Expert

अर्जुन के छाल की चाय पीने से स्वस्थ रहता है दिल, आयुर्वेदाचार्य से जानें 7 अन्य फायदे और रेसिपी

अर्जुन के छाल की चाय आपके हृदय स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद कर सकती है, जानें अर्जुन टी बनाने का तरीका।

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarPublished at: Apr 08, 2022Updated at: Apr 08, 2022
अर्जुन के छाल की चाय पीने से स्वस्थ रहता है दिल, आयुर्वेदाचार्य से जानें 7 अन्य फायदे और रेसिपी

अर्जुन (Arjuna Herb) एक अद्भुत जड़ी-बूटी है। यह शरीर को कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करती है, खासकर आपके  हृदय स्वास्थ्य को।आयुर्वेद के अनुसार हृदय स्वास्थ्य के लिए अर्जुन की छाल एक बेहतरीन जड़ी-बूटी है। अर्जुन की छाल को दिल की मांसपेशियों को मजबूत और टोन करने के साथ ही, दिल को ऊर्जावान बनाने के लिए जाना जाता है। आयुर्वेद में अर्जुन की छाल को हृदय स्वास्थ्य (Arjun Tea Benefits For Heart In Hindi) के सभी क्षेत्रों का समर्थन करने, और दिल के स्वास्थ्य को बढ़ावा देने वाली सबसे प्रमुख जड़ी बूटियों में से एक माना जाता है।

अब सवाल यह है कि दिल को स्वस्थ रखने के लिए आप अर्जुन की छाल का इस्तेमाल कैसे कर सकते हैं? आयुर्वेदिक चिकित्सक डॉ. दीक्षा भावसार सवलिया (बीएएमएस, आयुर्वेद) के अनुसार हृदय स्वास्थ्य में सुधार करने के लिए अर्जुन की छाल उपयोग करने का सबसे बेहतरीन तरीका है अर्जुन की छाल की चाय का सेवन। इस लेख में हम आपको दिल के लिए अर्जुन की छाल के फायदे (Arjun Tea Benefits In Hindi) और अर्जुन की छाली की चाय बनाने का तरीका (Arjun Tea Health Benefits Recipe For Heart In Hindi) बता रहे हैं।

अर्जुन की छाल की चाय कैसे बनाएं (Arjun Tea Recipe In Hindi)

डॉ. दीक्षा के अनुसार अर्जुन की छाल की चाय बनाना बहुत सरल है और यह स्वाद में भी बहुत अच्छी होती है। 10 ग्राम अर्जुन की छाल का क्वाथ या काढ़े को 400 मिलीलीटर पानी में 8 घंटे के लिए भिगो दें। फिर इसमें 400 ml गाय का दूध डालें और उबालें। इसे तब तक उबालें जब तक यह 400ml का आधा न हो जाए। इसे एक बर्तन में छाल लें और इसका आनंद लें। आप चाहें तो इसमें एक चुटकी दालचीनी भी मिला सकते हैं।

इसे भी पढें: जायफल और मिश्री साथ में खाने से दूर होती हैं शरीर की ये 6 समस्याएं, जानें खाने का सही तरीका

अगर आप अर्जुन की छाल को 8 घंटे तक भिगो नहीं सकते हैं, तो तुरंत पानी और दूध के साथ उबाल लें, वह भी ठीक काम करता है।

दिल के लिए कैसे फायदेमंद है अर्जुन की छाल की चाय (Arjun Tea Benefits For Heart In Hindi)

डॉ. दीक्षा भावसार के अनुसार यह अर्जुन टी हानिरहित और हृदय स्वास्थ्य के लिए सर्वोत्तम है। अर्जुन की छाल कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बनाए रखने के लिए बेहद कारगर है, ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में मददगार है साथ ही हृदय की पंपिंग क्षमता में भी सुधार करती है। अर्जुन की छाल प्राकृतिक एंटी-ऑक्सीडेंट से भरपूर होती है, जो हृदय की मांसपेशियों को शक्ति देते हैं और वैस्कुलर सिस्टम को मजबूत करता है। हृदय की मांसपेशियों, धमनी प्रणाली को टोन करने और उन्हें मजबूत बनाने के लिए अर्जुन की छाल एक बेहतरीन नुस्खा है।

अर्जुन की छाल के अन्य स्वास्थ्य लाभ (Arjun Tea Benefits For Health In Hindi)

  • अर्जुन की छाल की चाय पीने से भावनात्मक कल्याण बढ़ावा मिलता है। यह दुख और उदासी का अनुभव करने वालों में संतुलन को बढ़ावा देती है। अर्जुन की छाल को हमारे लक्ष्यों को पूरा करने के लिए साहस देने, इच्छाशक्ति को मजबूत करने और दिल को मजबूत करने के लिए जाना जाता है।
  • लिवर और त्वचा के लिए अर्जुन की छाल बेहद फायदेमंद है। यह लिवर और त्वचा में मौजूद अतिरिक्त पित्त को कम करने में मदद करती है, लिवर के कामकाज को बेहतर बनाती है और त्वचा की रंगत में सुधार करती है।
  • पाचन को बेहतर बनाने में सहायक है। जब अर्जुन की छाल की चाय का सेवन किया जाता है तो यह आपके पाचन को बेहतर बनाने और पेट संबंधी समस्याओं के जोखिम को कम करने में मदद करती है।
  • सांस संबंधी समस्याओं के जोखिम को कम करती है और  फेफड़ों में अतिरिक्त कफ और पित्त को संतुलित कर सकता है।

एक्सपर्ट क्या सलाह देते हैं

अर्जुन टी एक बेहतरीन औषधी है। आप अपने साथ-साथ अपने माता-पिता को भी अर्जुन की छाल की चाय दे सकते हैं (रात 9 बजे के बाद)। लेकिन अगर आप या आपके परिवार को कोई सदस्य हृदय संबंधी समस्याओं से जूझ रहा है तो अर्जुन की छाल की चाय को आजमाने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर करें।

All Image Source: Freepik.com

Disclaimer