वेट लिफ्टिंग करने से बदल सकती है आपकी जिंदगी

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Feb 11, 2015
Quick Bites

  • नियमित रूप से वेट लिफ्टिंग से बढ़ता है फोकस।
  • दिल की सेहत के लिए भी फायदेमंद है वेट लिफ्टिंग।
  • इसे करने से स्मोकिंग छोड़ने में मिलती है मदद।
  • महिलाओं को मानसिक शक्ति में होता है इज़ाफा।

वेट लिफ्टिंग यानी भार वहन करने से आपके पूरे शरीर पर काफी सकारात्मक प्रभाव पड़ते हैं। वेट लिफ्टिंग अच्छे स्वास्थ्य के लिए किए जाने वाले व्यायाम का ही एक हिस्सा है। कुछ लोग, बाकी व्यायाम करते हैं लेकिन वेट लिफ्टिंग से बचते हैं। लोगों में ये गलत धारणा होती है कि वेट लिफ्टिंग की वजह से स्वास्थ्य को अधिक लाभ नहीं होता बल्कि जोड़ों में दर्द होता है और महिलाओं का शरीर भारी-भरकम हो जाता है। ये धारणाएं बेबुनियादी हैं।

अगर आप चाहते हैं कि आप फिट रहें, आपका शरीर मजबूत व स्वस्थ रहे, साथ ही आपकी चर्बी कम हो, तो आपको वेट लिफ्टिंग जरूर करनी चाहिए। वेट लिफ्टिंग आपकी जिंदगी को काफी तरह से बदल देती है। आइये जानते हैं किस तरह।

 

weight lifting in hindi

 

वेट लिफ्टिंग से बढ़ता है फोकस

आज के समय में हम सोशल मीडिया, वर्कलोड और कभी न खत्म होने वाली टू डू लिस्ट में उलझे रहते हैं। जिम में आप सीखते हैं कि आप किस तरह से सब कुछ एक तरफ कर सकते हैं और आपका सिर्फ एक लक्ष्य रह जाता है, अपनी सेहत को बेहतर बनाना।

अधिक उम्र तक जीते हैं

यूं तो कई सामान्य एक्सरसाइज से आयु बढ़ती है, लेकिन खासतौर पर वेट लिफ्टिंग से आपकी उम्र में कुछ अतिरिक्त सालों का इज़ाफा होता है। यूसीएलए के 2014 की रीसर्च के अनुसार, उम्र बढ़ने के बाद भी मांसपेशियों के अधिक होने पर समय से पहले मृत्यु होने की आशंका कम होती है।

 

Gym in Hindi

 

दिल के लिये फायदेमंद

हालांकि इसका यह कार्डियो एक्सरसाइज नहीं है, लेकिन वेट लिफ्टिंग के लाभ कार्डियोवस्कुलर एक्सरसाइज जैसे ही होते हैं। ऐसा देखा गया है कि स्ट्रैंथ ट्रेनिंग रुटीन से दवाओं जितना ब्लड प्रेशर लो होता है। अमेरिकल हार्ट एसोसिएशन वयस्कों को सप्ताह में दो स्ट्रैंथ ट्रेनिंग सेशन लेने की सलाह देता है।

बीमारियों से बचाव

वेट लिफ्टिंग बीमारियों से भी सुरक्षा प्रदान करती है। वेट लिफ्टिंग करने से इम्यून सिस्टम को मजबूती मिलती है, और यह घुटनों के गठिया या अन्य गठिया रोगों की शुरुआत को भी रोकती है। उम्र के साथ-साथ मांसपेशियां कमजोर होने लगती हैं। जिससे हड्डियों और जोड़ों पर चोट का खतरा मंडराने लगता है। वेट लिफ्टिंग से हड्डियां मजबूत होती हैं और पहले से कहीं अधिक स्वस्थ नजर आने लगती हैं। वेट लिफ्टिंग से जोड़ों पर उतना दबाव नहीं पड़ता जितना रनिंग या जंपिंग जैसी ऐक्सरसाइज से पड़ता है। इसलिए, अगर आप हमेशा के लिए बीमारियों से दूर रहना चाहते हैं तो अपने व्यायाम में वेट लिफ्टिंग को भी शामिल कर लें।

तनाव होता दूर

अगर आपको दफ्तर, परिवार या फिर किसी और वजह से तनाव महसूस हो रहा है तो वेट लिफ्टिंग आपके लिए एक समाधान बन सकता है। रिसर्च बताती हैं कि वेट लिफ्टिंग से तनाव दूर होता है। दरअसल, वेट लिफ्टिंग के दौरान आपका ध्यान दूसरे मामलों से हट जाता है। आपका शरीर एंडोर्फिन हार्मोन्स का स्राव करने लगता है जो कि शक्तिशाली प्राकृतिक तनाव विरोधी हार्मोन है। ये हार्मोन तनाव कम करने के साथ साथ दर्द से राहत देता है और आत्म विश्वास भी बढ़ा देता है। ऐसे में आप ज्यादा खुशी महसूस करते हैं और अपने आप से ज्यादा संतुष्ट हो जाते हैं।

 

man in hindi

 

स्मोकिंग छोड़ने में सहायक

वेटलिफ्टिंग से न केवल आपकी मसल्स बनेंगी, बल्कि स्मोकिंग छोड़ने की संभावना भी दोगुनी हो जाएगी। जर्नल निकोटीन एंड टोबैको रिसर्च में प्रकाशित शोध के अनुसार वेटलिफ्टिंग करने से स्मोकिंग छोड़ने में काफी मदद मिलती है।

महिलाओं को मानसिक शक्ति

वेट लिफ्टिंग करने से अधिक उम्र की महिलाओं का मानसिक विकास होता है। जनवरी, 2010 को "दि न्यूयॉर्क टाइम्स" में प्रकाशित एक लेख में वेट लिफ्टिंग से संबंधित एक स्टडी का जिक्र था जिसमें बताया गया था कि अधिक उम्र की महिलाएं अगर वेट लिफ्टिंग करती हैं तो उनका दिमाग बेहतर तरीके से काम करना शुरू हो जाता है। रिसर्च बताती है कि 65-77 साल की महिलाएं डंबल्स और वेट लिफ्टिंग मशीन के साथ अगर एक या दो घंटे ऐक्सरसाइज करती हैं तो एक साल के बाद उनका संज्ञानात्मक कार्य बढ़ जाता है। इसके अलावा महिलाओं की जोड़ो की समस्या में भी वेट लिफ्टिंग से फायदा मिल सकता है।

इन बिन्दुओं को पढ़कर आपको ये स्पष्ट हो गया होगा कि वेट लिफ्टिंग सिर्फ मसल्स बढ़ाने के लिए ही नहीं की जाती बल्कि ये आपकी जिंदगी में बहुत तरीकों से फायदा पहुंचाती है।

Image Source - Getty Images

Read More Articles On Sports and Fitness in Hindi

Loading...
Is it Helpful Article?YES8 Votes 1713 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK