असंतुलित हार्मोन्स का कारण हो सकती हैं आपकी लाइफस्टाइल की गलतियां, बदलें अपनी 5 आदतें बैलेंस होंगे हार्मोन्स

खानपान में बदलाव के साथ एक स्‍वस्‍थ जीवन शैली के जरिए हार्मोन्‍स को बैलेंस किया जा सकता है।

Sheetal Bisht
Written by: Sheetal BishtPublished at: Apr 02, 2020
असंतुलित हार्मोन्स का कारण हो सकती हैं आपकी लाइफस्टाइल की गलतियां, बदलें अपनी 5 आदतें बैलेंस होंगे हार्मोन्स

हार्मोन्‍स का बैलेंस रहना आपके शरीर को स्‍वस्‍थ रखने के लिए बेहद जरूरी है क्‍योंकि यह आपको शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक स्वास्थ्य सहित कई तरह से प्रभावित करते हैं। ऐसा माना जाता है कि हार्मोन्‍स के असंतुलन से वजन, मूड, भूख और कई स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी चीजें प्रभावित होती हैं। लेकिन हार्मोन्‍स को संतुलन में रखने के लिए कई प्राकृतिक तरीके हैं, जिनसे आप हार्मोन्‍स को संतुलित कर सकते हैं। आजकल खराब खानपान और जीवन शैली सहित कई कारक हार्मोन के असंतुलन को पैदा कर सकते हैं। इसलिए एक स्‍वस्‍थ खानपान और जीवनशैली में कुछ बदलावों से आप हार्मोन के स्वस्थ स्तर को बनाए रख सकते हैं। 

हार्मोन्‍स को प्राकृतिक रूप से संतुलित करने के तरीके

1. एक अचछी नींद लें 

Better Sleep

अच्‍छी नींद न केवल आपके शरीर को स्‍वस्‍थ बनाए रखने के लिए जरूरी है, बल्कि यह एक स्‍वस्‍थ वजन और स्‍वस्‍थ हार्मोन्‍स के स्‍तर को भी बनाए रखती है। नींद आपके शरीर के अंदर कई महत्वपूर्ण हार्मोन्‍स को प्रभावित कर सकती है जिसमें हंगर हार्मोन भी शामिल है। इसलिए जो लोग कम सोते हैं, वह दिन भर में अधिक कैलोरी का उपभोग करते हैं। इतना ही नहीं एक बेहतर नींद न लेने से डायबिटीज और स्‍ट्रोक जैसी दिल की बीमारियों का खतरा भी बढ़ता है। 

इसे भी पढ़ें: बासी चावल खाने के भी हैं सेहत के लिए कई फायदे, फेंके नहीं बनाएं चावल के कोफ्ते

2. पर्याप्त प्रोटीन खाएं 

आपके शरीर को स्‍वस्‍थ रखने और हार्मोन्‍स के बैलेंस के लिए र्प्‍याप्‍त मात्रा में प्रोटीन का सेवन भी जरूरी है। क्‍योंकि प्रोटीन मांशपेशियों के निर्माण के लिए जरूरी है और यह मांसपेशियों की मरम्‍मत में भी मदद करता है। प्रोटीन का सेवन भूख को नियंत्रित करने वाले हार्मोन (हंगर हार्मोन) को भी प्रभावित करता है। यही वजह है कि वजन घटाने के लिए वेट लॉस डाइट में भी आपको प्रोटीन के सेवन की सलाह दी जाती है। क्‍योंकि प्रोटीन खाने से आप अधिक समय तक भरा महसूस करते हैं। 

Hormones Balancing Foods

3. तनाव कम लें 

तनाव आपकी सेहत का सबसे बड़ा दुश्‍मन है। यह आपके वजन बढ़ने, मूड स्विंग, भूख और दिल की बीमारियों समेत कई स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याएं पैदा करता है। वैसे आजकल तनाव एक आम समस्या है, लेकिन आप कोशिश करें कि तनाव को बढ़ने न दें। क्‍योंकि तनाव से आपके हार्मोन भी प्रभावित हो सकते हैं। तनाव एड्रेनालाईन और कोर्टिसोल के स्तर को बढ़ा सकता है, जो मूड स्विंग, भूख में वृद्धि और यहां तक कि हृदय रोगों का कारण बन सकता है। इसलिए आप तनाव को दूर करने के तरीके अपनाएं ध्‍यान करें,  व्यायाम करें और खुद को शांत व खुश रखने की कोशिश करें। 

इसे भी पढ़ें: आपकी इम्‍युनिटी को बढ़ाएंगे घर पर बने ये 5 फल और सब्जियों के जूस

4. नियमित एक्‍सरसाइज या ध्यान करें

नियमित रूप से यदि आप एक्‍सरसाइज करते हैं, तो यह आपके पूरे शरीर को स्‍वस्‍थ और तंदुरूस्‍त रखने में मदद कर सकता है। एक्‍सरसाइज से न केवल आप फिट रहेंगे, बल्कि यह आपके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य दोनों के लिए फायदेमंद है। रोजाना एक्‍सरसाइज या ध्‍यान करने से हार्मोन्‍स को बैलेंस में रखा जा सकता है। 

Exercise For Hormones Balance

5. अच्‍छा खाएं स्‍वस्‍थ रहें 

हार्मोन्‍स को संतुलित करने के लिए स्वस्थ खानपान के सेवन की सलाह दी जाती है। अच्‍छा या स्‍वस्‍थ खानपान आपको लंबे समय तक स्‍वस्‍थ जीवन जीने में मदद कर सकता है। इसलिए हार्मोन्‍स को संतुलित रखने के लिए आप अपनी डाइट में अलसी के बीज, ब्राजील नट्स, ब्रोकोली, सैल्‍मन, पत्तेदार साग, नट्स, सोया, हल्दी और कामू कामू फल का सेवन कर सकते हैं। 

Read More Article Other Diseases In Hindi

Disclaimer