3 संकेत जो बताते हैं कि आपको है क्रोनिक सूजन

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Aug 29, 2015
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • सूजन आने के पीछे कई अलग-अलग कारण हो सकते हैं।
  • सूजन को देख कर अनदेखा करना कोई समझदारी नहीं है।
  • लंबे समय तक सूजन गंभीर बीमारी का संकेत हो सकती है।
  • एक हफ्ते से अधिक सूजन रहने पर डॉक्टर से संपर्क करें।

कई बार पूरे शरीर में या फिर किसी खास अंग में सूजन आ जाती है। सूजन के कई कारण हो सकते हैं। आमतौर पर लोग इसकी अनदेखी करते हैं या फिर किसी दर्द निवारक तेल व बाम आदि से ही इसका इलाज करने की कोशिश करते हैं। लेकिन यह लापरवाही कई बार समस्या का कारण भी बन सकती है। क्योंकि सूजन शरीर में छिपी किसी बड़ी बीमारी का संकेत भी हो सकती है। चलिये जानें कि क्रोनिक सूजन के क्या संकेत होते हैं और ये किस समस्या की ओर इशारा करती है।

क्यों होती है सूजन

चेहरे या शरीर के किसी हिस्से में लंबे समय से हो रही सूजन को देख कर अनदेखा करना कोई समझदारी नहीं है। अगर शरीर में बार-बार पानी एकत्र हो रहा है तो यह हृदय, लिवर या किडनी की किसी समस्या का संकेत भी हो सकता है। विशेषज्ञ बताते हैं कि जब शरीर में अतिरिक्त फ्लूइड एकत्रित हो जाता है तो शरीर में सूजन आने लगती है, जिसे एडिमा के नाम से भी जाना जाता है। सूजन के टखनों, पैरों और टांगों में आ जाने पर इसे पेरिफेरल एडिमा कहा जाता है। फेफड़ों की सूजन पलमोनरी एडिमा और आंखों के पास आने वाली सूजन पेरिऑरबिटल एडिमा कहलाती है। शरीर के ज्यादातर भागों में दिखायी पड़ने वाली सूजन को मैसिव एडिमा के नाम से जाना जाता है। दरअसल दिल से जुड़ी बीमारियों, किडनी की समस्या, असंतुलित हॉरमोन और स्टेरॉयड दवाओं के सेवन की वजह से भी कई बार एडिमा की समस्या हो सकती है। हमारा अनियमित भोजन व जीवनचर्या भी एडिमा की बड़ी वजह है।

 

Chronic Inflammation in Hindi

 

क्रोनिक सूजन के लक्षण

क्रोनिक सूजन की स्थिति में मसूड़ों, पेट, चेहरे, स्तन, लसिका ग्रंथि व जोड़ों आदि सभी भागों पर सूजन आ जाती है। इसके अलावा ज्यादा देर तक खड़े रहने या बैठे रहने के कारण होने वाली सूजन को ऑर्थोस्टेटिक एडिमा कहा जाता है। आमतौर पर हल्की फुल्की सूजन ज्यादातर कोई बड़ी समस्या नहीं होती, लेकिन लंबे समय तक रहने वाली ज्यादा सूजन गंभीर बीमारी का संकेत हो सकती है। कुछ महिलाओं को मासिक धर्म के एक सप्ताह पहले भी कुछ ऐसे ही लक्षण नजर आ सकते हैं।

 

पेट या शरीर के किसी भी अन्य अंग में एक हफ्ते से अधिक सूजन रहने पर डॉक्टर से संपर्क जरूर करना चाहिये। पुरुषों की तुलना में महिलाओं में सूजन के मामले अधिक देखने को मिलते हैं। ऐसा इसलिए भी होता है क्योंकि पुरुषों के मुकाबले महिलाओं में वसा का अनुपात अधिक होता है और वसा कोशिकाएं अतिरिक्त पानी संचित कर लेती हैं। नियमित व्यायाम व खान-पान में लापरवाही भी एडिमा की स्थिति को बढ़ा सकती है, तो इसका भी खयाल रखें।


Image Source - Getty Images.

Write a Review
Is it Helpful Article?YES11 Votes 2095 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर