स्किन व्हाइटिंग और स्किन ब्राइटनिंग में क्या है अंतर? जानें निखार पाने के लिए कौन सा तरीका है बेस्ट

अगर आप अपनी त्वचा की रंगत में निखार यानी गोरापन चाहते हैं, तो पहले जान लें कि इसके लिए कौन से ट्रीटमेंट उपलब्ध हैं और कौन सा तरीका है सबसे बेस्ट।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Nov 27, 2019
स्किन व्हाइटिंग और स्किन ब्राइटनिंग में क्या है अंतर? जानें निखार पाने के लिए कौन सा तरीका है बेस्ट

'गोरापन' बहुत सारे लोगों की चाहत होती है। त्वचा पर निखार लाने के लिए लोग तरह-तरह के उपाय करते हैं। फेयरनेस प्रोडक्ट्स की इंडस्ट्री पिछले 50 सालों में काफी तेजी से उभरी है। आज बाजार में हजारों फेयरनेस क्रीम्स, फेस वॉश, साबुन, सीरम, दवाएं आदि मौजूद हैं, जो त्वचा को गोरा बनाने का दावा करते हैं। इसके अलावा बहुत सारे स्किन ट्रीटमेंट भी मौजूद हैं, जो लोगों के 'निखार' के सपने को पूरा कर रहे हैं। आमतौर पर बाजार में बिकने वाले प्रोडक्ट्स और स्किन ट्रीटमेंट करने वाले लोगों के बीच दो शब्द समूह बहुत पॉपुलर हैं, पहला स्किन ब्राइटनिंग (Skin Brightening) और दूसरा स्किन व्हाइटनिंग (Skin Whitening)। क्या आप जानते हैं कि इन दोनों में क्या अंतर है और किस तरह के निखार के लिए आपको कौन सा ट्रीटमेंट लेना चाहिए? इस आर्टिकल में हम इन्हीं के बारे में कुछ जरूरी बातें बता रहे हैं।

स्किन ब्राइटनिंग और स्किन व्हाइटनिंग में अंतर

Skin Brightening और Skin Whitening, आमतौर पर इन दोनों ही शब्दों का अर्थ हम एक ही लगाते हैं, और वो है गोरापन। मगर ब्यूटी इंडस्ट्री में इन दोनों शब्दों के अलग-अलग अर्थ हैं। जब हम स्किन ब्राइटनिंग की बात करते हैं, तो इसका अर्थ यह है कि आपको आपकी प्राकृतिक रंगत वापस मिल जाएगी। यानि जन्म के समय आपकी त्वचा का जो रंग था, उसी रंगत को दोबारा पाना। वहीं जब हम स्किन व्हाइटनिंग की बात करते हैं, तो इसका अर्थ है आपके नैचुरल स्किन टोन से भी 2-3 शेड ज्यादा गोरापन पाना।

इसे भी पढ़ें: सर्दियों में निखार के लिए चने और नींबू से बनाएं स्पेशल फेस मास्क, लाइट हो जाएगा स्किन टोन

यह तो आप जानते ही हैं कि जन्म के समय आपकी त्वचा का जो रंग होता है, वो उम्र बढ़ने के साथ-साथ कई चीजों से प्रभावित होता है। आमतौर पर आपकी लाइफस्टाइल, धूप, धूल-मिट्टी, साफ-सफाई का तरीका, प्रदूषण आदि के कारण समय के साथ आप अपनी प्राकृतिक रंगत को खोते जाते हैं। ऐसे में अगर आप अपनी प्राकृतिक रंगत को वापस पाना चाहते हैं, तो आपको स्किन ब्राइटनिंग ट्रीटमेंट की जरूरत पड़ेगी, जबकि यदि आप प्राकृतिक रंगत से भी ज्यादा निखार चाहते हैं, तो आपको स्किन व्हाइटनिंग ट्रीटमेंट की जरूरत पड़ती है।

त्वचा का रंग अलग-अलग क्यों होता है?

आपके त्वचा में मेलानिन की मात्रा से आपके त्वचा की रंगत का निर्धारण होता है। आमतौर पर डार्क रंग के लोगों के शरीर में मेलानिन ज्यादा बनता है। ये मेलानिन कुछ खास सेल्स द्वारा बनाए जाते हैं, जिन्हें मेलानोसाइट्स कहा जाता है। हालांकि आपका शरीर कितनी मात्रा में मेलानिन का निर्माण करेगा, ये बहुत हद तक आपकी जीन्स पर निर्भर करता है। मगर सूरज की किरणें, गर्मी और केमिकल्स के कारण त्वचा पर मेलानिन की मात्रा बढ़ सकती है। यही कारण है कि जो लोग बहुत अधिक केमिकलयुक्त ब्यूटी प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करते हैं, उनकी त्वचा की रंगत और ज्यादा डार्क हो जाती है।

इसे भी पढ़ें: चुकंदर से बनाएं त्वचा में निखार लाने वाली स्पेशल क्रीम, सर्दियों में भी रहेगा चेहरे पर ग्लो

त्वचा पर निखार लाने के लिए क्या है बेस्ट तरीका?

आमतौर पर ब्यूटी एक्सपर्ट्स यही मानते हैं कि आप अपनी त्वचा के रंग को सामान्य तरीके से नहीं बदल सकते हैं। त्वचा की रंगत को पूरी तरह बदलने के लिए मेडिकल ट्रीटमेंट का सहारा लिया जा सकता है, जो काफी खर्चीला होता है और इसके कई साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं। फिर भी अगर आप अपनी त्वचा को निखारने के लिए मेडिकल ट्रीटमेंट चाहते हैं, तो डर्मेटोलॉजिस्ट से बात करें।
कुछ अन्य तरीकों को ध्यान में रखकर आप अपनी त्वचा की प्राकृतिक रंगत को दोबारा पा सकते हैं। मगर इसके लिए भी आपको बाजार में मिलने वाले केमिकलयुक्त प्रोडक्ट्स की जगह प्राकृतिक तरीके ही अपनाने चाहिए। केमिकल्स त्वचा को नुकसान पहुंचाते हैं। कुछ प्राकृतिक तरीकों के बारे में हम नीचे बता रहे हैं।

  • त्वचा पर नींबू, टमाटर, खीरे में से किसी एक के रस को घिसने से आपकी त्वचा पर मौजूद टैनिंग और गंदगी साफ होती है। इससे आपको अपना नैचुरल कलर पाने में मदद मिल सकती है।
  • त्वचा को खूबसूरत, सॉफ्ट और ग्लोइंग रखने के लिए रोजाना कम से कम 2-3 लीटर पानी जरूर पिएं। पानी पीने से बॉडी डिटॉक्स रहती है।
  • रोजाना 7-9 घंटे की नींद जरूर लें। नींद की कमी से भी त्वचा का रंग डार्क होता है।
  • अपने खानपान में ज्यादा से ज्यादा प्राकृतिक चीजें जैसे- फल, सब्जियां, अनाज, मीट, नट्स, दालें आदि शामिल करें। इनसे आपकी त्वचा के लिए जरूरी पोषक तत्व आपको मिलेंगे।
  • रोजाना अपनी त्वचा को साफ करने के लिए स्नान करें और नमी को बरकरार रखने के लिए मॉइश्चराइजर का प्रयोग करें।

Read more articles on Skin Care in Hindi

Disclaimer