कानों में होती सनसनाहट (टिकलिंग) होने के क्या कारण हो सकते हैं? जाने इस समस्या के लक्षण, कारण और इलाज

 अगर आपके कान में भी कई बार सनसनाहट या चुनचुनाहट जैसा महसूस होता है, तो जानें इस समस्या के कारण, लक्षण और इलाज।

Monika Agarwal
अन्य़ बीमारियांWritten by: Monika AgarwalPublished at: Mar 29, 2021
कानों में होती सनसनाहट (टिकलिंग) होने के क्या कारण हो सकते हैं? जाने इस समस्या के लक्षण, कारण और इलाज

कहीं आप कानों में खुजली या कानों में टिकलिंग को लेकर कंफ्यूज तो नहीं? असल में यह दोनों अलग-अलग संवेदनाएं हैं। टिकलिंग यानी कि कानों में हल्की हल्की झनझनाहट, सनसनाहट, गुदगुदी या चुनचुनाहट। जो आमतौर पर एक नरम स्पर्श या छूने के कारण होती है और स्किन के नर्व्स़ को उत्तेजित करती है। यह कई चीजों के कारण हो सकता है, जैसे कि उंगलियां का स्पर्श, कोई पंख या बाल, या बग और कीट का रेंगना। जबकि खुजली एलर्जी या बीमारी का लक्षण हो सकता है। यह हल्के से लेकर गंभीर तक हो सकती है। खुजली अक्सर हिस्टामाइन कैमिकल के उत्तेजक होने के कारण होती है। यह मात्र छूने के कारण नहीं होती।

pain in ears

क्या आपके कान में भी कई बार गुदगुदाहट होती है? (Tickling in ear)

यह कितनी ज्यादा परेशान करती है यह तो हम सब ही जानते हैं। यदि यह गुदगुदाहट या चुनचुनाहट कभी कभी होती है और स्वयं ही थोड़ी देर के बाद ठीक हो जाती है तो यह सामान्य है और इसके लिए डरने की कोई जरूरत नहीं। लेकिन अगर यह फीलिंग बार बार आपको तंग करती है और बहुत समय के लिए परेशान करती है तो आपको इसके पीछे के कारण पता होना चाहिए। तो आइए जानते हैं कान में टिकलिंग (Tickling in ear) होने के कुछ मुख्य कारणों को। 

1. कान में इयर वैक्स इकठ्ठा हो जाना (Earwax Buildup)

ear wax in ears

इयर वैक्स का आपके कान को किटाणुओ व बैक्टेरिया से बचाने के लिए इक्कठा होना आवश्यक होता है। यह आपकी इयर कैनल को साफ भी करता है। कई बार यह वैक्स कान में एक ब्लॉकेज भी पैदा कर देता है। कुछ लोगों को इस वैक्स के इकट्ठा होने के कारण कान में चुनचुनाहट (Tickling in ear) सी महसूस होती है। इसके कुछ लक्षणों में खुजली होना, कान का भरा होना महसूस होना, सुनने में कमी होना आदि शामिल होते हैं।

इसे भी पढ़ें- World Hearing Day 2021: WHO के मोबाइल ऐप से फोन पर ही जांचें अपने कानों के सुनने की क्षमता, जानें तरीका

इयर वैक्स से कैसे बचें? (How to Prevent the Earwax Buildup)

यदि आप इस प्रकार की ब्लॉकेज से बचना चाहते हैं तो आप किसी काॅटन बड से अपने कान को खुद भी साफ कर लेते हैं। इस प्रकार की समस्याओं से बचा जा सकता है। ध्यान रखें की साफ करते समय किसी चीज को अपने कान के बहुत ज्यादा अंदर तक न जाने दें। यह कई बार खुद भी बाहर आना शुरू हो जाता है।

क्या करें उपचार? (Treatment for Earwax Buildup)

आप इयर वैक्स को अपने डॉक्टर की सहायता से भी निकलवा सकते हैं। वह इसे निकालने के लिए गर्म पानी की सिरिंज का प्रयोग कर सकते हैं या फिर किसी वस्तु को आपके कान के अंदर डाल कर उसे निकाल सकते हैं।

