Doctor Verified

क्या प्रेगनेंसी में पपीता खाने से गर्भपात हो सकता है ? डॉक्टर से जानें ये मिथक है या सच्चाई

प्रेग्नेंसी के दौरान आप सुरक्षित तरीके से पपीते का सेवन कर सकते हैं। बस आपको कुछ खास बातों का ध्यान रखना चाहिए ताकि आपको किसी तरह की परेशानी न हो। 

Dipti Kumari
Written by: Dipti KumariPublished at: May 04, 2022Updated at: May 04, 2022
क्या प्रेगनेंसी में पपीता खाने से गर्भपात हो सकता है ? डॉक्टर से जानें ये मिथक है या सच्चाई

प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं को काफी सावधानी बरतने की जरूरत होती है क्योंकि इस दौरान शरीर में कई तरह के बदलाव आते हैं। इसके अलावा इन हार्मोनल बदलाव के कारण उल्टी, मलती और शरीर में दर्द की समस्या भी हो सकती है। इसके अलावा सही मात्रा में प्रतिदिन पोषक तत्वों का सेवन न करने से बच्चे और मां दोनों को नुकसान हो सकता है। साथ ही इस दौरान आपको अपनी एक्टिविटी पर भी ध्यान देना चाहिए। अगर आप बहुत ज्यादा या कम फेजिकल एक्टिविटी कर रही हैं, तो इससे भी आपको नुकसान हो सकता है। आमतौर पर खाने-पीने के मामले में आपने ये बात कई बार सुना होगा कि प्रेग्नेंसी के दौरान पपीता खाने से गर्भपात हो सकता है या कुछ गंभीर समस्याएं आ सकती है। ऐसा कहा जाता है कि पपीता गर्भावस्था में खाना सुरक्षित नहीं होता है। ऐसा भी माना जाता है कि पपीता गर्म खाद्य पदार्थों में आता है, तो अत्यधिक गर्मी के कारण भी गर्भपात या समय से पहले प्रसव होने की आंशका रहती है। हालांकि हम आपको बताते दें कि ये पारंपरिक तथ्य है। इसके उल्ट आप प्रेग्नेंसी के दौरान बिना किसी चिंता के पपीता का सेवन कर सकते हैं। यह शरीर के बेहद फायदेमंद होता है। इससे जुड़े मिथक को दूर करने के लिए हमने बात की नई दिल्ली फोर्टिस ला फेम जीके II अस्पताल की सीनियर कंसल्टेंट डॉक्टर जूही जैन से। 

क्या गर्भावस्था के दौरान पपीता खा सकते हैं ?

डॉक्टर जूही के अनुसार आप गर्भावस्था के दौरान बिना किसी चिंता के पके पपीते का सेवन कर सकते हैं। संतुलित मात्रा में इसका सेवन करने से आपको कोई नुकसान नहीं होता है बल्कि यह सेहत के लिए काफी फायदेमंद होता है लेकिन इसका अधिक मात्रा में सेवन करना सुरक्षित नहीं होता है। दूसरी बात आपको आधा पका या कच्चा पपीता नहीं खाना चाहिए क्योंकि इसमें लेटेक्स पाया जाता है, जो सफेद दूधिया रंग का होता है। यह पोस्टराग्लैंडीन के स्राव के साथ गर्भाशय में संकुचन पैदा कर सकता है, जिससे गर्भपात का खतरा बढ़ सकता है। इसके अलावा पपीता खाने से शरीर का तापमान बढ़ता है या नहीं इस बात का कोई ठोस आधार नहीं है। तो, अगर आप भी पपीता खाने के बारे में ऐसा सोचती है कि इसके सेवन से आपको या बच्चे को कोई नुकसान हो सकता है, तो ये बिल्कुल मिथक है। आप इसे पूरी प्रेग्नेंसी के दौरान सुरक्षित रूप से खा सकते हैं। 

miscarriage-papaya

Image Credit- Freepik

 प्रेग्नेंसी के दौरान कितनी मात्रा में पपीता खाना चाहिए ?

प्रेग्नेंसी के दौरान आपको किसी भी चीज का बेहद संतुलित मात्रा में सेवन करना चाहिए। इससे आपको भरपूर पोषण मिलता है और कोई नुकसान भी नहीं होता है। एक दिन में आपको एक बाउल पका पपीता खाना चाहिए। यह पूरी तरह से सुरक्षित रहता है। इसके अलावा आपको पपीता हमेशा साफ और ताजा लेना चाहिए। उसमें दाग-धब्बे या बासीपन न हो। पपीता के छिलके को साफ करके उसके बीजों को हटाकर खाने की कोशिश करें। इससे आपको भरपूर फायदा मिलता है। 

इसे भी पढे़ं- प्रेगनेंसी में खाली पेट क्या खाना चाहिए और क्या नहीं? डायटीशियन से जानें सुबह के पहले आहार की पूरी जानकारी

miscarriage-papaya

Image Credit- Freepik

प्रेग्नेंसी के दौरान पपीता खाने के फायदे 

प्रेग्नेंसी के दौरान पपीता खाने के कई फायदे है। सबसे पहले तो इसमें विटामिन सी और ए पाया जाता है, जो आपके इम्यून सिस्टम और आंखों के लिए काफी अच्छा होता है। साथ ही यह पेट से जुड़ी समस्याओं में काफी लाभकारी होता है। इसमें मौजूद फाइबर आपको अपच और कब्ज की समस्या से छुटकारा दिलाता है। साथ ही इससे उल्टी और मतली की दिक्कत में भी आराम मिल सकता है। अच्छी तरह से पके हुए पपीते में कैल्शियम, मैग्नीशियम, पोटेशियम, फोलेट और फाइबर पाए जाते हैं, जो हृदय समस्याओं में भी फायदेमंद होता है। यह बच्चे के विकास के लिए भी उपयोगी साबित हो सकता है। पपीता का सेवन वजन को नियंत्रित करने में भी मदद करता है और इससे स्किन भी हेल्दी रहती है। अगर आप स्तनपान कराती हैं, तो उस दौरान भी आप पपीते का सेवन सुरक्षित रूप से कर सकती हैं। इसके अलावा कोई खास समस्या या बीमारी होने पर आप बिना डॉक्टर की सलाह के पपीता का सेवन न करें क्योंकि ये आपके लिए हानिकारक हो सकता है। 

Main Image Credit- Freepik

Disclaimer