बच्चों के सिर में फोड़े-फुंसी होने का कारण और इसका इलाज

आपके छोटे बच्चे के सिर में फोड़े फुंसी हो रहे हैं तो इसके कारणों को समझते हुए उनसे बचने के उपायों को अपनाएं। 

Vikas Arya
Written by: Vikas AryaUpdated at: Dec 07, 2022 14:22 IST
बच्चों के सिर में फोड़े-फुंसी होने का कारण और इसका इलाज

3rd Edition of HealthCare Heroes Awards 2023

बच्चों की त्वचा संवेदनशील होती है। मौसम में होने वाले थोड़े से बदलाव से भी उनकी त्वचा में कई तरह की परेशानियां होने लगती है। छोटे बच्चे अपनी परेशानी अपने माता-पिता को नहीं बता पाते हैं, किसी भी तरह की समस्या होने पर बच्चे बस रोना शुरू कर देते हैं। लेकिन माता पिता को समझना पड़ता है कि बच्चे को किस वजह से परेशानी हो रही होगी। दरअसल बच्चों के शरीर में विकास तेजी हो रहा होता है ऐसे में उनका इम्यून सिस्टम भी कमजोर होता है। जिसकी वजह से बच्चे न चाहते हुए भी कई तरह के संक्रमण से ग्रसित हो जाते हैं। त्वचा पर संक्रमण होने की वजह से ही उनको सिर व अन्य हिस्सों पर फोड़े फुंसी होने लगते हैं। आइए जानते हैं इस समस्या पर बच्चों के डॉक्टर निखिल महरोत्रा क्या कहते हैं। 

बच्चों के सिर में होने वाले फोड़े-फुंसी क्या संक्रामक होते हैं?

यदि आपके बच्चे के सिर या त्वचा पर होने वाले फोड़े फुंसी में मवाद हैं, तो ये समस्या संक्रामक हो सकती है। ये समस्या बालों के रोम छिद्रों में ज्यादा होती है। ये फोड़े फुंसी छोटे होते हैं और पहले ये हल्की सी गांठ का रूप लिए होते हैं। बाद में ये मवाद से भर जाते हैं। सिर पर होने वाले फोड़े फुंसी बाद में धीरे-धीरे बच्चे के पूरे शरीर में फैल जाते हैं।  

इसे भी पढ़ें : जन्‍म के बाद पहली सर्द‍ियां श‍िशु को कर सकती है बीमार, जानें कैसे रखें उसका ख्‍याल

boils in child

बच्चों के सिर पर फोड़े-फुंसी होने के कारण 

बच्चों के सिर पर फोड़े फुंसी तब होते हैं जब उनके रोम छिद्रों से स्टेफिलोकोकस ऑरियस नामक बैक्टीरिया प्रवेश कर लेता है। इसके अलावा भी अन्य कारण हो सकते हैं।

  • बच्चे की रोग प्रतिरोधक क्षमता का कमजोर होना। 
  • बच्चे की साफ सफाई पर सही तरह से ध्यान न देना। 
  • बच्चे में खून में किसी तरह की समस्या होना। 
  • बच्चों को पर्याप्त पोषण न मिलना। 
  • इसके साथ ही बच्चे को एलर्जी होने से भी फोड़े फुंसी होने लगते हैं। 

बच्चे के फोड़े फुंसी होने का इलाज कैसे कराएं

बच्चे के सिर पर फोड़े फुंसी होने पर आपको डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए। इस दौरान डॉक्टर ही इलाज का सही तरीका बताते हैं। 

  • इस समस्या पर डॉक्टर बच्चे की स्थिति पर इलाज का चुनाव करते हैं। इस समस्या में एंटी इंफेक्टिव क्रीम एक बेहतर विकल्प हो सकती है। यदि बच्चे को ज्यादा परेशानी हो तो बच्चे को एंटी बायोटिक दवााएं दी जा सकती है। 
  • अगर फोड़े फुंसी ज्यादा बड़े हो जाए तो डॉक्टर उसमें चीरा लगाते हैं। इस प्रक्रिया में डॉक्टर फोड़े को काट कर पस को बाहर निकाल देते हैं। इसके बाद चीरे की ड्रेसिंग कर दी जाती है और उसमें घाव को भरने की क्रीम लगा दी जाती है। 

इसे भी पढ़ें : Mouth Ulcers: मुंह में छाले होने पर डाइट में करें ये 5 बदलाव, जल्द मिलेगा आराम

बच्चे के सिर पर फोड़े फुंसी होने का बचाव कैसे करें 

बच्चे के सिर पर फोड़े फुंसी होने से बचाव करने के लिए आप कई तरह के उपाय अपना सकते हैं। 

  • इस समस्या से बचने के लिए आप बच्चे के सिर की स्कैल्प पर रबिंग अल्कोहल का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • इसके अलावा अक्सर गर्मी की वजह से बच्चे के सिर पर फोड़े फुंसी हो जाते हैं। ऐसे में आप बच्चे के सिर पर नारियल का तेल लगा सकते हैं। नारियल के तेल में एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं जो बच्चे की सिर की त्वचा को बैक्टीरिया मुक्त बनाते हैं। 
Disclaimer