2.  यूस्टेकियन ट्यूब डिस्फंक्शन (Eustachian Tube Dysfunction)

ear lump can cause pain

यह एक ट्यूब होती है जो आपके गले को आपके कान से जोड़ती है। यह ट्यूब आपके कान में एयर प्रेशर बनने से व फ्लूइड इकठ्ठा होने से बचाती है। इसमें डिस्फंक्शन तब होता है जब इस ट्यूब के रास्ते में कोई डाट अटक जाती है। साइनस इंफेक्शन व एलर्जी के कारण भी ऐसा हो सकता है। इसका एक लक्षण कान में टिकलिंग होना हो सकता है। इसके कुछ अन्य लक्षण कान का भरा हुआ होना महसूस होना, दर्द होना और कान में वाइब्रेशन होना आदि हैं।

इस डिस्फंक्शन से कैसे बचें ( How to Prevent Eustachian tube dysfunction)

छोटे बच्चे, धूम्रपान करने वाले लोग व मोटे लोगों को इसका अधिक खतरा होता है। यदि आप इससे बचना चाहते हैं तो साइनस इंफेक्शन व स्वयं को सर्दी होने से बचाएं।

डिस्फंक्शन के लिए उपचार (Treatment for Eustachian tube dysfunction)

इसके उपचार के लिए आप सेलाइन नेसल स्प्रे का प्रयोग कर सकते हैं। इसके अलावा ह्यूमिडिफायर, स्टीम लेना या गर्म पानी में नहाना जिससे उसकी भाप आपको मिल सके आदि भी ट्राई कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें- Lump behind ear: कान के पीछे बन गई है गांठ तो न करें नजरअंदाज, एक्सपर्ट से जानें इसे ठीक करने के 10 घरेलू उपाय

3.  कान में किसी खटमल का घुस जाना ( Bug Bite Or Bug Crwal)

कई बार आपके कान के अंदर कोई खटमल या कीड़ा भी घुस सकता है और आपकी कान के अंदर हलचल पैदा कर सकता है। यदि वह कीड़ा आपके कान में इधर उधर होगा तो आपको खुजली या सरसराहट महसूस होगी। लेकिन यदि वह आपको काटेगा तो आपको जलन व दर्द होगा। इसके साथ ही कान से खून भी आ सकता है और बहुत ज्यादा दर्द भी हो सकता है।

इससे कैसे बचें? (Preventing bugs)

आपके कान में कोई कीड़ा तब घुसता है जब या तो आप जानवरों के आस पास रहते हैं या आप बाहर सोते है। यदि आपको लगता है की आपके कान में कोई कीड़ा घुस गया है तो, आपको तुरंत उसे बाहर निकालना चाहिए। नही तो वह एक बीमारी की तरह आपके कान में चिपक सकता है। यह आपके दिमाग तक संदेश पहुंचाने वाली नसों को भी इरिटेट कर सकता है।

कान से कीड़े-मकोड़े को कैसे बाहर निकालें (Treatment to Remove Bug)

अपने कान के अंदर किसी तीखी चीज को न डालें और स्वयं को टेढ़े कर लें ताकि वह स्वयं की कान से निकल सके। यदि वह कान से नही निकल रहा है तो डॉक्टर की सहायता लें।

  • इस स्थिति से तुरंत छुटकारा पाने के लिए आप क्या कर सकते है (Stimulates the Swallow Reflex)
  • आप जम्हाई ले सकते हैं। 
  • च्यूइंग गम चबा सकते हैं।
  • अपने दोनों नाक को बंद करना और अपने मुंह के द्वारा हवा बाहर छोड़ना।

मेडिकल उपचार (Medical Treatment)

कई बार इस डिस्फंक्शन से ठीक होने के लिए आपको डॉक्टर की भी मदद लेनी पड़ सकती है। इसके लिए आपके डॉक्टर आपके कान में एक छोटी इंसीजन डाल कर आपके कान से फ्लूइड निकाल सकते हैं। या आपके इयर ड्रम में एक छोटी ट्यूब डाल सकते हैं ताकि सारा फ्लूइड बाहर निकल सके।या फिर वे आपके नाक के माध्यम से आपकी ट्यूब में एक गुब्बारे जैसी वस्तु डाल सकते हैं ताकि सारा बलगम आपके कान के माध्यम से बाहर निकल सके।

यदि आप अपने कान में गुदगुदी महसूस करते हैं जो स्वयं या घर पर उपचार इसका हल नहीं। आपको डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

Read more on Other Diseases in Hindi 

Disclaimer