Doctor Verified

क्‍या होठों पर ग्‍ल‍िसरीन लगा सकते हैं? जानें डॉक्‍टर से

होठों को मुलायम बनाने के ल‍िए ग्‍ल‍िसरीन का इस्‍तेमाल कर सकते हैं या नहीं? जानते हैं डॉक्‍टर से इस सवाल का सही जवाब।

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: Oct 25, 2022 12:08 IST
क्‍या होठों पर ग्‍ल‍िसरीन लगा सकते हैं? जानें डॉक्‍टर से

मौसम में ठंंड बढ़ने का असर त्‍वचा पर भी पड़ता है। ठंड के द‍िनों में होठों की त्‍वचा रूखी हो जाती है। इस मौसम में होंठ फटने भी लगते हैं। बहुत से लोग होठों को मुलायम बनाने के ल‍िए ग्‍लि‍सरीन का इस्‍तेमाल करते हैं। ग्‍ल‍िसरीन का प्रयोग होठों की त्‍वचा को मुलायम बनाने के ल‍िए क‍िया जाता है। लेक‍िन होठों की त्‍वचा, चेहरे की त्‍वचा से अलग होती है। ऐसे में क्‍या होठों पर ग्‍ल‍िसरीन लगानी चाह‍िए या नहीं? इस सवाल का जवाब आपको आगे लेख में म‍िलेगा। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने ओम स्किन क्लीनिक, लखनऊ के वरिष्ठ कंसलटेंट डर्मेटोलॉज‍िस्‍ट डॉ देवेश मिश्रा से बात की।

glycerin for lips

होठों के ल‍िए ग्‍ल‍िसरीन के फायदे  

  • ग्‍ल‍िसरीन को होठों पर लगाने से होठों का नैचुरल कलर बचाने में मदद म‍िलती है।
  • होठों का रूखापन दूर करने के ल‍िए ग्‍ल‍िसरीन का इस्‍तेमाल फायदेमंद माना जाता है।     
  • होठों को मुलायम और स्‍वस्‍थ बनाने के ल‍िए ग्‍ल‍िसरीन फायदेमंद होती है। 
  • होठों पर पपड़ी जमने और डेड सेल्‍स जैसी समस्‍या को खत्‍म करने के ल‍िए ग्‍ल‍िसरीन का इस्‍तेमाल क‍िया जाता है।   

होठों के ल‍िए ग्‍ल‍िसरीन के नुकसान 

  • ग्‍ल‍िसरीन के ज्‍यादा इस्‍तेमाल से होठों में जलन महसूस हो सकती है। 
  • होठों पर सूजन का कारण भी ग्‍ल‍िसरीन का ज्‍यादा इस्‍तेमाल हो सकता है।   
  • ग्‍ल‍िसरीन के इस्‍तेमाल से होठों पर खुजली महसूस हो सकती है।

इसे भी पढ़ें- स्किन पर ग्लिसरीन कब और कैसे लगाना चाहिए? जानें इसके इस्तेमाल का सही तरीका और फायदे

क्‍या होठों पर ग्‍ल‍िसरीन लगा सकते हैं?

हां, आप होठों पर ग्‍ल‍िसरीन का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। लेक‍िन ध्‍यान रखें क‍ि ग्‍ल‍िसरीन की मात्रा ज्‍यादा न हो। कुछ लोगों को ग्‍ल‍िसरीन से खुजली या जलन महसूस होती है। त्‍वचा से जुड़ी समस्‍याओं से बचने के ल‍िए, ग्‍ल‍िसरीन को होठों पर लगाने के बजाय होंठ के थोड़े ह‍िस्‍से में लगाकर पैच टेस्‍ट कर लें। ग्‍ल‍िसरीन एक प्रकार का ट्राइहाइड्रोक्‍सी शुगर एल्‍कोहल है। इसमें न तो कोई गंध होती है और न ही कोई रंग मौजूद होता है। ये एक तरह का च‍िपच‍िपा तरल पदार्थ होता है। ग्‍ल‍िसरीन को एन‍िमल फैट या वनस्‍पत‍ि तेल से न‍िकाला जाता है। इसे होठों पर लगाते समय ध्‍यान रखें क‍ि ग्‍ल‍िसरीन मुंह में न जाए।  

होठों पर ग्लिसरीन कैसे लगाएं?

  • होठों को कॉफी और चीनी के म‍िश्रण से बने स्‍क्रब से साफ कर लें।
  • फ‍िर साफ होठों पर ग्‍ल‍िसरीन लगाएं।
  • होठों पर ग्‍ल‍िसरीन को 20 म‍िनट तक लगाकर रखें फ‍िर पानी से धो लें।
  • फ‍िर होठों पर ल‍िप बॉम या मक्‍खन लगा लें। 
  • रात को सोने से पहले भी होठों पर ग्‍ल‍िसरीन लगा सकते हैं। 

ग्‍ल‍िसरीन के प्रयोग से पहले जान लें सावधान‍ियां 

  • आंख या मुंह के अंदर ग्‍ल‍िसरीन को न लगने दें।
  • म‍िलावटी ग्‍ल‍िसरीन से बचें, अच्‍छे ब्रांड की ग्‍ल‍िसरीन खरीदें।
  • ग्‍ल‍िसरीन के इस्‍तेमाल से पहले एक्‍सपायरी डेट चेक करें।
  • घाव या संक्रमण की स्‍थ‍ित‍ि में ग्‍ल‍िसरीन का इस्‍तेमाल न करें।
  • ग्‍ल‍िसरीन लगाकर धूप में न जाएं।

अगर आपकी त्‍वचा संवेदनशील है, तो डॉक्‍टर की सलाह पर ही ग्‍ल‍िसरीन का इस्‍तेमाल करें। जानकारी पसंद आई हो, तो शेयर करें। 

Disclaimer