Doctor Verified

नेपाल में हैजा फैलने से गोल-गप्पे पर लगा बैन, जानें बारिश में आप कैसे बचें हैजा से

नेपाल में हैजा फैलने के कारण पानी-पूरी को बैन कर दिया गया है, जानें हैजा के बीमारी के लक्षण और बचाव के टिप्स।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Jul 01, 2022Updated at: Jul 01, 2022
नेपाल में हैजा फैलने से गोल-गप्पे पर लगा बैन, जानें बारिश में आप कैसे बचें हैजा से

Pani Puri Banned in Nepal: नेपाल में इन दिनों हैजा की बीमारी तेजी से फैल रही है। नतीजन नेपाल की राजधानी काठमांडू में प्रशासन ने गोल-गप्पे या पानी-पूरी की बिक्री पर बैन लगा दिया है। जानकारी के मुताबिक दर्जनों लोगों में हैजा (Cholera) की पुष्टि होने के बाद जांच में यह पाया गया कि गोल-गप्पे के पानी में हैजा के जीवाणुओं की वजह से लोगों में यह समस्या हुई है। काठमांडू समेत आसपास के कई हिस्सों में हैजा के मामले दर्ज हुए हैं। तेजी से फैल रही हैजा की बीमारी को देखते हुए नेपाल सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय ने अलर्ट भी जारी किया है। ललितपुर मेट्रोपॉलिटन सिटी (एलएमसी) ने गोल-गप्पे में इस्तेमाल किये जाने वाले पानी में हैजा के बैक्टीरिया पाए जाने की पुष्टि की थी जिसके बाद पानी-पूरी समेत अन्य चटपटी चीजों की बिक्री पर बैन लगाया गया है। सरकार की तरफ से हैजा को कंट्रोल करने के लिए सख्त कदम उठाए जा रहे हैं।  

क्या है हैजा की बीमारी? (Cholera in Hindi)

हैजा या कॉलरा बैक्टीरियल संक्रमण के कारण होने वाली बीमारी है। बाबू ईश्वर शरण हॉस्पिटल के जनरल फिजिशियन डॉ समीर के मुताबिक यह बीमारी ज्यादातर दूषित पानी के इस्तेमाल से फैलती है। दूषित पानी के अलावा खाने में भी हैजा के जीवाणु पाए जा सकते हैं। कच्चे फल और सब्जियों में इस संक्रमण के फैलने का खतरा ज्यादा रहता है। हैजा का संक्रमण होने पर मरीज को गंभीर दस्त और डिहाइड्रेशन की समस्या हो सकती है। समय पर इलाज न होने की स्थिति में मरीज की मौत भी हो सकती है।

इसे भी पढ़ें: गोलगप्पे के खट्टे-चटपटे पानी में कहीं आप तो नहीं पी रहे धीमा जहर? ऐसे पहचानें एसिड वाले मिलावटी पानी-पूरी को

Cholera outbreak in nepal

हैजा की बीमारी के प्रमुख कारण (Cholera Causes in Hindi)

हैजा या कॉलरा की बीमारी गंदे और दूषित पानी व दूषित भोजन के सेवन से फैलती है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार हैजा की बीमारी डायरिया या कॉलरा का गंभीर रूप है। हैजा की बीमारी के कुछ प्रमुख कारण इस प्रकार से हैं-

  • गंदे और दूषित पानी की वजह से
  • दूषित भोजन का सेवन
  • गंदे पानी में बनाये गए फूड्स से
  • पेट में एसिड की कमी
  • बासी खाने की वजह से

इन लोगों में हैजा की बीमारी का खतरा सबसे ज्यादा रहता है-

  • डायरिया के मरीजों में दूषित पानी या भोजन के वजह से हैजा का खतरा बढ़ जाता है।
  • ऐसे इलाके में रहने वाले लोगों में जहां दूषित पानी के स्रोत हैं।
  • सी-फूड्स जैसे- मछली, प्रॉन्स आदि के सेवन की वजह से।
  • गंदे जगहों पर उगाई गयी सब्जियां और फल खाने से।
Cholera outbreak in nepal

हैजा के लक्षण (Cholera Symptoms in Hindi)

विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक हैजा की बीमारी होने पर 80 प्रतिशत से ज्यादा मरीजों में कोई लक्षण नहीं दिखाई देते हैं। वहीं 20 प्रतिशत मरीजों में बीमारी गंभीर होने पर कई लक्षण दिखते हैं। हैजा होने पर दिखने वले कुछ प्रमुख लक्षण इस तरह से हैं-

  • डायरिया या बहुत पतला मल आने की समस्या
  • उल्टी और मतली
  • बहुत ज्यादा प्यास लगना
  • ब्लड प्रेशर लो होना
  • मांसपेशियों में ऐंठन या दर्द
  • किडनी फेलियर
  • स्किन से जुड़ी समस्याएं
  • डिहाइड्रेशन की समस्या

हैजा से बचाव के टिप्स (Prevention Tips from Cholera in Hindi)

हैजा से बचाव के लिए मरीज को सबसे पहले दूषित पानी और दूषित भोजन का सेवन करने से बचना चाहिए। अगर आपको हैजा के लक्षण दिख रहे हैं तो सबसे पहले डॉक्टर की सलाह लें। हैजा से बचाव के लिए आप इन बातों का ध्यान जरूर रखें-

  • साफ पानी पिएं और पीने के पानी को अच्छी तरह से उबालकर ठंडा करने के बाद पिएं।
  • संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से बचें।
  • हैजा के टीके जरूर लगवाएं।
  • मक्खियों को जमा न होने दें और इनसे बचने की कोशिश करें।

हैजा की बीमारी से बचने के लिए सड़क किनारे मिलने वाले दूषित भोजन या फूड्स का सेवन करने से बचें। डायरिया होने पर लापरवाही बिलकुल भी न बरतें और साफ व शुद्ध पानी और भोजन का सेवन करें।

(Image Courtesy - Freepik)

 
Disclaimer