गाल-दाढ़ी में फंगल इंफेक्शन जैसे लक्षण हो सकते हैं टीनिया बार्बी रोग का संकेत, जानें इसके लिए घरेलू नुस्खे

दाढ़ी या गले में होने वाले दाद या फंगल इंफेक्शन यानी टीनिया बार्बी (Tinea Barbae)  को आप कुछ आसान घरेलू नुस्खों से ठीक कर सकते हैं।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Jan 22, 2020
गाल-दाढ़ी में फंगल इंफेक्शन जैसे लक्षण हो सकते हैं टीनिया बार्बी रोग का संकेत, जानें इसके लिए घरेलू नुस्खे

कई बार आपके चेहरे पर फंगल इंफेक्शन के कारण दाद जैसे दाने और चकत्ते नजर आने लगते हैं। ऐसा फंगल इंफेक्शन जब दाढ़ी वाले हिस्से में या गर्दन में होता है, तो इसे टीनिया बार्बी (Tinea Barbae) कहते हैं। ये एक तरह का दाद ही है, जो खासकर पुरुषों के दाढ़ी में होता है। टीनिया बार्बी को ही कई लोग Barber’s tch कहते हैं। इसका कारण यह है कि इस तरह के इंफेक्शन का खतरा ऐसे लोगों को ज्यादा होता है, जो नाई की दुकान पर जाकर दाढ़ी बनवाते हैं। ऐसा इसलिए होता है कि दुकानों और सैलून में एक ही रेजर, टॉवेल, कपड़ों आदि का इस्तेमाल कई लोगों के चेहरे पर किया जाता है।

टीनिया बार्बी कोई गंभीर समस्या नहीं है। यह त्वचा का एक सामान्य इंफेक्शन है। इसलिए इसे कुछ आसान घरेलू नुस्खों से ठीक किया जा सकता है। मगर इसे लंबे समय तक नजरअंदाज करना आपके लिए खतरनाक हो सकता है। इसलिए हम आपको बता रहे हैं चेहरे के दाग, खाज, खुजली और फंगल इंफेक्शन को दूर करने के लिए कुछ आसान घरेलू नुस्खे।

एप्पल साइड विनेगर

एप्पल साइडर विनेगर (सेब के सिरके) में बहुत पावरफुल एंटीफंगल गुण होते हैं, इसलिए दाग के फंगी (Fungi) को ये आसानी से खत्म कर देते हैं। इसके इस्तेमाल के लिए आधा सिरका और आधा पानी लें। इस घोल को रूई की मदद से इंफेक्शन वाली जगह पर लगाएं। 30 मिनट तक इसे लगा हुआ छोड़ दें और फिर सादे पानी से चेहरा धो लें। ऐसा दिन में 2 बार करें। इसके अलावा दिन में 2 बार 1 ग्लास गुनगुने पानी में 2 चम्मच एप्पल साइडर विनेगर डालकर पिएं। ये दोनों ट्रीटमेंट करने से आपको इंफेक्शन से बहुत जल्दी छुटकारा मिल जाएगा।

इसे भी पढ़ें: सर्दी में होने वाले फंगल इंफेक्शन और खुजली से राहत दिलाते हैं ये आयुर्वेदिक नुस्खे

लहसुन का प्रयोग

लहसुन में एंटीबायोटिक और एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं। इसलिए ये भी फंगी और बैक्टीरिया को मारने में सक्षम होता है। लहसुन को पीस लें और इसमें थोड़ा सा ऑलिव ऑयल मिलाकर इसका पेस्ट जैसा बना लें। अब इस पेस्ट को दाद या इंफेक्शन वाली जगह पर लगाकर छोड़ दें। ये पेस्ट आपके त्वचा पर दाद पैदा करने वाले बैक्टीरिया और फंगी को मार देगा। इसके साथ ही अगर आपको किसी भी तरह की त्वचा समस्या हो, तो अपने खाने में अदरक और लहसुन का प्रयोग बढ़ा दें।

योगर्ट भी है फायदेमंद

योगर्ट में करोड़ों गुड माइक्रोऑर्गेनिज्म्स (Good Microorganisms) होते हैं, जो हानिकारक माइक्रोऑर्गेनिज्म को खत्म करते हैं। इसलिए ऐसे फंगल इंफेक्शन पर योगर्ट लगाने से भी आपको लाभ मिलता है। इसके अलावा आप योगर्ट को अपनी डाइट में भी शामिल कर सकते हैं। इससे इम्यूनिटी बढ़ती है और त्वचा से ये इंफेक्शन जल्दी दूर होता है।

इसे भी पढ़ें: सर्दियों में बढ़ जाता है शीतपित्त का खतरा, जानें इसके कारण, लक्षण और उपचार

ग्रीन टी बैग

ग्रीन टी में भी एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं, इसलिए ये भी त्वचा के इंफेक्शन से लड़ने में आपकी मदद कर सकती है। दरअसल त्वचा पर इस तरह के इंफेक्शन का कारण कुछ हानिकारक बैक्टीरिया या फंगी होते हैं, जिन्हें हटाना जरूरी है। टीनिया बार्बी की समस्या होने पर अपनी त्वचा पर ताजा इस्तेमाल किया हुए टी बैग को लेकर पत्तियों के रस को इंफेक्शन वाली जगह पर लगाएं। इससे त्वचा के बैक्टीरिया खत्म हो जाएंगे। दिन में 3-4 बार ऐसा करने से कुछ दिनों में ही आपका चेहरा बिल्कुल साफ हो जाएगा।

Read more articles on Home Remedies in Hindi

Disclaimer