हर समय तनाव, चिंता, नींद न आना और वजन घटना आदि एड्रिनल फटीग के लक्षण हो सकते हैं, जानें इसे कैसे ठीक करें

ज्यादा तनाव लेने के कारण एड्रिनल फटीग की समस्या होती है, जिसके संकेत बहुत सामान्य हैं। जानें एड्रिनल फटीग के लणक्ष, कारण और इसे ठीक करने का तरीका।

Sheetal Bisht
Written by: Sheetal BishtPublished at: Sep 01, 2020
हर समय तनाव, चिंता, नींद न आना और वजन घटना आदि एड्रिनल फटीग के लक्षण हो सकते हैं, जानें इसे कैसे ठीक करें

क्या आपको भी अक्सर शरीर में दर्द, रात में नींद न आने, पेट की समस्याएं और मूड खराब रहने की शिकायत रहती है? ये समस्याएं बहुत कॉमन हैं, खासकर 40 की उम्र के बाद महिलाओं में ये समस्याएं बहुत देखने को मिलती हैं। अक्सर लोगों को लगता है कि ये कोई समस्या नहीं, बल्कि यूं ही है। लेकिन आपको बता दें कि ये समस्याएं एड्रिनल फटीग का संकेत हो सकती हैं। हमारे शरीर में एक एड्रिनल ग्लैंड होता है, जो शरीर के लिए कई महत्वपूर्ण हार्मोन्स रिलीज करता है। जब ये एड्रिनल ग्लैंड ठीक से काम नहीं कर पाता है, तो कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं होती हैं। इन्हें ही एड्रिनल फटीग कहते हैं।

एड्रिनल फटीग क्या है?

एड्रिनल ग्लैंड्स कई बहुत महत्वपूर्ण हार्मोन्स का उत्पादन करती हैं, जिनमें फैट बर्न करने वाले प्रोटीन बनाने, शरीर में ब्लड शुगर को मेनटेन रखने, ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने आदि में इसका बड़ा रोल होता है। आमतौर पर एड्रिनल ग्लैंड तक ठीक से काम नहीं कर पाता है, जब आप बहुत ज्यादा तनाव लेते हैं। इसके कारण ही शरीर में एनर्जी की कमी महसूस होती है, थकान जैसा फील होता है और अन्य समस्याएं होती हैं, जिन्हें एड्रिनल फटीग कहा जाता है।

इसे भी पढ़ें: इन दिनों हर समय थकान और चिंता में डूबे रहना कहीं 'क्वाटंराइन फटीग' तो नहीं, जानें लक्षण और रोकने के आसान तरीके

एड्रिनल फटीग के लक्षण

  • हर समय थकान रहना
  • रात में अच्छी नींद न आना और देर तक जागना
  • बहुत अधिक मीठी चीजें खाने का मन करना
  • बहुत नमक खाने का मन करना
  • अचानक बिना कारण शरीर का वजन घटने लगना
  • निराशा सा महसूस होना

चूंकि ये सभी समस्याएं सिर्फ एड्रिनल फटीग नहीं, बल्कि सैकड़ों और बीमारियों के कारण भी हो सकती हैं, इसलिए अगर समस्या लंबे समय से है, तो डॉक्टर से मिलकर उचित जांच कराना ही सबसे सही है।

क्यों होता है एड्रिनल फटीग?

जब आप बहुत ज्यादा तनाव लेते हैं, तो आपके एड्रिनल ग्लैंड्स रेगुलर हार्मोन्स की जगह कॉर्टिसोल और एड्रेनेलिन हार्मोन्स रिलीज करने लगते हैं, जिसके कारण आपका ब्लड प्रेशर और हार्ट रेट बढ़ने लगता है। इसी के कारण आपके शरीर में अचानक एनर्जी की कमी होने लगती है और आप थका हुआ महसूस करते हैं या दूसरी समस्याएं शुरू हो जाती हैं।

इसे भी पढ़ें: सोने से पहले पीजिए बस 1 चम्मच ये होममेड आयुर्वेदिक मिश्रण, रात में आएगी अच्छी नींद और दूर होगी थकान

एड्रिनल फटीग को आप घर पर कैसे ठीक कर सकते हैं?

जैसा कि ऊपर बताया जा चुका है कि अगर आपको एड्रिनल फटीग जैसे लक्षण दिखते हैं, तो संभव है कि वो किसी अन्य बीमारी का शुरुआती संकेत हो, इसलिए एक बार डॉक्टर से मिलकर सलाह लेना बहुत जरूरी है। लेकिन अगर आपको एड्रिनल फटीग की ही समस्या है, तो इसे कुछ तरीकों से घर पर ही ठीक किया जा सकता है।

  • अपनी डाइट में नमक और चीनी वाली चीजें घटाकर नैचुरल चीजों को शामिल करें।
  • फल, सब्जियां, नट्स, अनाज आदि ज्यादा खाएं क्योंकि इनमें कार्ब्स होते हैं, जो एनर्जी देते हैं और ब्लड शुगर नहीं बढ़ाते हैं।
  • प्रॉसेस्ड फूड्स बहुत कम खाएं या न ही खाएं।
  • चाय, कॉफी दिन में 2-3 कप से ज्यादा न पिएं।
  • चूंकि ये समस्या मुख्य रूप से तनाव से शुरू होती है इसलिए ध्यान और योगासन इसमें बड़े फायदेमंद हैं।

कुल मिलाकर एड्रिनल फटीग कोई मेडिकल कंडीशन नहीं है, इसलिए अगर आप इसके लक्षणों को महसूस करते हैं, तो इसका सीधा सा मतलब है कि आपके खानपान में गड़बड़ी है और आप तनाव ले रहे हैं। इसलिए खानपान सही कर लें और तनाव कम कर लें तो ये समस्या दूर हो जाती है।

Read More Articles on Other Diseases in Hindi

Disclaimer