दिमाग को शांत और तनाव रहित रखने के लिए करें अष्टांग योग, जानें फायदे

अष्टांग योग की मदद से आप अपने मन-मस्तिषक को शांत कर सकते हैं। साथ ही इससे आपका तनाव भी कम हो सकता है। 

Dipti Kumari
Written by: Dipti KumariPublished at: Jun 13, 2022Updated at: Jun 13, 2022
दिमाग को शांत और तनाव रहित रखने के लिए करें अष्टांग योग, जानें फायदे

अष्टांग योग सबसे लोकप्रिय योग शैलियों में से एक है। यह आपके शरीर का फैट तेजी से बर्न करने और दिमागी संतुलन बढ़ाने में मददगार साबित हो सकती है। इसके अभ्यास से आप दिनभर ऊर्जावान महसूस करते हैं और शरीर में स्ट्रेंथ भी बनी रहती है। यह आपके मन को सकारात्मक विचारों से भर देता है। अष्टांग योग आपको अंदर से उत्साह और संपूर्ण शरीर में ऊर्जा का संचार करता है। यह मानसिक, भावनात्मक और आध्यात्मिक संतुलन के लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। यह शरीर का इम्यून सिस्टम मजबूत करता है और शरीर को लचीला और मजबूत बनाता है। यह आपके ध्यान और एकाग्रता में सुधार करता है और माइंडफुलनेस को बढ़ावा देता है। इसके नियमित अभ्यास से आप अपने दैनिक और कई तरह के तनाव से दूर रह सकते हैं। इससे मांसपेशियों और जोड़ों में भी मजबूती आती है। दरअसल जब आप शारीरिक और मानिसक रूप से फिट अनुभव करते हैं, तो दिमाग भी आपका शांत रहता है। 

ashtanga-yoga

अष्टांग योग के फायदे 

अष्टांग योग के कई फायदे है, जिससे न केवल आप तनाव से दूर रह सकते हैं। बल्कि, पढ़ाई-लिखाई करने वाले बच्चे आपके मन को एकाग्र कर सकते हैं। साथ ही आप अपने जीवन में शांति का अनुभव करते हैं और बड़ी से बड़ी परेशानियों को आसानी से हल कर पाते हैं। कई बार हमारे साथ ऐसा होता है कि हम जब अंदर से अशांति का अनुभव करते हैं, तो छोटी-छोटी परेशानियां भी हमें बड़ी लगने लगती है। हम उससे भी परेशान होने लगते हैं। लेकिन, अष्टांग योग से आपका मन और शरीर दोनों ऊर्जावान बने रहते हैं। 

1. अष्टांग योग की मदद से आपको फोकस और एकाग्रता बढ़ाने में मदद मिलती है। 

2. दिनभर की थकान औ तनाव से छुटकारा मिल सकता है। साथ ही आप ऊर्जावान महसूस करते हैं। 

3. अष्टांग योग की मदद से आपको काफी अच्छी नींद आती है और मस्तिष्क शांत रहता है। 

4. शरीर में शक्ति, लचीलापन और सहनशक्ति को बढ़ावा देता है। 

5. अष्टांग योग मेटाबॉलिज्म को बढ़ाता है, जिससे तेजी से कैलोरी बर्न होती है और आसानी से आप वजन कम कर सकते हैं। 

6. जोड़ों, स्नायुबंधन और नसों को मजबूत बनाने में मदद करता है। 

7. इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है और ब्लड सर्कुलेशन में सुधार लाता है। 

8. मन को शांत कर आत्म-जागरूकता बढ़ाता है। हाई ब्लड प्रेशर को भी कंट्रोल करने में मदद करता है। 

9. कोलेस्ट्रोल और डायबिटीज को भी कम कर सकता है। 

10. पाचन तंत्र को स्वस्थ बनाए रखने में मददगार साबित हो सकता है। 

इसे भी पढे़ं-  रोजाना योग करने से शरीर, मन और मस्तिष्क को मिलते हैं ये 6 फायदे

ashtanga-yoga

अष्टांग योग करने का तरीका 

अष्टांग योग आपके शरीर, विचारों और भावनाओं के बारे में अधिक जागरूक बनाने में मदद करता है। यह संतुलन बनाने और स्वस्थ जीवनशैली बनाए रखने में सहायता करता है। लेकिन अष्टांग योग एक कठिन प्रकार का योग है। शुरूआत करने से पहले आपको इसकी मूल बातें समझ लेनी चाहिए। अगर आप शुरूआत करने की सोच रहे हैं, तो सबसे पहले मैसूर शैली का अष्टांग योग करना चाहिए। यह भारत के मैसूर शहर से निकाला है। इसके लिए आप योग गुरूओं को सहारा ले सकता है। इससे आप अपनी रूटीन और स्ट्रक्चर में सुधार कर सकते हैं। इससे आपको सहनशक्ति, फुर्ती और लचीलापन मिलता है। अष्टांग योग से पहले आप हठ योग या आयंगर योग जैसे कम गहन अभ्यास बेहतर विकल्प हो सकते हैं। 

इसके अलावा आपको हमेशा अष्टांग योग सुबह के समय ही करना चाहिए। इससे आपको पूरे दिन शांति मिलती है। लेकिन, अगर आपको शाम में अष्टांग योग करना है, तो कम से कम 4-5 घंटों तक कुछ न खाएं-पिएं। वरना आपको नुकसान हो सकता है। साथ ही दिनभर में खूब पानी पिएं और खुद को सकारात्मक विचारों से घेरे रखें। 

(All Image Sources- Freepik.com)

Disclaimer