इन्हेलर के इस्तेमाल में लोग अक्सर करते हैं ये 6 गलतियां, जानें इस्तेमाल का सही तरीका

अस्थमा के मरीजों को इन्हेलर का इस्तेमाल बेहद जरूरी होता है लेकिन इन्हेलर के इस्तेमाल के दौरान होने वाली इन गलतियों से बचना चाहिए।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Jun 09, 2021
इन्हेलर के इस्तेमाल में लोग अक्सर करते हैं ये 6 गलतियां, जानें इस्तेमाल का सही तरीका

इन्हेलर (Inhelar) का इस्तेमाल अस्थमा और सांस की समस्याओं से जूझ रहे मरीज अक्सर करते हैं। इनहेलेशन थेरेपी (Inhelation Therapy) अस्थमा के मरीजों के लिए सबसे जरूरी होती है। किसी भी चीज का इस्तेमाल अगर सही तरीके से नहीं किया जाता है तो उसका सही परिणाम भी नहीं मिलता, ठीक उसी प्रकार अगर आप भी अस्थमा जैसी बीमारियों से पीड़ित हैं और इन्हेलर का इस्तेमाल सही तरीके से नहीं करते तो इसका लाभ भी आपको नही मिलेगा। इन्हेलर के इस्तेमाल को लेकर हुए कई अध्ययनों में यह पाया गया है कि इसका इस्तेमाल करने वाले लगभग 70 फीसदी लोग सही तरीके से इस्तेमाल नहीं करते हैं। दवा का प्रयोग करने के लिए इस्तेमाल होने वाले उपकरणों के इस्तेमाल में रोगी कम से कम एक गलती तो करते ही हैं इस बात की पुष्टि ह्यूस्टन, टेक्सास के बायलर कॉलेज ऑफ मेडिसिन में हुए एक अध्ययन ने की है। इन गलतियों की वजह से इन्हेलर के माध्यम से दवाएं सही तरीके से फेफड़े तक नहीं पहुँच पाती है। अस्थमा मरीजों के लिए यह बेहद जरूरी है कि वे इन्हेलर का इस्तेमाल सही तरीके से करें जिससे उनके फेफड़ों तक दवा की पूरी मात्रा पहुंच सके। आइए जानते हैं इन्हेलर के इस्तेमाल में होने वाली 8 गलतियों (Mistakes While Using Inhaler) के बारे में जिनसे बचना सभी अस्थमा मरीजों के लिए उपयोगी होता है।

इन्हेलर के इस्तेमाल में होने वाली 6 गलतियां (Common Mistakes While Using Inhaler)

inhaler

लगभग 90 फीसदी अस्थमा के मरीजों को इन्हेलर के इस्तेमाल की सलाह चिकित्सकों द्वारा दी जाती है। इन्हेलर्स का गलत ढंग से इस्तेमाल किए जाने पर अस्थमा पर नियंत्रण नहीं हो पाता है जिसकी वजह से मरीजों को तमाम दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। वैसे तो इन्हेलर्स का इस्तेमाल करना लोगों को आसान लग सकता है लेकिन इसे सही तरीके से इस्तेमाल करना आसान नही होता है। अस्थमा जैसी गंभीर समस्या में इन्हेलर्स के सहारे ही नियंत्रण पाया जाता है, अकेले भारत में लगभग 35 मिलियन लोग अस्थमा की समस्या से पीड़ित हैं। ऐसे में इनहेलेशन की सही जानकारी होना बेहद जरूरी है। अगर आप भी इन्हेलर का इस्तेमाल करते हैं तो इन 6 गलतियों से जरूर बचना चाहिए।

1. नीचे बैठकर इन्हेलर का इस्तेमाल (Using Inhaler While Sitting Down)

बहुत से लोग इन्हेलर का इस्तेमाल नीचे बैठकर करते हैं जो कि गलत तरीका माना जाता है। बैठकर इन्हेलर का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए, यह इन्हेलर के इस्तेमाल में होने वाली सबसे आम गलती में से एक है। अगर आप इन्हेलर का इस्तेमाल नीचे बैठकर करते हैं तो इस दौरान आपके फेफड़ों में सही तरीके से सांस नहीं जा पायेगी। वहीं इन्हेलर के इस्तेमाल के दौरान खड़े रहने से फेफड़ों में पूरी तरह से सांस जाती है और सांस को छोड़ते वक्त फेफड़ों में दबाव नहीं पड़ता है इसलिए हमेशा इन्हेलर के इस्तेमाल के दौरान खड़े रहने की कोशिश करनी चाहिए। बैठकर इसका इस्तेमाल करने से दवा सही तरीके से फेफड़ों तक नहीं पहुंच पायेगी।

इसे भी पढ़ें: विश्व अस्थमा दिवस 2021 : कोरोना में अस्थमा के मरीज रखें इन बातों का ध्यान, डॉक्टर से जानें घर पर बचाव के टिप्स

2. इन्हेलर के कनस्तर इस्तेमाल से पहले हिलाना चाहिए (Shake the Canister Before Use)

inhaler

हमेशा इन्हेलर का इस्तेमाल करने से पहले उसके कनस्तर को सही तरीके से हिलाना जरूर चाहिए। चूंकि इन्हेलर सांस लेने में आपकी मदद करता है और हवा को फेफड़ों तक भेजने में सहायक होता है। इसलिए इसके इस्तेमाल से पहले कनस्तर को अच्छी तरह से हिलाना जरूर चाहिए। कनस्तर को अच्छी तरह से हिलाने के बाद इस्तेमाल करने से दवाओं की सही मात्रा आपके फेफड़ों तक पहुंचती है। अगर आप एक से अधिक दवाओं का इस्तेमाल इन्हेलर के माध्यम से एक साथ कर रहे हैं तो इसे हिलाने के बाद ही प्रयोग में लाना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: अस्थमा के मरीजों के लिए खास डाइट प्लान, जो बीमारी से उबरने में करेगा उनकी मदद

