इस तरह करेंगे त्रिफला और अश्वगंधा का एक साथ सेवन, तो मिलेंगे ये 5 फायदे

Triphala and Ashwagandha: आयुर्वेद में त्रिफला और अश्वगंधा को काफी फायदेमंद माना गया है। इन दोनों के सेवन से कई समस्याओं को दूर किया जा सकता है।

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Jun 13, 2022Updated at: Jun 13, 2022
इस तरह करेंगे त्रिफला और अश्वगंधा का एक साथ सेवन, तो मिलेंगे ये 5 फायदे

Triphala and Ashwagandha Together in Hindi: आयुर्वेद में त्रिफला और अश्वगंधा का उपयोग अलग-अलग तरह की बीमारियों को दूर करने के लिए किया जाता है। त्रिफला को कब्ज के इलाज के लिए जाना जाता है। जबकि अश्वगंधा का उपयोग शारीरिक ताकत बढ़ाने के लिए किया जाता है। अधिकतर लोग त्रिफला और अश्वगंधा का सेवन पाउडर के रूप में करते हैं। ऐसे में लोगों के मन में अकसर सवाल रहता है कि क्या त्रिफला और अश्वगंधा को एक साथ मिलाकर लिया जा सकता है।

त्रिफला और अश्वगंधा दोनों को एक साथ मिलाकर लिया जा सकता है। इन दोनों को एक साथ लेने से शरीर को कई लाभ मिलते हैं। यह पाचन को बेहतर बनाता है, शारीरिक कमजोरी दूर करता है। रामहंस चेरिटेबल हॉस्पिटल के डॉक्टर श्रेय शर्मा से जानें-

triphala benefits

त्रिफला और अश्वगंधा के फायदे

त्रिफला औषधीय गुणों से भरपूर होता है। इसका उपयोग कब्ज की समस्या को दूर करने के लिए किया जा सकता है। त्रिफला में एंटीबैक्टीरियल, एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटी एजिंग गुण होते हैं। इसके सेवन से सूजन को कम करने में मदद मिलती है। 

1. शारीरिक ताकत बढ़ाए

अश्वगंधा में मौजूद पोषक तत्व शारीरिक ताकत को बढ़ाने में मदद करते हैं। अधिकतर दुबले-पतले लोग अपना वजन बढ़ाने के लिए भी अश्वगंधा का सेवन करते हैं। आप चाहें तो त्रिफला और अश्वगंधा दोनों को एक साथ मिलाकर ले सकते हैं। इससे पाचन में सुधार होने के साथ ही, दुबलेपन से भी छुटकारा मिलेगा।

इसे भी पढ़ें- एड़ी में रहती है दर्द और जलन की समस्या? जानें इसके कारण और घरेलू उपाय

2. संक्रमण से बचाव

त्रिफला में एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं। ऐसे में त्रिफला लेने से बैक्टीरियल इंफेक्शन से बचा जा सकता है। अश्वगंधा भी शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है और शरीर को बैक्टीरिया, वायरस से लड़ने में हमारी मदद करता है। शरीर की इम्युनिटी बढ़ाने के लिए आप त्रिफला और अश्वगंधा को एक साथ मिलाकर ले सकते हैं।

triphala benefits

3. एजिंग के लक्षणों में कमी

त्रिफला और अश्वगंधा का एक साथ सेवन करने से त्वचा की समस्याओं को भी कम किया जा सकता है। त्रिफला में एंटी एजिंग गुण होते हैं, इससे चेहरे की झुर्रियों, महीन रेखाओं को भी कम किया जा सकता है। इसलिए अगर आपके चेहरे पर एजिंग के लक्षण हैं, तो आप त्रिफला और अश्वगंधा को एक साथ ले सकते हैं। 

4. पुरुषों की समस्याएं दूर करे

पुरुषों को अपने जीवन में कई तरह की यौन समस्याओं का सामना करना पड़ता है। अश्वगंधा पुरुषों की यौन समस्याओं को दूर करने में मदद कर सकता है। अश्वगंधा में मौजूद तत्व पुरुषों के स्पर्म काउंट में वृद्धि करते हैं। साथ ही स्पर्म की गुणवत्ता में भी सुधार करते हैं। अश्वगंधा शीघ्रपतन की समस्या को भी ठीक करने में मदद करता है।

5. कब्ज की समस्या दूर करे

त्रिफला चूर्ण का उपयोग अकसर कब्ज की समस्या को दूर करने के लिए किया जाता है। अगर आपको अकसर कब्ज बनी रहती है, तो आप रोजाना रात में त्रिफला पाउडर का सेवन कर सकते हैं। इससे पाचन में सुधार होगा, कब्ज से राहत मिलेगी। अगर आप त्रिफला और अश्वगंधा को साथ में लेते हैं, तो भी कब्ज दूर होने में मदद मिल सकती है।

इसे भी पढ़ें - एक साथ मिलाकर खाएं काजू, बादाम, पिस्ता और अखरोट, मिलेंगे ये 7 फायदे

त्रिफला और अश्वगंधा को एक साथ कैसे खाएं? (Can We Mix Ashwagandha and Triphala Together in Hindi)

त्रिफला और अश्वगंधा को एक साथ मिलाकर लिया जा सकता है। इन दोनों को एक साथ खाने से सेहत को कई लाभ मिल सकते हैं। आप त्रिफला और अश्वगंधा को एक साथ पाउडर के रूप में ले सकते हैं। इसके लिए आप थोड़ा त्रिफला और थोड़ा अश्वगंधा लें। इन दोनों को साथ में मिलाकर पानी या दूध के साथ मिलाकर लें। लेकिन इन दोनों को साथ में लेने से पहले डॉक्टर की राय जरूर लें।

त्रिफला और अश्वगंधा को एक साथ लेने से कई समस्याओं को दूर किया जा सकता है। लेकिन यह किसी भी बीमारी का संपूर्ण इलाज नहीं है। इसलिए बीमारी के इलाज के लिए डॉक्टर की राय जरूर लें।  

Disclaimer