डायबिटीज के मरीज कोरोना की वैक्सीन लेने के बाद बरतें ये सावधानियां, डॉक्टर से जानें सभी जरूरी बातें

कोरोना वायरस की वैक्सीन लगवाना सभी के लिए बहुत जरूरी है। लेकिन अगर आप डायबिटीज पेशेंट हैं तो वैक्सीन लगवाने के बाद आपको कुछ बातों का ध्यान रखना होगा। 

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Mar 30, 2021
डायबिटीज के मरीज कोरोना की वैक्सीन लेने के बाद बरतें ये सावधानियां, डॉक्टर से जानें सभी जरूरी बातें

कोविड वैक्सीन हर व्यक्ति को उसके प्रियजनों को और समुदाय के सभी लोगों को कोराना वायरस से बचा सकता है। यह आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता (Boost your Immunity) को मजबूत बनाता है और कोरोना वायरस से लड़ने में मदद करता है। वैक्सीन लगवाने के बाद अगर कोई व्यक्ति कोरोना वायरस के संपर्क में आता है तो वैक्सीन उसके शरीर की रक्षा करता है। साथ ही इससे वायरस से बीमार होने या हालत ज्यादा गंभीर होने पर जोखिम को काफी हद तक कम किया जा सकता है। डायबिटीज पेशेंट (Diabetes Patient) को कोरोना वायरस से संक्रमित होने पर काफी खतरा होता है। इसलिए यह जरूरी है कि डायबिटीज पेशेंट खुद को इससे बचाने के लिए कोविड वैक्सीन जरूरी लगवाएं। डायबिटोलॉजिस्ट डॉक्टर अरूप दास गुप्ता बताते हैं कि डायबिटीज रोगियों को कोविड वैक्सीन लेने के बाद दो से तीन दिनों तक अपने ब्लड शुगर (Blood Sugar) का बारीकी से ध्यान रखना जरूरी है।

corona vaccine

एक अध्ययन से अनुमान लगाया गया है कि जो लोग वैक्सीन लगने के बाद संक्रमित हो जाते हैं उनमें लक्षण नजर नहीं आते हैं और वे इसे दूसरे लोगों में 24 प्रतिशत तक संचरण (Transmission) करने के जिम्मेदार होते हैं। वैक्सीन लगने के बाद भी 12 दिनों तक शरीर में एंटीबॉडी (Antibody) नहीं बनती है। इसलिए वैक्सीन लगने के बाद भी आपको सभी नियमों का पालन करना जरूरी है। अगर आप डायबिटीज पेशेंट हैं और कोविड वैक्सीन लगा रहे हैं तो डायबिटोलॉजिस्ट अरूप दास गुप्ता से जानें इसके बाद आपको किन बातों का ध्यान रखना जरूरी है। 

डायबिटीज पेशेंट को कोविड वैक्सीन लेने के बाद इन बातों का ध्यान रखना जरूरी है (Diabetes Patient Should Keep These Things in Mind After Taking Covid Vaccine)

भारत में बनी सभी कोविड वैक्सीन बेहद प्रभावी हैं। वैक्सीन लगवाने के बाद अगर आप किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आ भी जाते हैं, तो आपके बीमार होने की संभावनाएं काफी कम हो जाती है। कोविड-19 को पूरी दुनिया में फैलने से रोकने के लिए दुनिया भर के अधिकांश लोगों को टीका लगवाया जा रहा है। टीका लगवाने के बाद भी आपको अपनी सुरक्षा का पूरा ध्यान रखना जरूरी है। डायबिटीज पेशेंट को कोविड वैक्सीन लेने के बाद इन बातों का ध्यान रखना बहुत जरूरी है।

  • - वैक्सीन लगने के बाद भी आपको मास्क पहनना, हाथ धोना और सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) जैसे नियमों का पालन करना जरूरी है।
  • -  वैक्सीन लगने के बाद भी आपको अपने हाथों को बार-बार सैनिटाइज (Sanitize) करना जरूरी है।
  • - आपको अपने ग्लूकोज लेवल (Glucose Level) पर भी बहुत ध्यान देने की जरूरत होती है। इसकी आपको बार-बार जांच करवानी चाहिए।
  • - सभी तरह के संक्रमण ग्लूकोज के स्तर को बढ़ाते हैं इसलिए खुद को हाइड्रेट रखना बहुत जरूरी है।
  • - अपने पास मधुमेह की बीमारी की दवाइयों का पूरा स्टॉक रखें।
  • - अपने रक्त शर्करा स्तर (Blood Sugar Level) में गिरावट की स्थिति का प्रबंध करने के लिए पहले से ही व्यवस्था करें। 
  • - टीकाकरण के बाद कुछ दिनों के लिए इंसुलिन का इंजेक्शन (Insulin Injection) लगवाने से परहेज करें।  
  • - एक सक्रिय जीवनशैली (Active Lifestyle) बनाएं। 
  • - तनाव न लें और पर्याप्त नींद लें।

