। 

4. हर समय पेशाब लगना (Peeing all the Time in Pregnancy)

प्रेग्नेंसी में बार-बार वॉशरूम जाने की जरूरत भी पड़ती है। यह समस्या शुरुआत से लेकर बच्चे के जन्म तक बनी रहती है। प्रेग्नेंसी के दौरान यूट्रस बड़ा होने लगता है, जिसकी वजह से ब्लैडर पर दबाव बढ़ने लगता है और इस दौरान महिलाओं को बार-बार पेशाब आने की परेशानी होती है।

इसे भी पढ़ें- प्रेगनेंसी में होता है पेट दर्द तो हल्के में न लें ये 7 लक्षण, हो सकती है गंभीर बीमारी

5. वजन बढ़ना (Gaining Weight)

प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं का वजन भी बढ़ जाता है। क्योंकि उनके खानपान का खुराक बढ़ जाती है। साथ ही बच्चे के विकास के कारण भी उनका वजन बढ़ने लगता है। इसका अनुभव आप पहले महीने से ही कर सकते हैं। 

6. जी मिचलना या उल्टियां होना (Nausea in Pregnancy)

बहुत सी महिलाओं को प्रेग्नेंसी के दौरान उल्टी आती है। हमेशा उन्हें ऐसा लगता है कि उन्हें उल्टी होने वाली है । ये गर्भावस्था के दौरान होने वाली आम समस्याएं है। कई बार आपको दिनभर जी मिचलाने की शिकायत बनी रहती है।

गर्भावस्था के दौरान कैसे बरतें सावधानियां (Precautions During Pregnancyin First Month)

1. गर्भावस्था के दौरान अच्छा खानपान रखें और हल्का व्यायाम करने की कोशिश भी करें। हालांकि ऐसा भी हो सकता है कि प्रेग्नेंसी के दौरान आप मॉर्निंग सिकनेस महसूस कर सकते हैं। इसके लिए आप शाम के समय में योग या व्यायाम कर सकती हैं।

2. यदि आप किसी भी तरह के नशीले पदार्थ का सेवन करती हैं तो, सावधान हो जाएं । ये चीजें आपको और आपके बच्चे को नुकसान पहुंचा सकती है। इसलिए शराब और ध्रूमपान की लत को त्याग दें और स्वास्थ्य दिनचर्या अपनाएं।

First-month-pregnancy

Image Credit - Freepik

3. प्रेग्नेंसी के दौरान आपके शरीर और बच्चे के विकास के लिए बहुत से विटामिन और प्रोटीन की जरूरत होती है। ऐसे में अपने डॉक्टर की सलाह पर आयरन, कैल्शियम और फॉलिक एसिड जैसे सप्लीमेंट जरूर लें ।

4. बच्चे का जन्म खुशियों के साथ कई परेशानियां भी लेकर आता है। ऐसे में आपको अपने तनाव को कम करने की जरूरत है। खुश रहने की कोशिश करें और अपने सेहत का ध्यान रखने के लिए अच्छी किताबें भी पढ़ सकती हैं। इसके अलावा अपना मूड सही करने के लिए आप संगीत भी सुन सकती है या अपना पसंदीदा काम भी कर सकती है।

5. प्रेग्नेंसी का पहला महीना बेहद नाजुक होता है क्योंकि उस अवस्था में भ्रूण अस्थिर होता है। इसलिए लगातार एक ही स्थिति में बैठने पर, खड़े रहने पर या लंबी यात्रा करने पर परेशानी हो सकती है। 

6. प्रेग्नेंसी के पहले तीन महीने के दौरान झुकने या भारी चीजें उठाने से ज्यादा बचने की जरूरत है। घर के कामकाज के दौरान भी इस बात का ध्यान रखें। 

7. प्रेग्नेंसी के दौरान ज्यादा गर्म पानी से नहाने से बचें और हो सके तो गर्भावस्था के दौरान गुनगुना पानी ही पिएं। ये आपके और बच्चे के लिए अच्छा रहेगा।

8. गर्भावस्था के दौरान सी फूड,अनानास, पपीता, सहजन की पत्तियां, कच्चे अंडे, सब्जियां और एलोवेरा जैसी चीजें नहीं खानी चाहिए।

इसे भी पढ़े-  प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं को क्यों होती है अक्सर सिरदर्द की समस्या? डॉक्टर से जानें बचाव के उपाय

डॉक्टर के पास जाने की जरूरत कब है (When to See Doctor)

प्रेग्नेंसी के पहले महीने सभी गर्भवती  महिलाओं को एक जैसी समस्याएं होती हैं। जैसे- नर्वस होना, थकान, उल्टी और कब्ज आदि समस्याएं। लेकिन अगर आपको इससे अलग कुछ समस्याएं हो रही है और परेशानी बढ़ रही है तो, आपको तुरंत डॉक्टर से संपर्क करने की जरूरत है। ऐसे कुछ लक्षण है-

1. पेट में गंभीर दर्द और ऐंठन

2. यूरिन में इंफेक्शन

3. पेशाब के दोरान खून बहना

4. बुखार और सिर दर्द

5. बहुत ज्यादा चक्कर आना 

6. गंभीर मतली या उल्टी आना 

 गर्भावस्था के पहले महीने के दौरान डॉक्टर कुछ जांच जरूर करता है , जिससे आपकी स्थिति और स्वास्थ्य का पता चल सके। इसमें सबसे पहले एच.सी.जी हार्मोन की उपस्थिति के लिए जांच की जाती है। इसके लिए आपके यूरिन सैंपल लिए जाते हैं। गर्भावस्था में जोखिम का पता लगाने के लिए डॉक्टर पहले सीरम प्रोजेस्टेरोन की जांच भी करता है। साथ ही गर्भावस्था में समस्या उत्पन्न करने वाले कारणों की जांच के लिए पैप स्मीयर जांच की जाती है । रेगुलर हेल्थ चैकअप भी कराते रहना बेहद जरूरी है।

Disclaimer