कंधे की चोट को न करें नजरअंदाज

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jan 22, 2015
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • कंधे में चोट लगने के 24 घंटे के अंदर उपचार करायें।
  • खिलाडि़यों के कंधे में चोट लगने की अधिक संभावना।
  • चोट को नजरअंदाज करने से समस्‍या गंभीर हो सकती है।
  • फिजियो‍थेरेपिस्‍ट इस समस्‍या का उपचार कर देता है।

अक्‍सर आपने खबरों में पढ़ा होगा कि कंधे में चोट के कारण इन खिलाडि़यों को खेल से दूर रहना पड़ा और बाद में इनको सर्जरी भी करानी पड़ी। लेकिन अगर आपके कंधे में कभी भी चोट लग जाये तो इसे बिलकुल भी नजरअंदाज न करें, क्‍योंकि यह एक गंभीर समस्‍या है और उम्र बढ़ने के साथ यह और भी घातक होती जाती है। चोट लगने के 24 घंटे के अंदर ही इसका उपचार करना चाहिए। इस लेख में विस्‍तार से जाने कि कंधे की चोट को नजरअंदाज क्‍यों न करें।
Shoulder Injury in Hindi

शोध के अनुसार

'जर्नल ऑफ अमेरिकन एकेडेमी ऑफ आर्थोपेडिक सर्जंस' में छपे शोध की मानें तो कंधे की चोट के कारण हड्डियों को समस्‍या होती है और इसके कारण हाथों हाथ हिलाने तक में समस्‍या होती है। यह कंधे की चोट फ्रोजन शोल्‍डर की समस्‍या का भी कारण बन सकता है। इसलिए समय रहते इसका उपचार करना बहुत जरूरी है।

कैसे पहचान करें

कंधे की हड्डी अगर उखड़ गई है तो इसकी पहचान करना बहुत जरूरी है, ताकि आप समझ पायें‍ कि आपके कंधे में चोट लग गई है। अगर कंधे की हड्डी में चोट लग गई है तो इसके कारण आपके कंधे पर उभार दिखाई देने लगता है, पतले लोग आसानी से इसे पहचान सकते हैं, लेकिन मोटे लोगों को सामान्‍य तौर पर नहीं दिखाई पड़ता है। इसलिए अगर कंधे में दर्द भी हो तो अपने हड्डी की स्थिति को जांचने के लिए जोड़ों की जांच करें।

कैसे लगती है चोट

कंधे की हड्डी में चोट लगने की संभावना खिलाडि़यों को अधिक होती है, खासकर फुटबॉल, क्रिकेट, कुश्‍ती के खिलाडि़यों को। जो लोग मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग लेते हैं उनको भी चोट लग सकती है। खेल के दौरान जब भी कंधे की मांसपेशियों में खिंचाव हो जाता है या फिर कंधे पर चोट लगती है तब यह समस्‍या हो सकती है।

Injury in Shoulder in Hindi
क्‍या करें

जब भी आपको पता लगे कि आपके कंधे में चोट लग गई है तो इसे बिलकुल भी नजरअंदाज न करें, चोट लगने के 24 घंटे के अंदर चिकित्‍सक से संपर्क कीजिए और इसके बारे में सलाह लीजिए। अगर आप चोट को नजरअंदाज करेंगे तो इसके कारण कंधे के आसपास खून जम जाता है और मांसपेशियों में खिंचाव भी आ जाता है। इसके कारण बाद में हाथ हिलाने में समस्‍या होती है और यह बाद में अर्थराइटिस का कारण भी बन सकता है।

इसके उपचार के बाद आप दोबारा अपनी पूर्व दिनचर्या को बनाये रख सकते हैं, और इसके सफल उपचार के बाद व्‍यायाम करना न कतई न छोड़ें, अगर कंधों में कोई समस्‍या है तो चिकित्‍सक से सलाह अवश्‍य लें।

 

Image Source - Getty Images

Read More Article on Other Disease in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES8 Votes 3491 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर