वायरस और संक्रमण से बचने के लिए डाइट पर जरूर दें ध्यान, फॉलो करें WHO का बताया ये डाइट प्लान

वायरस और संक्रमण से बचने के लिए इम्यूनिटी बूस्ट होना बहुत ही जरूरी है। ताकि कोरोना के संक्रमण से बच सके। ऐसे में आप अपने आहार पर विशेष ध्यान दें

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Jan 17, 2022Updated at: Jan 17, 2022
वायरस और संक्रमण से बचने के लिए डाइट पर जरूर दें ध्यान, फॉलो करें WHO का बताया ये डाइट प्लान

भारत में इन दिनों कोरोना वायरस का ओमिक्रॉन वेरिएंट (Omicron variant in india) काफी तेजी से बढ़ रहा है। ऐसे में इन दिनों वायरस और संक्रमण से बचने के लिए व्यक्ति को अपनी इम्यूनिटी को मजबूत करने की जरूरत है। इम्यूनिटी को बूस्ट करने के लिए आपको प्रोपर डाइट की जरूरत होती है। हाल ही में वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन  (World Health Organisation) ने वायरस से बचने के लिए एक डाइट प्लान जारी किया है, जिससे आप काफी हद तक ओमिक्रोन वेरिएंट से बच सकते हैं। क्योंकि यह आहार आपकी इम्यूनिटी को बूस्ट करके वायरस और संक्रमण से बचाव कर सकता है। आइए जानते हैं WHO द्वारा बताए गए डाइट प्लान के बारे में-

क्या है WHO का सुझाव 

WHO का कहना है कि हम जो खाते-पीते हैं, वह हमारे शरीर की संक्रमणों को रोकने, लड़ने और ठीक होने की क्षमता को प्रभावित कर सकता है। हालांकि, ध्यान रखें कि कोई भी खाद्य पदार्थ या पूरक आहार COVID-19 संक्रमण को रोक या ठीक नहीं कर सकता है। स्वस्थ आहार का सेवन करके प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत किया जा सकता है। इसके अलावा स्वस्थ भोजन का सेवन करने से मोटापा, हृदय रोग, मधुमेह और कुछ प्रकार के कैंसर सहित अन्य स्वास्थ्य समस्याओं के विकसित होने की संभावना को भी कम किया जा सकता है।

इसे भी पढ़ें - इन लोगों को है ओमिक्रोन का ज्यादा खतरा, डॉक्टर से जानें कैसे करें बचाव

WHO का डाइट प्लान ( WHO Omicron Diet Plan)

1. डाइट में शामिल करें विभिन्न तरह के आहार (Eat a variety of food, including fruits and vegetables)

विश्व स्वास्थ्य संघटन का कहना है कि फलों और सब्जियों के साथ-साथ आपको अपने आहार में लगभग सभी वैरायटीज को शामिल करना चाहिए।

  • अगर आप हर दिन एनिमल फूड्स (जैसे- मांस, मछली, अंडे और दूध) लेते हैं, तो इसके साथ-साथ  गेहूं, मक्का, चावल, दाल और बीन्स जैसे फलियां को भी शामिल करें। इसके अलावा भरपूर मात्रा में ताजे फल और सब्जियां भी लें
  • मक्का, बाजरा, जई, गेहूं और ब्राउन चावल जैसे साबुत अनाजों को अपने आहार में शामिल करें। इस तरह के आहार फाइबर से समृद्ध होते हैं, जो आपको लंबे समय भूख नहीं लगने देते हैं। 
  • इसके अलावा नाश्ते के लिए कच्ची सब्जियां, ताजे फल और बिना नमक वाले नट्स (unsalted nuts) को अपने आहार में शामिल करें।

2. भोजन में नमक करें कम ( Cut back on salt)

WHO के मुताबिक,  नमक का सेवन पूरे दिन में 5 ग्राम (एक चम्मच के बराबर) तक सीमित करें। इसके लिए आपको निम्न बातों पर ध्यान देने की जरूरत है। जैसे-

  • खाना बनाते समय नमक का कम से कम मात्रा में इस्तेमाल करें। नमक युक्त सॉस और मसालों (जैसे सोया सॉस, स्टॉक या फिश सॉस) का इस्तेमाल कम करें।
  • अगर आप डिब्बाबंद या ड्राई फूड्स का इस्तेमाल करते हैं, तो बिना नमक वाली सब्जियों, नट और फलों का चुनाव करना आपके लिए बेहतर हो सकता है। 
  • खाने में कभी भी ऊपर से नमक न डालें। अगर सब्जी का स्वाद अच्छा नहीं लग रहा है, तो आप इसमें मसालों या फिर हर्ब्स का इस्तेमाल कर सकते हैं। 
  • किसी भी तरह की खाने की चीज खरीदते वक्त लेबल की जांच करें और कम सोडियम सामग्री वाले उत्पादों का चुनाव करें।

3. वसा और तेल का सीमित मात्रा में करें सेवन  ( Eat moderate amounts of fats and oils)

