एक्जिमा से बचाव के लिए जरूरी है कि आप रखें अपनी त्‍वचा का खास खयाल

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Nov 25, 2013
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • लौटकर आ सकते हैं एक्जिमा के लक्षण।
  • पसीना और गर्मी है इसके मुख्‍य कारण।
  • एक्जिमा से बचने के लिए पहनें सूती कपड़े।
  • त्‍वचा की संवेदनशीलता को समझना जरूरी।

सही प्रकार से इलाज करवाने से इस रोग के लक्षणों की नियमितता भी कम हो सकता है। इसके लिए आपको सूजन और जलन कम करने वाली दवायें लेनी होंगी।

 

prevention from eczema एक्जिमा ऐसा रोग है, जिसके लक्षण रह-रहकर सामने आते रहते हैं। यह रोग काफी लंबे समय तक रह सकता है। पूरा इलाज करवाने और अपने त्‍वचा विशेषज्ञ की अन्‍य सलाहों का सही प्रकार से पालन करने से आप इस रोग की गंभीरता को कम कर सकते हैं। इस बीमारी के लक्षण नजर आने के बाद अगर आप नीचे दिए गए उपायों को आजमाएं तो आप बीमारी को और गंभीर होने से रोक सकते हैं।


अपनी त्‍वचा को माश्‍चराइज रखें

त्‍वचा में एक्जिमा रूखा हो सकता है। साथ ही इसमें काफी खुजली भी हो सकती है। तो, अपनी त्‍वचा में जरूरी नमी बनाए रखने के लिए माश्‍चराइजर का इस्‍तेमाल करें। इससे आपकी त्‍वचा पोषित रहेगी और फ्लेअर अप (एक्जिमा के लक्षणों) को नियंत्रित करने में भी मदद मिलेगी। माश्‍चराइज का नियमित इस्‍तेमाल त्‍वचा को रूखा होकर उसमें दरारें पड़ने से रोकता है। नहाने के बाद माश्‍चराइजर का इस्‍तेमाल करने से स्किन को जरूरी पोषण मिलता है और वह लंबे समय तक बना रहता है। नहाते समय त्‍वचा को अधिक रगड़ने से बचाना चाहिए।


अधिक उत्तेजित करने वाले पदार्थ न लगाएं

ऐसे पदार्थों को त्‍वचा के संपर्क में आने से रोकें जो उसे नुकसान पहुंचा सकते हों। साबुन, बबल बॉथ, परफ्यूमृ कॉस्‍मेटिक्‍स, कपड़े धोने वाले डिर्टेंजट, घर की सफाई में काम आने वाले क्‍लीनर आदि, आपकी त्‍वचा के लिए अच्‍छे नहीं। इसके साथ ही पानी के संपर्क में भी अधिक समय तक रहना आपके लिए अच्‍छा नहीं। एक्जिमा के लक्षणों को रोकने के लिए आपको इन सब पदार्थों से दूरी बनाये रखने की सलाह दी जाती है। इनमें से किसी भी पदार्थ के संपर्क में आने से एक्जिमा फिर सक्रिय हो सकता है। यह जानने का प्रयास करें कि आपकी त्‍वचा को किस पदार्थ से एलर्जी है और फिर उससे दूरी बनाये रखने का प्रयास करें। एल्‍कोहल युक्‍त निजी देखभाल के पदार्थों से दूर रहें। इसके साथ ही बार-बार हाथ धोना भी एक्जिमा को न्‍योता दे सकता है।


पसीने और अधिक गर्मी से बचें

स्‍क्रैच और खुजली से बचने से लिए सबसे जरूरी है कि आपको अधिक पसीना न आए। साथ ही आप अधिक गर्म वातावरण से दूर रहें। तो यदि संभव हो, तो इन परिस्थितियों से बचकर ही रहना चाहिए। इतना ही नहीं तापमान और आर्द्रता में अचानक किसी बदलाव से भी आपको बचकर रहना चाहिए। अधिक गर्म वातावरण से आपको पसीना आ सकता है, जिसकी वजह से खुजली हो सकती है। और कम आर्द्रता वाला वातावरण आपकी त्‍वचा को रुखा बना सकता है, जिसके कारण एक्जिमा के लक्षण लौट सकते हैं।

 

खुरचने से बचें

खुरचने से आपकी परेशानी बढ़ सकती है। इससे आपकी त्‍वचा की ऊपरी परत क्षतिग्रस्‍त हो सकती है, जिससे बैक्‍टीरिया त्‍वचा के अंदर प्रवेश कर सकते हैं, जिससे आपको इंफेक्‍शन हो सकता है। अगर आपको खुजली हो रही है, तो आप वहां बर्फ से सिंकाई कर सकते हैं। खुजली वाले स्‍थान पर अगर बर्फ से सिंकाई की जाए तो इससे खुजली और सूजन में आराम मिलता है।


कपड़े अच्‍छी तरह धोएं

अपने कपड़ों में किसी प्रकार का डिटर्जेंट न रहने दें। पूरी तरह आश्‍वस्‍त होने के लिए अपने कपड़ों को दो बार पानी से खंगालें। अच्‍छा रहेगा अगर आप बिना खुशबू का प्राकृतिक डिटर्जेंट इस्‍तेमाल करें। नए कपड़ों को पहनने से पहले धोना आपके लिए अच्‍छा होगा। इससे उनमें मौजूद अतिरिक्‍त डाई और अन्‍य पदार्थ निकल जाएंगे, जो आपकी त्‍वचा को नुकसान पहुंचा सकते हैं। कपड़ों पर लगे टैग्‍स को हटाकर ही उन्‍हें पहनें। क्‍योंकि टैग्‍स से आपकी त्‍वचा को काफी नुकसान हो सकता है।


ढीले कपड़े पहनें

सिंथेटिक फेबरिक, ऊन और रूखे फेबरकि आपकी त्‍वचा के लिए उत्तेजक का काम कर सकते हैं। इससे आपकी त्‍वचा को नुकसान पहुंचता है और एक्जिमा के लक्षण एक बार फिर सामने आ सकते हैं। सूती कपड़े त्‍वचा के लिए हमेशा फायदेमंद होते हैं। इससे त्‍वचा खुलकर सांस ले पाती है।


पूरा इलाज करें

डॉक्‍टर के दिशा-निर्देशों के अनुसार दवाओं का सेवन करें। फ्लेयर अप को नियंत्रित करने में काफी समय लग सकता है। इसलिए पूरी शिद्दत और संयम के साथ दवाओं का सही समय पर सेवन करते रहें। ऐसा करने से इस बीमारी के लक्षणों के लौटकर आने की आशंका कम हो जाती है। साथ ही यह अपने गंभीर रूप में भी नहीं पहुंच पाती।



याद रखें किसी भी रोग के इलाज से बेहतर होता है उससे बचाव। तो, अगर अपनी त्‍वचा को एक्जिमा से बचाने के लिए जरूरी है कि आप इन उपायों को आजमाकर देखें।

 

Read More Article on Eczema in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES23 Votes 15443 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर