आखिर क्‍यों पुरुषों को चाहिए अलग सौंदर्य उत्‍पाद

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Mar 13, 2014
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • पुरुषों की त्‍वचा होती है महिलाओं से अलग।
  • पुरुषों की त्‍वचा महिलाओं की अपेक्षा अधिक तैलीय।
  • हॉर्मोन के कारण होता है पुरुषों की त्‍वचा में अंतर।
  • कंपनियां भी बना रही हैं पुरुषों के लिए अलग से उत्‍पाद।

वह भी दौर था जब पुरुषों की दुनिया साबुन और पानी के इर्द-गिर्द ही सिमटी हुयी थी। बस चेहरा धोया और हर मौके के लिए तैयार। कभी जरूरत पड़ी तो फेसवॉश और टोनर इस्‍तेमाल कर लिया। वरना, 'अपने राम' तो यूं ही ठीक हैं। लेकिन, अब वक्‍त काफी आगे निकल चुका है।

आज के इस दौर में पुरुष भी त्‍वचा की देखभाल करने के मामले में पीछे नहीं। पुरुष भी इसके लाभ समझ रहे हैं और उन्‍हें महत्‍ता भी दे रहे हैं। लेकिन, पुरुषों के लिए जरूरी है वे अपने लिए उत्‍पाद चुनते हुए कुछ बातों का खयाल रखें। पुरुषों के सौंदर्य उत्‍पाद महिलाओं से अलग होने चाहिए। वैज्ञानिक नजर से देखें तो पुरुषों की सौंदर्य आवश्‍यकतायें महिलाओं से अलग होती हैं। और इस लिहाज से उनके उत्‍पादों का अलग होना सिर्फ बाजार की ही देन नहीं। पुरुषों के लिए सौंदर्य उत्‍पादों की पूरी वैरायटी मौजूद है। बाजार इसे जानता है और वह इसे भुनाने में कोई कसर भी नहीं छोड़ना चाहता।

beauty for men

टेस्‍टोस्‍टेरॉन है जिम्‍मेदार

पुरुषों की त्‍वचा महिलाओं के मुकाबले अधिक तैलीय होती है। इसके लिए टेस्‍टोस्‍टेरॉन हार्मोन उत्‍तरदायी होता है। क्‍योंकि पुरुषों में टेस्‍टोस्‍टेरॉन का स्‍तर अधिक होता है, इससे उनकी त्‍वचा से अधिक तेल स्रावित होता है। इसी तैलीय त्‍वचा के कारण उन्‍हें त्‍वचा की समस्‍यायें भी अधिक होती हैं। इसलिए पुरुषों के लिए बनाये गये फेसवॉश न केवल आपकी त्‍वचा की गहरायी से सफाई करते हैं, बल्कि साथ ही साथ वे त्‍वचा को कम मॉश्‍चराइज भी करते हैं। इनमें गंध भी अपेक्षाकृत कम होती है। तो, अपनी साथी के उत्‍पाद इस्‍तेमाल करने से आपको नफा कम और नुकसान ज्‍यादा होगा।

त्‍वचा होती है अधिक सख्‍त

पुरुषों की त्‍वचा महिलाओं की त्‍वचा की अपेक्षा बीस से तीस फीसदी तक अधिक सख्‍त होती है। इससे आपकी त्‍वचा सूर्य की हानिकारक यूवी किरणों का अधिक सक्षमता से सामना कर पाती है। साथ ही साथ आपकी त्‍वचा कुदरती रूप से हाइड्रेटेड रहती है। इतना ही नहीं, पुरुषों की त्‍वचा महिलाओं की अपेक्षा कम रफ्तार से बूढ़ी होती है। लेकिन, इसका अर्थ यह नहीं है कि आप सभी प्रकार की परेशानियों से दूर हैं। आपको सन ब्‍लॉक और माश्‍चराइजर की जरूरत तब भी है। ये आपकी त्‍वचा को जरूरी पोषण और सुरक्षा प्रदान करते हैं।