3. इन्हेलर को पकड़ने का तरीका (Orientation of Inhaler)

अस्थमा के मरीज जो इन्हेलर का इस्तेमाल करते हैं उनके द्वारा इसके इस्तेमाल के दौरान वाली प्रमुख गलतियों में एक है इसके पकड़ने का तरीका। इन्हेलर के इस्तेमाल के दौरान इसे पकड़ने का तरीका सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, अगर आप इस्तेमाल के वक्त इन्हेलर को गलत तरीके से होल्ड करते हैं तो इसका उचित फायदा आपको नहीं मिलेगा। कुछ लोग इन्हेलर का प्रयोग करते समय इसे झुक कर या तिरछा करके पकड़ते हैं। इसे सही तरीके से इस्तेमाल न करने से दवाएं फेफड़ों में जाने की जगह जीभ या मुहं से चिपक सकती हैं। इसलिए इसका इस्तेमाल करते वक्त इसे पकड़ने के तरीके का ध्यान जरूर रखना चाहिए। इन्हेलर को हमेशा सीधा पकड़ना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: अस्थमा रोगियों के लिए फायदेमंद है धनुरासन, जानिए इसे करने का सही तरीका

4. मीडियम डोज इन्हेलर के साथ स्पेसर का उपयोग नहीं करना (Not using a spacer with an Medium Dose Inhaler)

inhaler

इन्हेलर के इस्तेमाल के दौरान इस बात का ध्यान जरूर रखा जाना चाहिए कि मीडियम डोज इन्हेलर का इस्तेमाल करते वक्त स्पेसर का उपयोग किया जाए। स्पेसर दवा को फेफड़ों तक वायुमार्ग के द्वारा पहुंचाता है। इन्हेलर को स्पेसर में डालने के बाद दवा को डालें और अच्छी तरह से सांस लेते हुए इन्हेलर का इस्तेमाल करें। इससे आपकी दवा की सही खुराक फेफड़ों तक पहुंचेगी। स्पेसर का इस्तेमाल न करने से दवा की उचित खुराक फेफड़ों तक नही पहुंच पाती है जिससे अस्थमा जैसी बीमारी पर काबू पाने में सफलता नही मिलती।

इसे भी पढ़ें: खाना ठीक से न पचने (अपच) के हो सकते हैं कई कारण, जानें इससे होने वाली 5 समस्याएं

5. इन्हेलर की सामने दांत या जीभ का होना (Tongue or teeth in the way of Inhaler)

इन्हेलर का इस्तेमाल करते समय जीभ या दांत उसके रास्ते में नही आना चाहिए। ऐसा होने से दवा सही तरीके से फेफड़ों तक नही पहुंच पाती है। इन्हेलर का खुला हुआ भाग जिसके माध्यम से दवा वायुमार्ग से होकर फेफड़ों तक जाती है उसे साफ होना एहद जरूरी है। अगर उसके इस्तेमाल के दौरान दांत या जीभ रास्ते में आती है तो इसकी वजह से दावा जीभ या दांत में फंसकर रुक जाएगी और दवा की सही खुराक फेफड़ों तक नहीं पहुँच पाएगी।

6. इस्तेमाल करते वक्त बहुत देर से या जल्दी सांस लेना (Breathe in Too Late or Too Soon While Using)

inhaler

इन्हेलर का इस्तेमाल करते समय सांस लेने का तरीका भी महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है। अगर आप इन्हेलर के इस्तेमाल के दौरान पहले या बाद में सांस लेते हैं तो इसका प्रभाव जरूर पड़ता है। एक इन्हेलर सामान्यतः आधे सेकेंड से भी कम समय में खुराक रिलीज करता है इस दौरान अगर आप तेजी से सांस लेते हैं तो दवा फेफड़ों में जाने के बजाय आपके मुहं में ही रह सकती है। इसके अलावा अगर आप इन्हेलर का बटन दबाने से पहले ही फेफड़ों में सांस भर देते हैं तो ऐसे में भी दवा आपके फेफड़ों तक सही तरीके से नहीं पहुंच पाएगी। इन्हेलर में स्पेसर जोड़ना इस मामले में फायदेमंद होता है।

इसे भी पढ़ें: कोरोनाकाल में अस्थमा रोगी घर पर करें ये 3 आसान योग मुद्राएं, एक्सपर्ट से जानें लाभ और करने का तरीका

हमें उम्मीद है कि इन्हेलर के इस्तेमाल से जुड़ी यह जानकारी आपको पसंद आयी होगी। इन्हेलर का इस्तेमाल करते समय होने वाली इन गलतियों से बचना चाहिए। अगर आपके पास इन्हेलर के इस्तेमाल से जुड़ा कोई सवाल है तो उसे आप कमेंट बॉक्स में लिखकर हमें भेज सकते हैं। हम आपके सवालों के जवाब देने की कोशिश जरूर करेंगे।

Read More Articles On Miscellaneous in Hindi

Disclaimer