टाइप-2 डायबिटीज के मरीज रोज करें ये 3 योगासन, ब्लड शुगर रहेगा कंट्रोल

Best Yogasana for Type 2 Diabetes: नियमित रूप से योगासन करने से टाइप-2 डायबिटीज के खतरे को कम किया जा सकता है।

Priya Mishra
Written by: Priya MishraUpdated at: Nov 28, 2022 07:30 IST
टाइप-2 डायबिटीज के मरीज रोज करें ये 3 योगासन, ब्लड शुगर रहेगा कंट्रोल

आजकल डायबिटीज की बीमारी एक आम बीमारी बन गई है। आज के समय में हर दूसरा व्‍यक्ति इस बीमारी से पीड़ित है। बुजुर्ग ही नहीं, युवा वर्ग भी लोगों में भी डायबिटीज की समस्या काफी अधिक बढ़ गई है। डायबिटीज में मरीज का ब्लड शुगर लेवल तेजी से बढ़ जाता है, जिससे कई गंभीर समस्याएं हो सकती हैं। अगर ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल ना किया जाए, तो इससे मोटापा, किडनी रोग और दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा बढ़ सकता है। डायबिटीज दो प्रकार का होता है - टाइप 1 डायबिटीज और टाइप 2 डायबिटीज। टाइप 2 डायबिटीज ज्यादा खतरनाक माना जाता है। ऐसे में डायबिटीज की परेशानियों को कंट्रोल में रखने के लिए ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करना बहुत जरूरी है। ब्लड शुगर को कंट्रोल के लिए आप योग का सहारा ले सकते हैं। नियमित रूप से योगासन करने से टाइप-2 डायबिटीज के खतरे को कम किया जा सकता है। आज हम आपको कुछ ऐसे योगासन के बारे में बताने जा रहे हैं, जिससे आप अपने ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल में रख सकते हैं (Blood Sugar Kam Karne Ke Liye Yogasana)टाइप 2 डायबिटीज के मरीजों को ब्लड शुगर कंट्रोल करने के लिए इन योगासनों का नियमित अभ्यास करना चाहिए (Yoga For Type 2 Diabetes Patients) -

सेतुबंधासन - Setubandhasana 

सेतुबंधासन को ब्रिज पोज के नाम से भी जाना जाता है। इस आसान के नियमित अभ्यास से डायबिटीज की बीमारी में लाभ होता है। ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने के लिए यह एक फायदेमंद योगासन है। यह योगासन मांसपेशियों को मजबूती देने के साथ-साथ बैली फैट को कम करता है। सेतुबंधासन का अभ्यास थायराइड की बीमारी में भी फायदेमंद होता है।

सेतुबंधासन करने का तरीका - How To Do Setubandhasana 

  • इस आसान को करने के लिए जमीन पर पीठ के बल लेट जाएं।  
  • अब अपने घुटनों को मोड़े और तलवों को जमीन पर रखें। 
  • अपने दोनों हाथों से पैरों की एड़ियों को पकड़ें। 
  • सांस लेते हुए धीरे-धीरे अपनी बॉडी को ऊपर उठाएं। 
  • इस मुद्रा में एक या दो मिनट तक रहें।
  • इसके बाद सांस छोड़ते हुए प्रारंभिक मुद्रा में आ जाएं।

पश्चिमोत्तानासन - Paschimottanasana 

पश्चिमोत्तानासन के नियमित अभ्यास से कई स्वास्थ्य समस्याएं दूर होती हैं। ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने के लिए पश्चिमोत्तानासन काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। इस आसन के नियमित अभ्यास से पाचन तंत्र मजबूत होता है। यह आसन डायबिटीज के साथ-साथ पाचन संबंधी समस्याओं को कंट्रोल करने में सहायक होता है। पश्चिमोत्तानासन के अभ्यास से शरीर प्रवाह बेहतर तरीके से होता है और ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है।

Yoga-For-Diabetes

पश्चिमोत्तानासन करने का तरीका - How To Do Paschimottanasana 

  • इस आसन को करने के लिए सबसे पहले सुखासन में बैठ जाएं। 
  • अब अपने दोनों पैरों को सामने की ओर सीध में खोलकर बैठ जाएं, दोनों एड़ी और पंजे मिले रहेंगे। 
  • अब सांस छोड़ते हुए और आगे की ओर झुकते हुए दोनों हाथों से दोनों पैरों के अंगूठे पकड़ लें। 
  • माथे को घुटनों से लगाएं और दोनों कोहनियां जमीन पर लगी रहेंगी, जैसा कि आप तस्‍वीरों में देख सकते हैं।
  • इस पोजिशन में आप खुद को 30 से 60 सेकेंड तक रखें, धीमी सांसें लेते रहें। 
  • अब अपने पूर्व की मुद्रा में वापस आ जाएं और आराम करें।

मंडूकासन - Mandukasana

डायबिटीज के मरीजों के लिए मंडूकासन का अभ्यास फायदेमंद साबित हो सकता है। मंडूकासन करते समय शरीर की आकृति मेंढक जैसी हो जाती है, इसलिए इसे मंडूकासन कहते हैं।  नियमित रूप से मंडूकासन करने से ब्लड शुगर कंट्रोल करने में मदद मिलती है। यह आसान पैंक्रियाज को सक्रिय बनाता है, जिससे शरीर में इंसुलिन का उत्पादन बढ़ता है।

इसे भी पढ़ें: शरीर में वात, पित्त और कफ दोष को संतुलित करने के लिए रोज करें ये 3 योगासन

मंडूकासन करने का तरीका - How To Do Mandukasana

  • इस आसन को करने के लिए वज्रासन में बैठ जाएं।
  • फिर दोनों हाथों की मुठ्ठी बंद कर लें।
  • मुठ्ठी बंद करते समय अंगूठे को अंगुलियों से अंदर दबाएं।
  • फिर दोनों मुठ्ठियों को नाभि के दोनों ओर लगाकर श्वास बाहर निकालते हुए सामने झुकते हुए ठोड़ी को भूमि पर टिका दें।
  • थोड़ी देर इसी स्थिति में रहने के बाद वापस वज्रासन में आ जाए।
  • इस आसन को 4-5 बार कर सकते हैं।

Best Yogasana for Type 2 Diabetes: योग की मदद से आप ब्लड शुगर को कंट्रोल कर सकते हैं। इन योगासनों का नियमित अभ्यास करने से टाइप 2 डायबिटीज में काफी लाभ मिलेगा। आप किसी योगाचार्य के मार्गदर्शन में इन योगासनों का अभ्यास कर सकते हैं।

Disclaimer