पिछले एक साल से यह स्पष्ट हो चुका है कि डायबिटीज के रोगियों को इससे काफी खतरा है। कोराना वायरस होने पर इन्हें तत्काल और निरंतर इलाज की जरूरत होती है। इसलिए इन रोगियों को वैक्सीन जरूर लगवानी चाहिए और सभी जरूरी बातों का ध्यान रखना चाहिए। 

corona vaccine 1

फिलहाल पूरे देश में बड़े पैमाने पर टीकाकरण अभियान चल रहा है। इसे देखते हुए डायबिटीज से पीड़ित लोगों के मन में कई तरह के सवाल उठ रहे हैं। क्या कोविड वैक्सीन सुरक्षित है? ये वैक्सीन कैसे काम करता है? इसके दुष्प्रभाव क्या हैं और वैक्सीन से ब्लड शुगर लेवल पर क्या असर पड़ता है? ये सभी सवाल डायबिटीज रोगियों के मन में जरूर आते हैं। जानते हैं डॉक्टर अरूप दास गुप्ता से इन सभी सवालों के जवाब- 

कोविड वैक्सीन कैसे काम करता है? (How Does the Covid Vaccine Work)

कोरोना वायरस के सभी वैक्सीन में कोविड-19 वायरस की निष्क्रिय सामग्री और इसे जन्म देने वाले वायरस के साथ-साथ किसी अन्य वायरस के नए वर्जन की निष्क्रिय सामग्री मौजूद  हैं। यह हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को एक हानिरहित प्रोटीन (Harmless Protein) बनाने के लिए निर्देश देता है, जिसमें वायरस से लड़ने की क्षमता होती है। फिर कोविड-19 से संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने पर यह प्रोटीन अपना काम शुरू कर देता है और भविष्य में कोविड-19 से संक्रमित होने पर इस वायरस से लड़ने में मदद करता है। 

यह वैक्सीन डायबिटीज पेशेंट के लिए कितना सुरक्षित है? (How Safe is This Vaccine For Diabetes Patient )

कोविड-19 के सभी वैक्सीन डायबिटीज से पीड़ित मरीजों के लिए एकदम सुरक्षित और असरदार हैं। इंसानों पर किए गए विभिन्न अध्ययनों से यह बात सामने आई है कि कोविड वैक्सीन डायबिटीज सहित अन्य गंभीर बीमारियों से पीड़ित मरीजों और दूसरे सभी लोगों के लिए सुरक्षित है।

इसे भी पढ़ें - कोरोना की वैक्सीन लगवाने के कितने दिन बाद करें बेबी प्लानिंग? एक्सपर्ट बता रहे हैं महिलाओं के लिए जरूरी टिप्स

वैक्सीन से शरीर का ब्लड शुगर लेवल कैसे प्रभावित होता है? (How will the Vaccine Affect the Blood Sugar Level of Body )

डॉक्टर अरूप दास गुप्ता बताते हैं कि वैक्सीन लेने के बाद सामान्य बीमारी के लक्षण नजर आ सकते हैं। जिससे शरीर में ग्लूकोज का स्तर तक काफी बढ़ सकता है। इसलिए वैक्सीन लेने के 48 घंटे बाद तक अपने ब्लड शुगर लेवल का पूरा ध्यान रखें।  इस दौरान पर्याप्त मात्रा में पानी पीना चाहिए और दिन भर आराम करना चाहिए। अब तक डायबिटीज से पीड़ित मरीजों में इस वैक्सीन का कोई साइड इफेक्ट नजर नहीं आया है। साथ ही ब्लड शुगर लेवल पर भी इसका बेहद मामूली असर नजर आया है।

क्या डायबिटीज की दवाइयों से वैक्सीन पर भी कोई असर होता है? (Does Diabetes Medicines have any Effect on the Vaccine)

कोविड-19 के सभी वैक्सीन और दूसरी दवाइयों के बीच परस्पर प्रभाव के बारे में अब तक कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है। इसका कारण यह है कि अभी तक इसकी बड़े पैमाने पर जांच नहीं की गई है। इस बात की कोई उम्मीद भी नहीं है कि वैक्सीन इंसुलिन या डायबिटीज की अन्य मानक दवाइयों के बीच किसी तरह का परस्पर प्रभाव पड़ेगा। लेकिन फिर भी टीकाकरण के बाद कुछ दिनों के लिए इंसुलिन का इंजेक्शन (Insulin Injection) लगवाने और ग्लूकोज सेंसर (Glucose Sensor) या पंप इन्फ्यूजन (Pump Infusion) लगवाने से परहेज करें।  

डायबिटीज के साथ अन्य जटिल रोगों से भी पीड़ित हैं तो क्या करें (What to do if you are Suffering from Diabetes along with other Complex Diseases ) 

डायबिटीज के साथ ही अगर आप किसी जटिल रोग जैसे हृदय रोग और गुर्दे की बीमारी से भी पीड़ित हैं तो आपको कोरोना वायरस का खतरा बहुत ज्यादा हो सकता है। इसलिए ऐसे लोगों के लिए वैक्सीन लगवाना बेहद जरूरी होता है। 

कोरोना वायरस जैसी महामारी को रोकने के लिए वैक्सीन लगवाना बहुत जरूरी है। खास तौर पर डायबिटीज से पीड़ित उच्च जोखिम वाले लोगों के बीच इसे फैलने से रोकना होगा। इसलिए अधिक से अधिक लोगों को वैक्सीन लगाना बेहद जरूरी है। अगर आप किसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं तो वैक्सीन लगवाने से पहले एक बार डॉक्टर से जरूर सलाह लें। 

Read More Articles on Diabetes in Hindi


Disclaimer