Fact Checked

क्या 1-2 पीरियड्स मिस होना सामान्य है? एक्सपर्ट से जानें एमेनोरिया के लक्षण, कारण और इलाज

एमेनोरिया एक ऐसी स्थिति है जो कई समस्याओं को जन्म दे सकती है। ऐसे में पीरियड्स से जुड़ी इस समस्या के कारण, लक्षण और इलाज पता होना चाहिए।

Garima Garg
Written by: Garima GargUpdated at: Nov 11, 2021 16:21 IST
क्या 1-2 पीरियड्स मिस होना सामान्य है? एक्सपर्ट से जानें एमेनोरिया के लक्षण, कारण और इलाज

महिलाओं के जीवन में हर महीने आने वाले पीरियड्स उनके रोजमर्रा के कार्यों को प्रभावित करते हैं। वहीं इनका समय पर होना भी जरूरी है। लेकिन कभी-कभी गलत खानपान के कारण अकसर महिलाओं के मासिक धर्म के अनियमित होने की समस्या का सामना करना पड़ता है, जिसके कारण उन्हे परेशान हो सकती है। बता दें कि अगर पीरियड्स आगे पीछ हो रहे हैं तो ये समस्या सही आहार या दिनचर्या में थोड़ा सा बदलाव करके ठीर हो सकती है लेकिन अगर पीरियड्स एक दम ही बंद हो जाएं या तीन-चार महीने के बाद हों तो हो सकता है कि आपको एमेनोरिया (amenorrhea) की समस्या हो। बता दें कि ये समस्या पीरियड्स से संबंधित समस्या होती है, जिसमें पीरियड्स आने बंद हो जाते हैं। ये स्थिति मेनोपॉज या गर्भावस्‍था से बहुत अलग होती है। पर इस स्थिति के कारण महिलाओं को अन्य समस्‍याओं का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में इस स्थिति को समझना जरूरी है। आज का हमारा लेख इसी विषय पर है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि एमेनोरिया के कारण क्या है साथ ही इसके लक्षण और इलाज के बारे में भी जानेंगे। पढ़ते हैं आगे...

एमेनोरिया के प्रकार

1 - प्राइमरी एमेनोरिया (primary amenorrhea)

इस स्थिति में 16 साल की उम्र में भी पीरियड्स नहीं होते, जिसे प्राइमरी एमेनोरिया कहा जाता है। ऐसे में महिलाएं डॉक्टर की मदद से इस दुर्लभ स्थिति को दूर कर सकती हैं। बता दें कि ये समस्या जेनेटिक या जननांगों से संबंधित संरचनात्मक विकार के कारण हो सकती है। वहीं इसका पता जेनेटिक टेस्टिंग और हार्मोन टेस्क के माध्यम से लागाया जा सकता है। इससे संबंधित जानकारी पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

2 - सेकेंडरी एमेनोरिया (secondary amenorrhea) 

इस स्थिति में महिलाओं के पीरियड्स 3 या उससे ज्यादा महीनों तक के लिए बंद हो सकते हैं। यह समस्या आमतौर पर गर्भावस्था के दौरान या स्तनपान कराने के दौरान पैदा हो सकती है। इसके अलावा अंडरएक्टिव थायराइड, पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम भी इस समस्या का एक कारण बन सकते हैं। बता दें कि प्रग्नेंसी टेस्ट, इमेजिंग टेस्ट आदि के माध्यम से इसका पता लगाया जा सकता है।

इसे भी पढ़ें- Premenstrual Dysphoric Disorder: पीरियड्स से पहले महिलाओं में होती है ये परेशानी, जानें कारण, लक्षण और उपाय

एमेनोरिया के लक्षण

एमेनोरिया (amenorrhea) का लक्षण मुख्यतौर पर मासिक धर्म ना होना ही है। इसके आलावा कुछ और भी लक्षण हैं जो नजर आ सकते हैं ये लक्षण निम्न प्रकार हैं-

1 - निप्पल से सफेद पानी निकलना 

2 - स्तन के आकार में बदलाव आना।

3 - बाल झड़ने की समस्या होना।

4 - सरदर्द हो जाना।

5 - वजन बढ़ना या वजन का कम होना।

6 - देखने में बदलाव आना या आंखों से संबंधित अन्य समस्या होना।

7 - चेहरे पर बालों की मात्रा का बढ़ना।

8 - आवाज का भारी हो जाना।

9 - पेल्विक पेन हो सकता है इसी का लक्षण।

10 - मुंहासे की समस्या हो जाना।

11 - योनि में सूखापन महसूस करना।

एमेनोरिया के कारण

1 - तनाव के कारण

2 - ज्यादा एक्सरसाइज करने से

3 - शरीर का वजन सामान्य से कम होने पर

4 - किसी दवाई के रिएक्शन के कारण

5 - कीमोथेरेपी के कारण

6 - कुछ गर्भ निरोधक गोलियों के कारण

7 - हार्मोंन में बदलाव के कारण

इससे अलग कुछ और भी कारण हो सकते हो जो एमेनोरिया की स्थिति की वजह बन सकते हैं।  

इसे भी पढ़ें - बढ़ती उम्र का पुरुषों की फर्टिलिटी पर पड़ता है असर, जानें किस उम्र के बाद आ सकती है पिता बनने में परेशानी

एमेनोरिया के उपचार

उपचार आपके एमेनोरिया के पीछे के कारण पर निर्भर करता है। कुछ मामले ऐसे होते हैं जिसमें, गर्भनिरोधक गोलियों को बंद करने या अन्य हार्मोन थेरेपी को लेने से मासिक धर्म शुरू हो सकते हैं। थायराइड या पिट्यूटरी से संबंधित समस्याओं के कारण होने वाले एमेनोरिया का इलाज दवाओं से किया जा सकता है। यदि कोई ट्यूमर एमेनोरिया की समस्या पैदा कर रहा है, तो सर्जरी आवश्यक हो सकती है।

नोट - ऊपर बताए गए बिंदुओं से पता चलता है कि एमेनोरिया की समस्या कोई बीमारी नहीं मानी जाती है। लेकिन ये स्थिति किसी गंभीर बीमारी का संकेत हो सकती है। ऐसे में यदि तीन या उससे ज्यादा दिन पीरियड्स ना हों तो ऐसे में तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।  

इस लेख में फोटोज़ Freepik से ली गई हैं।

Disclaimer