कोलेस्ट्रोल लेवल बढ़ने पर शरीर में दिखते हैं ये शुरूआती लक्षण, इन तरीकों से करें उपाय

कोलेस्ट्रोले लेवल बढ़ने से आपके शरीर में कई तरह की परेशानियां हो सकती है। आपको अपने पैरों में झनझनाहट महसूस हो सकती है।

Dipti Kumari
Written by: Dipti KumariPublished at: May 12, 2022Updated at: May 12, 2022
कोलेस्ट्रोल लेवल बढ़ने पर शरीर में दिखते हैं ये शुरूआती लक्षण, इन तरीकों से करें उपाय

शरीर में स्वस्थ कोशिकाओं के निर्माण के लिए रक्त में अच्छे कोलेस्ट्रोल की मात्रा को बनाए रखने की जरूरत होती है। हालांकि आपको इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि शरीर में खराब कोलेस्ट्रोल (एलडीएल) का स्तर बढ़ने से रक्त कोशिकाओं में वसा की एक परत जमने लगती है, जिससे खून के बहाव में बाधा उत्पन्न हो सकती है। कभी-कभी कोलेस्ट्रोल के उच्च स्तर के कारण थक्का बनने की समस्या हो सकती है, जिसकी वजह से हार्ट अटैक या स्ट्रोक का खतरा बढ़ जाता है। इसके अलावा कोलेस्ट्रोल का स्तर बढ़ने से शरीर में और कई तरह की गंभीर परेशानियां हो सकती है,  जो आगे चलकर गंभीर बीमारी का रूप ले लेती है। कोलेस्ट्रोल लेवल को संतुलित रखने के लिए आपको अपने आहार और जीवनशैली में जरूर बदलाव करना चाहिए ताकि आप एक स्वस्थ दिनचर्या को बनाए रख सके। इसके लिए आपको ऑयली फूड्स और मसालेदार खाने के सेवन से बचना चाहिए और हो सके तो अधिक से अधिक घर का बना खाना खाएं। हालांकि आपके लिए कोलेस्ट्रोल के शुरूआती लक्षणों को समझना भी बेहद अहम है ताकि आप आगे की भायवह स्थिति से बच सकें। 

कोलेस्ट्रोल बढ़ने के कारण

हाई कोलेस्ट्रोल लेवल आनुवांशिक भी हो सकता है। यह अनहेल्दी रूटीन या लाइफस्टाइल की वजह से भी बढ़ सकता है। अगर आप बहुत अधिक स्मोकिंग, शराब पीना और मसालेदार खाना खाने के आदी है, तो आपको सावधान हो जाना चाहिए क्योंकि ये आपके लिए खतरे का घर साबित हो सकता है। इससे आपका वजन अचानक बढ़ सकता है, सांस फूलने की समस्या और थकान महसूस हो सकती है। इसलिए अपनी सही लाइफस्टाइल और डाइट की मदद से आप अपने बढ़े हुए कोलेस्ट्रोल को कम कर सकते हैं। इसके कुछ शुरूआती लक्षण आपको इससे निपटने में मदद कर सकते हैं। 

कोलेस्ट्रोल लेवल बढ़ने के शुरूआती लक्षण

1. पैर सुन्न होना 

अगर आपको बराबर अपने पैरों में सुन्नता का अनुभव होता है, तो ये उच्च कोलेस्ट्रॉल स्तर का कारण हो सकता है। यह आपकी धमनियों और रक्त वाहिकाओं में अवरोध का संकेत हो सकता है। ऑक्सीजन के बहाव में कमी के कारण आपको बाहों और पैरों में दर्द और झुनझुनी का अनुभव हो सकती है। इसलिए पैर में दर्द या झनझनाहट को बिल्कुल इग्नोर न करें। 

high-cholestrol-level

Image Credit- Freepik

2. पीले नाखून

कोलेस्ट्रोल आपकी धमनियों में जमा होकर उन्हें संकीर्ण बनने लगता है और जब यह स्तर बढ़ता जाता है, तो आपकी धमनियां पूरी तरह से ब्लॉक हो जाती है। अतिरिक्त कोलेस्ट्रोल लेवल के कारण आपके शरीर में रक्त का संचार उचित ढंग से नहीं हो पाता है और प्रवाह अवरूद्ध होता है। इन्हीं कारणों से आपके नाखूनों का रंग लाल की बजाय पीला दिखाई देता है। इससे नाखून के नीचे डार्क लाइन्स आ सकती है। कोलेस्ट्रोल बढ़ने के इन शुरूआती लक्षणों को आप बिल्कुल इग्नोर न करें। 

3. स्ट्रोक और हार्ट अटैक 

हाई कोलेस्ट्रोल लेवल के कारण लोगों में स्ट्रोक और हार्ट अटैक के मामले सामने आते हैं। यह आपके दिल की धमनियों को अवरूद्ध कर देता है, जो दिल का दौरा पड़ने का कारण बन सकता है। आपके मस्तिष्क की अवरुद्ध धमनी स्ट्रोक का कारण बन सकती है। बहुत से लोगों को पता नहीं चलता है कि उनका कोलेस्ट्रोल लेवल बढ़ा हुआ है और फिर हार्ट अटैक या स्ट्रोक के कारण उनकी स्थिति गंभीर हो जाती है। यह महिलाओं में अधिक देखने को मिलता है।

इसे भी पढे़ं- शरीर में कोलेस्ट्रॉल बढ़ने पर त्वचा पर दिखते हैं ये 4 लक्षण, नजरअंदाज करने से बढ़ता है कई रोगों का खतरा

4. कोरोनरी हृदय रोग

शरीर में कोलेस्ट्रोल की मात्रा बढ़ने पर सीने में दर्द, जी मिचलाना, थकान, साँसों की कमी, गर्दन, जबड़े, ऊपरी पेट या पीठ दर्द की शिकायत हो सकती है। यह सभी लक्षण कोरोनरी हृदय रोग के हो सकते हैं। कोरोनरी हृदय रोग कोलेस्ट्रोल लेवल बढ़ने पर होने की आंशका रहती है और इससे हाथ-पांव सुन्न हो जाते हैं। 

high-cholestrol-level 

Image Credit- Freepik

5. हाई ब्लड प्रेशर की समस्या 

कोलेस्ट्रोल लेवल बढ़ने के कारण आपको हाई ब्लड प्रेशर की समस्या भी हो सकती है। इससे आंखों में परेशानी और नींद न आने की समस्या भी हो सकती है। कई लोगों को हाई ब्लड प्रेशर के कारण बराबर दवाईयां खानी पड़ सकती है इसलिए कोलेस्ट्रोल लेवल की जांच बराबर कराते रहें। उम्र बढ़ने पर हर साल या 6 महीने पर इसकी जांच जरूर कराएं। 

Main Image Credit- Freepik

Disclaimer