एलोपेसिया (बाल झड़ने) के कारण, लक्षण और बचाव

एलोपेसिया महिलाओं की तुलना में पुरुषों को ज्यादा प्रभावित करती है, जिसके कारण उन्हें शर्मिंदगी उठानी पड़ती है। जानते हैं इसके कारण, लक्षण और बचाव

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: May 24, 2021
एलोपेसिया (बाल झड़ने) के कारण, लक्षण और बचाव

अक्सर कंघी करते वक्त या बालों पर हाथ फिराते वक्त कुछ बाल हाथ में आ जाते हैं, जो एक आम बात है। लेकिन अगर बालों की संख्या बढ़ जाए तो यह चिंताजनक है। जब बाल जरूरत से ज्यादा झड़ने लगते हैं तो इसका मतलब है कि व्यक्ति को एलोपेसिया रोग (Alopecia) हो गया है। आज का हमारा लेख इसी रोग पर है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि एलोपेसिया रोग के पीछे क्या कारण (Causes of Alopecia) होते हैं साथ ही हम इसके लक्षण (symptoms of Alopecia) और उपचार (treatment of Alopecia) के बारे में भी जानेंगे। इसके लिए हमने श्री राम सिंह हॉस्पिटल एंड हार्ट इंस्टीट्यूट नई दिल्ली और डायरेक्टर ऑफ स्किन लेजर सेंटर नोएडा के डर्मेटोलॉजिस्ट डॉक्टर टी.ए राणा (Dr. T.A.Rana) से भी बात की है। पढ़ते हैं आगे...

वैसे तो यह समस्या महिला और पुरुष दोनों को होती है। पर पुरुष इस समस्या से ज्यादा प्रभावित होते हैं। बाल अधिक झड़ने पर पुरुष पूरी तरह से गंजे हो जाते हैं या उनके सिर के पीछे के बाल रह जाते हैं बाकी सारे झड़ जाते हैं।

एलोपेसिया के प्रकार (types of Alopecia)

एलोपेसिया 6 प्रकार के होते हैं। एलोपेसिया अरेटा Alopecia areata यानी जिसमें केवल एक ही स्थान के बाल झड़ते हैं। दूसरे प्रकार है एंड्रोजेनिक androgenic alopecia यानी इस स्थिति में व्यक्ति के बाल एक ही पैटर्न में झड़ते हैं। तीसरा प्रकार एलोपेसिया टेलोजन एफ्लुवियम (Telogen effluvium) में व्यक्ति के सर से 100 से ज्यादा बाल झड़ते हैं। यह समस्या किसी भी स्ट्रेस, खराब भोजन या दवाई के कारण हो सकती है। ट्रॉमेटिक (Traumatic alopecia) में व्यक्ति को अपने बालों को खींचने की आदत होती है। एलोपेसिया टिनिआ (Tinea) में जड़ों में काले धब्बे बन जाते हैं, जिसके कारण बाल झड़ सकते हैं और आखिरी प्रकार ऐनाजेन एफ्फ्लूवियम (Anagen effluvium) ज्यादातर कैंसर पीड़ित रोगियों में देखा जाता है, जिनकी कीमोथेरेपी चल रही होती है।

इसे भी पढ़ें- बालों की देखभाल से जुड़े ये 7 मिथक जिन्हें शायद आप सच मानती हैं, जानें इन मिथक से जुड़ी सच्चाई

एलोपेसिया के लक्षण (symptoms of Alopecia)

1 - बालों का झड़ना

2 - जड़ों में जलन

3 - जड़ों में खुजली

4 - गंभीर अवस्था में जड़ों में काले धब्बे दिखना

इसे भी पढ़ें- Hair Care : एलोवेरा और नारियल तेल एक साथ लगाने से बालों और स्किन को मिलेगा दोगुना फायदा

एलोपेसिया के कारण (Causes of Alopecia)

1 - तनाव के कारण

2 - बुखार जैसे मलेरिया आदि के कारण

3 - शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो जाने के कारण

4 - गर्भावस्था के कारण

5 - हॉर्मोन बदलाव के कारण

6 - डिप्रेशन के कारण

एलोपेसिया के उपचार (treatment of Alopecia)

हालांकि अभी इसका सटीक इलाज नहीं है लेकिन डर्मेटोलॉजिस्ट कुछ उपचार की सलाह देते हैं। लेकिन उससे पहले वे ब्लड टेस्ट करवाने की सलाह देते हैं। इसके अलावा बालों की जांच और त्वचा की बायोप्सी करवाने के लिए भी कहते हैं। उसके बाद प्रभावित जगह पर क्रीम लगाकर या लोशन लगाकर इसके दुष्परिणामों को रोकते हैं। इसके अलावा प्रभावित जगह को इंजेक्ट किया जाता है और कुछ दवाइयां भी दी जाती हैं। गंजेपन को दूर करने के लिए कुछ दवाइयों का सेवन करने की सलाह देते हैं, जिनके कारण प्रभावित स्थान पर रिएक्शन होता है। इनकी मदद से इम्यूनिटी सिस्टम सफेद रक्त कोशिकाओं को रिएक्शन से लड़ने के लिए भेजता है। ऐसे में बाल झड़ने बंद हो जाते हैं बालों के रोम सक्रिय हो जाते हैं। 

नोट - ऊपर बताए गए बिंदुओं से पता चलता है कि एलोपेसिया महिलाओं और पुरुषों में होने वाली गंभीर समस्या में से एक है, जिसके कारण व्यक्ति को शर्मिंदगी का सामना भी करना पड़ सकता है। ऐसे में अगर बाल जरूरत से ज्यादा झड़े तो तुरंत एक्सपर्ट से संपर्क करें।

Read More Articles on other diseases in Hindi

Disclaimer