World Heart Day 2021: क्या एक्सरसाइज और याेग से कम हो सकता है हृदय रोगों का खतरा? जानें डॉक्टर से

दिल काे स्वस्थ रखना है, ताे आपकाे एक्टिव रहना बहुत जरूरी है। इसके लिए आप एक्सरसाइज या याेग कर सकते हैं। जानें कैसे एक्सरसाइज हृदय राेगाें से बचाता है-

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Sep 23, 2021
World Heart Day 2021: क्या एक्सरसाइज और याेग से कम हो सकता है हृदय रोगों का खतरा? जानें डॉक्टर से

हृदय हमारे स्वास्थ्य का एक अहम अंग है। स्वस्थ रहने के लिए हृदय (Heart) काे स्वस्थ रखना भी बेहद जरूरी है। मासीना हॉस्पिटल की डॉक्टर सबिका आबिदी (Dr Sabika Abidi of Masina Hospital) बताती हैं कि हृदय काे स्वस्थ रखने के लिए जितना जरूरी अच्छी डाइट लेना है, उतना ही जरूरी एक्सरसाइज और याेगा (Exercise and Yoga) काे अपनी लाइफस्टाइल में शामिल करना भी है। आजकल गलत जीवनशैली और खान-पान की वजह से हृदय राेगाें में लगातार बढ़ाेत्तरी हाे रही है। कम उम्र के लाेगाें में भी हृदय से जुड़ी बीमारियां देखने काे मिलती हैं,  इसका मुख्य कारण शारीरिक सक्रियता की कमी है। इसलिए अगर आप अपने हृदय काे हमेशा स्वस्थ रखना चाहते हैं, ताे इसके लिए अपनी जीवनशैली में एक्सरसाइज और याेगा काे जरूर शामिल करें।

healthy heart

(Image Source : sop100.jp)

डॉक्टर सबिका आबिदी बताती हैं कि हृदय काे स्वस्थ रखने के लिए आप किसी भी तरह की एक्सरसाइज करें, लेकिन एक्टिव रहना बहुत जरूरी है। हार्ट को दुरुस्त रखना है तो आप योगासन या प्राणायाम जरूर करें। कुछ नहीं तो कम से कम रोजाना 30 मिनट वॉक करें। डॉक्टर सबिका आबिदी (Dr. Sabika Abidi) बताती हैं कि नियमित रूप से जिन मांसपेशियाें का उपयाेग किया जाता है, वे मजबूत और स्वस्थ हाेते हैं। जबकि जिन मांसपेशियाें का उपयाेग नहीं किया जाता है, वे धीरे-धीरे कमजाेर हाेने लगते हैं। ऐसे में एक्सरसाइज सिर्फ आपके हृदय काे ही नहीं बल्कि संपूर्ण स्वास्थ्य काे बेहतर बनाए रखने में मदद करता है। अगर काेई व्यक्ति हृदय राेगी है, ताे वह भी अपनी जीवनशैली में एक्सरसाइज काे शामिल कर सकता है।

इसे भी पढ़ें - World Heart Day: खुद से करें ये 5 वादे तो कम रहेगा आपको हार्ट अटैक का खतरा, पढ़ें हार्ट स्‍पेशलिस्‍ट के सुझाव

exercise prevent heart diseases

(Image Source : runnersworld.com)

हृदय राेग से बचने के लिए क्याें जरूरी है एक्सरसाइज या याेगा

एक्सरसाइज सभी तरह से राेगाें से आपका बचाव कर सकता है। हृदय काे सक्रिय (Active) रखने के लिए आपकाे एक्सरसाइज काे अपनी जीवनशैली में जरूर शामिल करना चाहिए। क्याेंकि एक्सरसाइज रक्त पंप करने में मदद करता है। साथ ही यह स्ट्रेस और तनाव काे भी कम करता है, जिससे हृदय स्वस्थ रहता है। एक्सरसाइज स्ट्रेस काे कम करने का एक अच्छा तरीका है।

  • नियमित रूप से की जाने वाली एक्सरसाइज या व्यायाम और याेगा धमनियाें और अन्य रक्त वाहिकाओं काे लचीला रखने में मदद करता है, जिससे रक्त का प्रवाह या ब्लड सर्कुलेशन बेहतर रहता है। 
  • एक्सरसाइज और याेगा करने से आपका वजन नियंत्रण में रहता है, जिससे हृदय राेगाें से बचा जा सकता है। क्याेंकि माेटापा (Obesity) भी हृदय राेग का एक मुख्य कारण हाे सकता है।
  • एक्सरसाइज और याेगा अच्छे कोलेस्ट्रॉल (एचडीएल) के स्तर को बढ़ाने और बैड काेलेस्ट्रॉल (Bad Cholesterol) काे कम करने में सहायक हाेता है। इसलिए भी एक्सरसाइज जरूरी है।
  • व्यायाम और याेगा मधुमेह यानी डायबिटीज, रक्त शर्करा, निम्न रक्तचाप काे नियंत्रण में रखता है। दरअसल, ये सभी समस्याएं हृदय राेगाें का कारण बन सकते हैं। 
 
cycling
(Image Source : wavetribe.com)

हृदय राेग से बचने के लिए जरूरी एक्सरसाइज

डॉक्टर सबिका आबिदी बताती हैं कि नियमित रूप से एक्सरसाइज करने से काफी हद तक हृदय राेगाें से बचा जा सकता है। एक्सरसाइज सिर्फ हृदय राेगाें नहीं, बल्कि सभी तरह की बीमारियाें से आपका बचाव करता है। हृदय राेगाें से बचने के लिए आपकाे व्यायाम में इन चीजाें काे जरूर शामिल करना चाहिए-

  • सप्ताह में 5 दिन कम से कम 20 मिनट से 40 मिनट तक व्यायाम या एक्सरसाइज जरूर करना चाहिए।
  • राेज सुबह मॉर्निंग वॉक करके भी आप हृदय राेगाें से बच सकते हैं।
  • तेज चलना, साइकिल चलाना, तैराकी, एरोबिक आदि भी हृदय काे स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।

डॉक्टर सबिका आबिदी यह भी कहती हैं कि अगर आपकाे एक्सरसाइज करने का समय नहीं मिलता है, ताे आप किसी अन्य तरीके से खुद काे फिजिकली एक्टिव रख सकते हैं। जैसे घर के काम करके, लिफ्ट की जगह सीढ़ियाें का इस्तेमाल करके, लाइट एक्सरसाइज यानी हाथ-पैराें काे इधर-उधर घुमाना आदि। इस तरह से भी एक्टिव रहा जा सकता है, इससे भी हृदय राेगाें से बचा जा सकता है। आपकाे हृदय राेगाें के लक्षणाें काे कभी भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए, लक्षण दिखते ही तुरंत डॉक्टर से कंसल्ट करना चाहिए।

(Main Image Source : womenshealthmag.com, nabd.ws)

Read More Articles on Heart Health in Hindi

Disclaimer