WHO का कहना है कि अपने आहार में वसा और तेल को सीमित मात्रा में शामिल करना चाहिए। इसके लिए आप कुछ हेल्दी तरीके अपना सकते हैं। जैसे-

  • खाना पकाने के लिए मक्खन और घी जैसी चीजों को शामिल करने के बजाय ऑलिव ऑयल, सोया, सूरजमुखी या मकई के तेलों का इस्तेमाल करें।
  • रेड मीट के बदले सफेद मांस जैसे  पोउट्री (poultry) और मछली का सेवन करें। इनमे वसा की मात्रा तुलनात्मक रूपसे कम होती है। 
  • लो फैट वाले दूध और डेयरी उत्पादों का इस्तेमाल करें। 
  • खाना पकाते समय भोजन को तलने के बजाय भाप या पानी से पकाएं।

4. चीनी का सीमित मात्रा में करें सेवन  ( Limit sugar intake)

  • संक्रमण से बचाव के लिए मिठाइयों और मीठे पेय पदार्थ जैसे- रेडी-टू-ड्रिंक चाय, कोल्डड्रिंक्स, एनर्जी ड्रिंक्स,  कॉफी और फ्लेवर्ड मिल्क ड्रिंक्स का सीमित मात्रा में करें सेवन।
  • मीठे स्नैक्स जैसे कुकीज, केक और चॉकलेट के बजाय ताजे फलों का सेवन करें। इसके अलावा आप ऐसे विकल्प को भी शामिल करसकते हैं, जिसमें चीनी की मात्रा कम हो। 
  • बच्चों को ज्यादा मीठा खाने से रोकें। 2 साल से कम उम्र के बच्चों को दिए जाने वाले पूरक खाद्य पदार्थों ( complementary foods ) में नमक और चीनी नहीं मिलानी चाहिए। वहीं, इससे अधिक उम्र के बच्चों में आप नमक और चीनी की मात्रा सीमित करें। 

5. शरीर को रखें हाइड्रेटेड

WHO के अनुसार, शरीर को स्वस्थ रखने के लिए हाइड्रेट रहना बहुत ही जरूरी है। अगर आप सुरक्षित रहना चाहते हैं, तो सादा पानी आपके लिए सबसे बेहतर और हेल्दी विकल्प है। चीनी युक्त मीठे पेय पदार्थों के बजाय सादे पानी का सेवन करें। इसमें कैलोरी की मात्रा कम होती है, जो कई परेशानियों से दूर रखने में असरदार है।

इसे भी पढ़ें - ओमिक्रोन संक्रमण से बचाव के लिए कौन-सा मास्क पहनना है सही? जानें मास्क लगाने का सही तरीका

6. शराब और धूम्रपान है हानिकारक

WHO का कहना है कि शराब स्वस्थ आहार का हिस्सा नहीं होता है। अगर आप कोरोना वायरस से बचना चाहते हैं, तो शराब से दूरी बनाएं। यह आपके लिए खतरनाक हो सकता है। बार-बार या फिर अत्यधिक शराब का सेवन करने से कोरोनावायरस होने का जोखिम बढ़ सकता है। साथ ही इससे अन्य बीमारियां जैसे- लिवर डैमेज, कैंसर, हृदय रोग और मानसिक बीमारी होने की संभावना भी बढ़ती है। इसलिए शराब आपके स्वास्थ्य के लिए कभी भी हेल्दी विकल्प नहीं हो सकता है।

7. शिशुओं और छोटे बच्चों को कराएं स्तनपान 

मां का दूध शिशुओं के लिए आदर्श आहार होता है। यह सुरक्षित, स्वच्छ होता है। साथ ही इसमें एंटीबॉडी होते हैं, जो बच्चों की कई सामान्य बीमारियों से बचाने में मदद कर सकते हैं। शिशुओं 6 महीनों के दौरान विशेष रूप से स्तनपान का सेवन कराना चाहिए, क्योंकि स्तन का दूध उन्हें सभी पोषक तत्व और तरल पदार्थ प्रदान करता है, जिनकी उन्हें आवश्यकता होती है।

6 महीने की उम्र के बाद शिशुओं को स्तन के दूध के साथ-साथ विभिन्न प्रकार के पर्याप्त, सुरक्षित और पोषक तत्वों से भरपूर खाद्य पदार्थों को पूरक के रूप में देना शुरू करना चाहिए।  2 साल या उससे अधिक उम्र के बच्चों को आप स्तनपान करा सकते हैं।  

 

COVID-19 से पीड़ित महिलाएं अगर चाहें तो अपने शिशु को स्तनपान करा सकती हैं। हालांकि, उन्हें संक्रमण की रोकथाम और नियंत्रण के उपाय करने चाहिए। 

 

कोरोनाकाल में अपने डाइट का विशेष ध्यान रखें। अगर आपको इन दिनों किसी भी तरह का शारीरिक बदलाव नजर आ रहा है, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। 

Disclaimer