दांतों में जमा पीले-काले धब्बे (Plaque and Tartar) को साफ कर कैसे पाएं चमकते दांत? डेंटिस्ट से जानें आसान उपाय

दांतों में होने वाले काले-पीले धब्बों के कारण अगर आपको भी लोगों के बीच शर्मिंदा होना पड़ता है, तो डेंटिस्ट से जानें इसे हटाने के आसान घरेलू नुस्खे।

Naina Chauhan
Written by: Naina ChauhanPublished at: Nov 26, 2020
दांतों में जमा पीले-काले धब्बे (Plaque and Tartar) को साफ कर कैसे पाएं चमकते दांत? डेंटिस्ट से जानें आसान उपाय

दांतों की सफाई तो हम सभी रोज करते हैं। लेकिन इसके बाद भी कुछ लोगों के दांतों पर हमेशा पीले-काले धब्बे नजर आते हैं। दांतों पर दिखने वाले ये गंदे धब्बे आपको कई बार लोगों के बीच शर्मिंदा कर सकते हैं। आमतौर पर जो लोग पान, गुटखा, मसाला आदि खाते हैं, उनके दांतों में काले धब्बे होते हैं, जबकि अन्य लोगों के दांतों में पीले धब्बे दिखाई देते हैं। मेडिकल भाषा में पीले धब्बों को प्लाक (Plaque) कहते हैं और काले धब्बों को टार्टर (Tartar) कहते हैं। प्लाक दांतों में एक पतली परत है जो दांतों में पीले रंग को दिखती है, प्लाक के जमाव और संचय से जब ये परत सख्त हो जाती है तो यह टार्टर कहलाती है। धूम्रपान करने वाले और तंबाकू उपभोक्ताओं में आमतौर पर टार्टर की समस्या  देखने को मिलती , जिसकी वदह से उनके दांतों पर काली परत आ जाती हैं जो उनके दांतों को अस्वस्थ रूप देती है। आज इस लेख में हम नोएडा के किरण डेंटल क्लीनिक के डेंटिस्ट डॉ. विकास से समझेंगे कि दांतों में पीले या काले धब्बे किन कारणों से होते हैं और इसे हटाने के लिए आसान घरेलू नुस्खे क्या हैं।

 insideoralhealth

क्या होता है प्लाक और टार्टर? (What is Plaque and Tartar)

प्लाक के कारण दांतों पर पीले धब्बे दिखाई देते हैं। ये प्लाक दरअसल एक चिपचिपा पदार्थ है, जो आपके दांतों पर जमा हो जाता है। यह तो आप सभी जानते हैं कि मुंह के लार में बैक्टीरिया मौजूद होते हैं। आप जब खाने को चबाते हैं तो खाने के साथ लार मिक्स होता है और ये बैक्टीरिया यहीं से पाचन का काम शुरू कर देते हैं। लेकिन भोजन के साथ लार और फ्लुइड के मिलने से प्लाक बनता है, जो आपके दांतों के बीच जमा हो जाता है। अगर कोई व्यक्ति रेगुलर ब्रश करता है और सही तरीके से अपने दांतों की सफाई करता है, तो रोज जो प्लाक दांतों की सतह पर इकट्ठा होता है, वो निकल जाता है। लेकिन कोई व्यक्ति अगर रेगुलर ब्रश नहीं करता है या मुंह की ठीक से सफाई नहीं करता है, तो धीरे-धीरे ये प्लाक जमा होता जाता है और आपको पीले धब्बे के रूप में दिखाई देने लगता है।

इसे भी पढ़ें : बच्चों के दांत को स्वस्थ रखने के लिए ऐसे करें देखभाल, कीड़ों की समस्या से भी मिलेगा छुटकारा

जब आपके दांतों में लंबे समय तक प्लाक जमा होता रहता है, तो धीरे-धीरे ये हार्ड होता जाता है और इसका रंग भी पहले गहरा पीला और फिर भूरा या काला दिखने लगता है। इसे ही टार्टर कहते हैं। 

प्लाक और टार्टर के कारण क्या परेशानियां हो सकती हैं?

अगर किसी व्यक्ति के दांतों में पीले धब्बे दिखाई देते हैं यानी उसके दांतों में प्लाक जमा है, तो इसके कारण उसके मसूड़ों को भी नुकसान पहुंच सकता है। लंबे समय में ये प्लाक मसूड़ों की गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है। प्लाक और टार्टर के कारण सांसों से बदबू आने की समस्या भी होना शुरू हो जाती है। 

प्लाक और टार्टर के कारण हो सकती हैं ये समस्याएं

  • 1. दांतों में कैविटीज बनना ((Dental cavities)
  • 2. मुंह से दुर्गंध आना
  • 3. मसूड़ों की बीमारी होना या पेरीओडोन्टल की समस्या (Periodontal diseases)
  • 4. जिंजीवाइटिस (Gingivitis) या मसूडों में सूजन आना
insideoralcare

दांतों से प्लाक और टार्टर हटाना क्यों है जरूरी ?

