COVID-19: भारत के इन 4 राज्‍यों में नही आए हैं कोरोना के एक भी मामले, महाराष्‍ट्र में सबसे ज्‍यादा केस

महाराष्‍ट्र में COVID-19 के सबसे ज्‍यादा मामले दर्ज किए गए हैं। जबकि पूर्वोत्तर के नागालैंड, सिक्किम, त्रिपुरा और मेघालय में एक भी मामला नहीं आया है।

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Apr 06, 2020Updated at: Apr 06, 2020
COVID-19: भारत के इन 4 राज्‍यों में नही आए हैं कोरोना के एक भी मामले, महाराष्‍ट्र में सबसे ज्‍यादा केस

भारत ने इस साल जनवरी में कोरोना वायरस का पहला मामला दर्ज किया था। तब से अब तक कोरोना वायरस के 3,666 मामले सामने आ चुके हैं। इनमें से 292 लोगों को ठीक किया जा चुका है। जबकि, 109 लोगों की अब तक मौत हो चुकी है। अभी संक्रमितों की संख्‍या में तेजी से इजाफा हो रहा है।

राज्‍यों की बात करें तो कोरोना वायरस से, महाराष्ट्र, तमिलनाडु और दिल्ली में सबसे अधिक मामलों के साथ शीर्ष पर हैं। उत्तर प्रदेश, तेलंगाना, राजस्थान, आंध्र प्रदेश और कर्नाटक अन्य राज्यों में भी वायरस से ज्‍यादा प्रभावित हैं। हालांकि, अभी भी देश के कुछ कोने (राज्‍य) ऐसे हैं जो इस घातक वायरस की चपेट से अछूते हैं। इनमें चार पूर्वोत्तर राज्य और दो केंद्र शासित प्रदेश शामिल हैं।

पूर्वोत्‍तर के 4 राज्‍य हैं सुरक्षित

पूर्वोत्तर भारत के नागालैंड, सिक्किम, त्रिपुरा और मेघालय में अब तक एक भी कोरोना वायरस केस दर्ज नहीं हुआ है। असम में 26 कोरोनोवायरस रोगी देखे गए हैं जबकि मणिपुर में सिर्फ 2, मिजोरम और अरुणाचल प्रदेश में एक-एक COVID-19 मामले हैं। इसके अलावा, केंद्र शासित प्रदेशों दादरा और नगर हवेली और दमन और दीव के साथ-साथ लक्षद्वीप में अब तक कोई भी कोरोनोवायरस के मामले नहीं देखे गए हैं।

स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, सोमवार तक देश में कोरोनो वायरस के मामलों की संख्या बढ़कर 3,666 हो गई। भारत में सक्रिय मामलों की संख्या 3,265 है।

इसे भी पढ़ें: सरकार ने लांच किया ये नया मोबाइल ऐप, 2 मिनट में बताएगा कोरोना वायरस है या नहीं!

महाराष्‍ट्र, तमिलनाडु और दिल्‍ली में सबसे अधिक मामले

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के मुताबिक, महाराष्ट्र में अब तक 690 मामलों के साथ कोविड-19 के सबसे ज्‍यादा मामले आ चुके हैं। इनमें से 42 लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि 45 लोगों की मौत हो चुकी है। दूसरा सबसे अधिक मामलों वाला राज्‍य तमिलनाडु है, जहां संक्रमितों की संख्‍या 571 है, जिनमें 8 ठीक हो चुके हैं और 5 की मौत हुई है। इसके अलावा राष्ट्रीय राजधानी दिल्‍ली में अब तक 503 मामले सामने आ चुके हैं, जिनमें 18 ठीक हो चुके हैं और 7 की मौत हुई है। 

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अनुसार, तमिलनाडु, दिल्‍ली और यूपी समेत कई राज्‍यों में अचानक कोरोना मरीजों की संख्‍या बढ़ने का कारण तबलीगी जमात का आयोजन हैं। हालांकि, सरकार ने कोरोना वायरस को नियंत्रित करने की योजना तैयार की है, क्योंकि कई राज्यों में कोरोनो वायरस के फैलने का खतरा अधिक है।

इसे भी पढ़ें: कोरोना से ठीक हुए अमित और बिहार की अनीता ने सुनाई अपनी 'ट्रीटमेंट' की कहानी, जनता के लिए कही ये बात

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने 20 पेज के रणनीति दस्तावेज में कहा है कि कई राज्यों, विशेषकर केरल, महाराष्ट्र, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, पंजाब, कर्नाटक, तेलंगाना और लद्दाख में सामुदायिक तौर पर फैलता दिखाई दे रहा है। अब तक 211 जिलों में कोविड-19 मामले देखने को मिल रहे हैं और आगे फैलने का खतरा बहुत अधिक है।

Read More Articles On Coronavirus In Hindi

Disclaimer