ज्‍यादा वक्‍त गुजारते हैं बाहर

पुरुष काफी समय घर से बाहर गुजारते हैं। आमतौर पर वे महिलाओं से अधिक समय तक बाहर रहते हैं, फिर चाहे आप लॉन में घूम रहे हों या फिर दोस्‍तों के साथ वक्‍त बिता रहे हों। चाहे आप यूं ही घूमने निकले हों। इस दौरान आपका धूल-मिट्टी और प्रदूषण से सामना होता है। यह तो हमें मालूम ही है कि सूरज की अल्‍ट्रा वॉयलेट किरणें आपकी त्‍वचा को गहरा नुकसान पहुंचा सकती हैं। इनसे आपको एजिंग, त्‍वचा को रंगत का उड़ना और यहां तक कि स्किन कैंसर जैसी गंभीर समस्‍या भी हो सकती है। पुरुषों की त्‍वचा में महिलाओं की अपेक्षा एंटी-ऑक्‍सीडेंट्स कम होते हैं, इसलिए आपके लिए खतरे अधिक हैं। तो, थोड़ा ध्‍यान अपनी त्‍वचा को दीजिए और धूप में निकलने से पहले एसपीएफ 15 या उससे अधिक की सनस्‍क्रीन लगाकर ही बाहर निकलिये।

 

शेविंग है जरूरी

दाढ़ी आपकी त्‍वचा के लिए किसी मुश्किल से कम नहीं। रोजाना शेविंग से जलन, रेशेज और रेजर बर्न जैसी समस्‍यायें हो सकती हैं। ज्‍यादा शेव करने से आपकी त्‍वचा अधिक संवेदनशील बन जाती है नतीजतन आपको एक्‍ने जैसी समस्‍याओं से दो-चार होना पड़ता है। आपको खास पुरुषों के लिए बनाये गए आफ्टर शेव और टोनर जैसे उत्‍पाद जरूर इस्‍तेमाल करने चाहिए। हालांकि, शेविंग कई बार बेहद थकाने वाली प्रक्रिया होती है, इससे आपकी त्‍वचा को कई समस्‍यायें भी हो सकती हैं। लेकिन, यह आपकी रोजमर्रा की स्किन केयर का जरूरी हिस्‍सा होती है। शेविंग के दौरान आप न केवल फेशियल हेयर से छुटकारा पाते हैं, बल्कि इसके साथ ही डेड स्किन सेल्‍स भी हट जाते हैं।

 

shaving

एक ही माल, पैकेजिंग का अंतर

विटामिन ए, सी और ई, ग्‍लाकोलिक एसिड, सेलिसाइकिल एसिड और रेटिनॉल जैसे कुछ तत्‍व महिलाओं और पुरुषों के सौंदर्य उत्‍पादों का अहम हिस्‍सा होते हैं। और एक और जहां महिलायें स्किन केयर के लिए अलग-अलग उत्‍पादों का इस्‍तेमाल करती हैं, पुरुष आमतौर पर खूबसूरत पैकिंग के उत्‍पाद खरीदने से बचते हैं। वे ऐसे उत्‍पादों को 'जनाना' मानते हैं। हालांकि, सौंदर्य उत्‍पाद बनाने वाली कंपनियां पुरुषों की इस मा‍नसिकता को समझ गयी हैं और उन्‍होंने पैकिंग को महत्‍ता दी है।

तो, अब आपको मालूम है कि आपको क्‍यों अलग उत्‍पादों की जरूरत है। तो, अब अपनी साथी के उत्‍पादों का इस्‍तेमाल करना बंद करें और खुद अपने उत्‍पादों में निवेशक करना शुरू करें।

 

Image Courtesy- Getty Images.in

 

Read More Articles on Beauty and Personal Care in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES31 Votes 4228 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर