स्टाफीलोकोकस संक्रमण से जा सकती है मनुष्‍य की जान, जानें इसके लक्षण और बचाव

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Mar 21, 2018
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • स्टफ बैक्‍टीरिया इनफेक्‍शन, स्टाफीलोकोकस बैक्टीरिया के कारण होता है।
  • यह एक प्रकार का रोगाणु है जो आमतौर पर त्वचा या नाक में पाया जाता है।
  • यह समस्‍या स्वस्थ व्‍यक्‍ितयों में भी हो सकती है। 

स्टफ बैक्‍टीरिया इनफेक्‍शन, स्टाफीलोकोकस बैक्टीरिया के कारण होता है। यह एक प्रकार का रोगाणु है जो आमतौर पर त्वचा या नाक में पाया जाता है। यह समस्‍या स्वस्थ व्‍यक्‍ितयों में भी हो सकती है। अधिकतर मामलों में इस बैक्टीरिया से मामूली त्वचा संक्रमण के आलावा कोई ज्यादा नुकसान नहीं होता है। लेकिन यह बैक्टीरिया शरीर में अधिक अंदर तक जैसे खून, जोड़ों, हड्डियों, फेफड़ों या दिल में प्रवेश करने पर घातक साबित हो सकता है। कुछ सावधानियां बरतकर आप स्‍टफ बैक्‍टीरिया इनफेक्‍शन को होने से रोक सकते हैं। इस लेख को पढ़ें और स्‍टफ बैक्‍टीरिया इनफेक्‍शन से बचाव के तरीकों के बारे में जानें।

 

स्टाफीलोकोकस संक्रमण से कैसे बचें 

हाथों को साफ रखें

हाथों को साफ रखने से न केवल स्‍टफ बैक्‍टीरिया इनफेक्‍शन से बल्‍कि अन्य प्रकार के कीटाणुओं से भी बचाव किया जा सकता है। हाथों को कम से कम 15 से 30 सेकेंड तक अच्‍दे से धोना चाहिए। इसके बाद डिस्पोजेबल तौलिए से हाथों को सुखा लेना चाहिए। नल बंद करने के लिए हमेशा दूसरे तौलिए का उपयोग करना चाहिए। यदि आपके हाथ गंदे नहीं दिख रहे हैं तो आप एक ऐसे हैंड सैनेटायजर का उपयोग कर सकते हैं, जिसमें कम से कम 62 प्रतिशत अल्कोहल हो। 

घावों को ढ़क कर रखें

शरीर पर हुए किसी घाव या खरोंच को जीवाणुहीन सूखी पट्टियों से तब तक ढ़क कर रखें जब तक की वे ठीक न हो जाये। संक्रमित घावों से निकलने वाली मवाद में अक्सर जीवाणु होते हैं। घावों को ढ़क कर रखने से बैक्टीरिया को फैलने से रोकने में मदद मिलेगी। 

इसे भी पढ़ें: सर्दी-जुकाम को कभी ना समझें मामूली, हो सकता है ये बड़ा नुकसान

रुई का फोहा खतरे को कम करें

यदि घाव पर से जल्‍दी- जल्‍दी रुई के फोहे को बदला जाये तो विषाक्‍त आघात सिंड्रोम (टॉक्सिक सॉक सिंड्रोम) के होने की आशंक को कम किया जा सकता है। रुई के फोहे को हर चार से आठ घंटे के अंतराल पर बदलना चाहिये। कम से कम अवशोषकता वाले फोहे का प्रयोग करें तथा सेनेटरी नैपकिन का उपयोग भी कर सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें: इन 5 कारणों से ठीक नहीं हो रहा जुकाम, जानें कारण

अपनी निजी वस्तुओं को व्यक्तिगत रखें

अपनी निजी वस्तुओं जैसे तौलिए, चादर, छुरा, कपड़े और एथलेटिक उपकरणों आदि को किसी और से साझा न करें। स्‍टफ बैक्‍टीरिया इनफेक्‍शन वस्तुओं के माध्यम से तथा एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को फैल सकता है। यदि आपको कोई घाव या खरोंच लग गई है तो अपने तौलिए को डिटर्जेंट, ब्लीच और गर्म पानी से धोएं। इसके बाद इसे ड्रायर में सुखा लें। उपरोक्‍त सावधानियों का पालन कर आप स्‍टफ बैक्‍टीरिया इनफेक्‍शन के खतरे और इसे अन्य लोगों तक फैलने से रोक सकते हैं।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Communicable Diseases in Hindi

Loading...
Write Comment Read ReviewDisclaimer
Is it Helpful Article?YES10 Votes 5239 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर