Baby Care: नवजात के साथ बेहतर बॉन्ड बनाने में मददगार हो सकता है ये 6 सरल टिप्स

जीवन का पहला साल बच्चे के विकास के लिए बेहद अहम होता है। बच्चे अपने आस पास की चीजों को समझना और पहले शब्द बोलना सीखते हैं। इस दौरान माता-पिता को नवजात के साथ अच्छे बॉन्ड बनाने की कोशिश करनी चाहिए।

धीरज सिंह राणा
परवरिश के तरीकेWritten by: धीरज सिंह राणाPublished at: Aug 16, 2019
Baby Care: नवजात के साथ बेहतर बॉन्ड बनाने में मददगार हो सकता है ये 6 सरल टिप्स

नए माता-पिता के लिए शिशु के साथ संबंध बनाना थोड़ा मुस्किल होता है। आपका बच्चे के साथ संबंध उनके विकास के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है। आपका नवजात शिशु जन्म से ही स्पर्श की पहचान करना शुरु कर देता है। शिशु के साथ अपना भावनात्मक और शारीरिक जुड़ाव बनाए रखना जरूरी है। अध्ययनों से पता चला है कि जिन बच्चों के माता-पिता के साथ एक अच्छा बंधंन होता है वे अधिक सुरक्षित और सहज महसूस करते हैं। हालांकि बच्चे और माता-पिता के बीच संबंध जन्म से ही सही होते हैं, फिर भी बहुत सारी चीजें हैं जो आप अपने शिशु के साथ एक अटूट बंधन बनाने के लिए कर सकते हैं। अगर आप अपने बच्चे के साथ एक अच्छा बॉन्ड बनाना चाहते हैं तो इन 5 सरल टिप्स आपके लिए मददगार हो सकता है।

त्वचा से त्वचा का संपर्क

जितना संभव हो बच्चे को अपनी बाहों में पकड़ें और हमेशा उसे अपनी छाती के पास रखें। यह त्वचा से त्वचा का संपर्क आपके बच्चे के दिल की धड़कन और सांस को नियंत्रण करने में भी मदद करेगा। यह मानव स्पर्श न केवल नवजात शिशु के लिए फायदेमंद है, बल्कि माता-पिता को शांत करने में भी मदद कर सकता है।

पीठ को हल्के से सहलाएं

अगर बच्चा आपकी गोद में सो गया है, तो उसे बेड पर ना सुलाएं बल्कि उसे अपनी छाती पर रखकर उनकी पीठ को धीरे धीरे सहलाएं। ऐसा करने से उसे अच्छी नींद आएगी और बच्चे और माता-पिता के बीच का संबंध भी गहरा होगा।

बच्चों से बात करें

पेरेंटिंग के शुरुआती दिन थोड़ी मुस्किले आ सकते हैं। यदि आपके पास आपका पार्टनर नहीं है या आप अविश्वसनीय रूप से अलग महसूस करते हैं, तो ऐसे में आप आपके बच्चे से बात करें। इससे आपको अच्छा महशूस होगा।

रोजाना की जरुरत का ख्याल रखें

खाने से लेकर सोने तक शिशु की जरुरतों का ख्याल रखें। बार-बार आपका चेहरा देखकर शिशु भी आपसे परिचित हो जाता है और आपकी गोद में सुरक्षित महसूस करता है।

इसे भी पढ़ें: ये 3 संकेत पहचानकर ही शुरू करें शिशु को ठोस आहार देना, वजन घटना और दांत दिखना नहीं है संकेत

इसे भी पढ़ें: क्या आपके बच्चे को रात में आते है बुरे सपने, तो इन 6 आसान टिप्स से दिलाएं उसे छुटकारा

रोने का मतलब समझे

आपका बच्चा बोल नही सकता इसलिए वो शब्दों में आपको कुछ नहीं कह सकता है। ऐसे में यह महत्वपूर्ण है कि आप उनके पास जाएं और समझें कि वो क्योंं रहा है। उनके रोने के कई कारण हो सकते हैं जैसे कि भूख, थकावट, परेशानी या अन्य कोई समस्याएं।

इसे भी पढ़ें: क्‍या पेट दर्द और दस्‍त से परेशान है आपका बच्‍चा? जानें कारण और बचाव के टिप्‍स

शिशु के साथ खेलें

बच्चे के लिए, मां की आवाज की तुलना में अधिक सुखदायक कोई आवाज नहीं है। उन्हें लोरी या अपने पसंदीदा गीतों को सुनाएं, आप उनके साथ थोड़ा मस्ती करें। छोटे बच्चे को मां के साथ खेलना काफी पसंद होता है।

Read more articles on Parenting in Hindi

Disclaimer