आमतौर पर दांतों में हल्का पीलापन दिखाई देने पर लोग इसे नजरअंदाज कर देते हैं। इस पीलेपन को हटाने के लिए आपको दिन में 2 बार डेली ब्रश करना जरूरी है। लेकिन अगर दांत और मसूड़ों की सफाई अच्छे से न की जाए या रेगुलर न की जाए, तो समस्या बड़ी हो सकती है। प्लाक और टार्टर दांतों और मसूड़ों को नुकसान पहुंचाते हैं, जिससे मसूड़े की सूजन, इनेमल डैमेज व मसूड़ों की बीमारियों जैसी कई समस्याएं हो सकती हैं। कभी-कभी टार्टर व्यक्ति की हड्डियों को भी नुकसान पहुंचा सकता है।

दांतों से प्लाक और टार्टर कैसे हटाएं?

ब्रश-

दांतों की सफाई की बात कि जाए तो ब्रश करना सबसे पहला उपचार होता है जो दांतों में प्लाक और टार्टर की समस्या को दूर कर सकता है। अगर व्यक्ति खाना खाने के बाद सही तरीके से ब्रश करता है तो दांतों में प्लाक या टार्टर जमा होने की संभावना बहुत हद तक कम हो जाती है। व्यक्ति को दांतों को अच्छे से साफ रखने के लिए दिन में 2 बार कम से कम 3 मिनट ब्रश करना चाहिए।

दांतों की स्केलिंग कराएं-

स्केलिंग दांतों की एक ऐसी विधि होती है जो व्यक्ति के दांतों को स्वस्थ और मजबूत रखने में मदद करती है। स्केलिंग से दांतों पर जमा प्लाक, टार्टर और दूसरे धब्बों को हटाया जा सकता है। स्केलिंग कराना थोड़ा महंगा होता है लेकिन अगर दांतों पर जमा गंदगी को स्केलिंग द्वारा न निकाला जाए, तो दांत सड़ सकते हैं। जिन लोगों के दांतों में बहुत ज्यादा प्लाक जमा हो जाता है या टार्टर के कारण दांत काले हो जाते हैं, तो उन्हें डेंटिस्ट के पास जाकर ही इसे साफ करवाना चाहिए।

insideteethclean

दांतों से पीले-काले धब्बों (प्लाक और टार्टर) को हटाने के लिए घरेलू उपाय-

दांतों से प्लाक के प्रभाव को खत्म करने के लिए आप कुछ घरेलू उपाय भी अपना सकते हैं। लेकिन ध्यान रखें कि इन नुस्खों से दांतों का हल्का-फुल्का पीलापन ही खत्म हो सकता है। अधिक प्लाक होने या टार्टर की समस्या होने पर मेडिकल मदद लेना ही सही उपाय है। 

ग्लिसरीन और एलोवेरा-

ग्लिसरीन और एलोवेरा को थोड़ा-थोड़ा मिक्स करके इसमें नींबू की कुछ बूंद मिलाकर दांतों पर स्क्रब करें और 10 मिनट बाद कुल्ला कर लें। इस उपाय को रोजाना करने से दांतों से पीलेपन की परेशानी दूर हो सकती है।

सिरके को पानी में मिलाकर इस्तेमाल करें-

2 चम्मच सिरका और उसमें पानी मिलाकर गरारे करें। ऐसा करने से दांत स्वस्थ रहते हैं।

अंजीर खाएं-

अंजीर खाना सेहत के लिए फायदेमंद होता है, लेकिन इसका सेवन दांतों को स्वस्थ रखने के लिए भी किया जाता है। अंजीर में खास गुण होता है, जिसके कारण इसके सेवन से दांतों के बैक्टीरिया निकल जाते हैं। दांतों को स्वस्थ रखने के लिए अंजीर को धीरे-धीरे चबाकर खाएं। ऐसा करने से दांतों में प्लाक नहीं जमा होते हैं और थोड़े-बहुत प्लाक हों तो निकल जाते हैं।

इसे भी पढ़ें : दांत टूटने पर नए दांत लगावाना क्यों है जरूरी? जानें आर्टिफिशियल दांत (डेंचर) ओरल हेल्थ में कैसे करते हैं मदद

संतरे के छिलके का इस्तेमाल-

दांतों से प्लाक को हटाने के लिए संतरे के छिलके को दांतों पर रगड़ना चाहिए। हर रोज इसके इस्तेमाल से दांतों पर जमा गंदगी दूर होती है

 

तिल के बीच का उपयोग करें-

दांतों की सफाई के लिए एक मुठ्ठी तिल लें और उन्हें चबाएं और कुछ देर बाद ब्रश से दांतों की सफाई करें। ध्यान रहें जो तिल आप चबा रहें है वह निगलने नहीं हैं।

इन आसान उपायों को अपनाकर आप दांतों के काले-पीले धब्बों से छुटकारा पा सकते हैं। लेकिन याद रहे कि ब्रश करने का कोई दूसरा विकल्प नहीं है। इसलिए अपने दांतों को रेगुलर 2 बार ब्रश करते रहें। ज्यादा समस्या होने पर डेंटिस्ट के पास जाएं और साल में 1 बार अपना डेंटल चेकअप जरूर करवाएं।

Read More Article On Dental Care In Hindi

Disclaimer