बरसात के मौसम में कहीं परेशान न करें बीमारियां

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jul 04, 2014
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • डायबिटीज के मरीज रखें पैरों का खयाल।
  • अपने पैरों में सही आकार के जूते चप्‍पल पहनें।
  • लिवर हो खराब तो हल्‍का और सुपाच्‍य आहार लें।
  • अस्‍थमा के मरीज इस मौसम में साफ सफाई का रखें विशेष ध्‍यान

आयुर्वेद के मुताबिक मानसून में हमारी पाचन क्रिया कमजोर हो जाती है। इसका असर शरीर की पित्‍त और वात ऊर्जा पर पड़ता है। इससे आपकी पाचन क्रिया, प्रतिरक्षा प्रणाली और जीवन शक्ति भी कमजोर हो जाती है।

वात असंतुलन होने से शरीर में दर्द, सिरदर्द और गैस जैसी समस्‍यायें हो सकती हैं। पित्‍त दोष होने से फंगल इंफेक्‍शन, यूरीनेरी ट्रेक्‍ट इंफेक्‍शन, त्‍वचा और गले में संक्रमण की परेशानी हो सकती है।

लेकिन, घबराने की कोई बात नहीं। कुछ बातों का खयाल रखकर आप बारिश के मौसम का पूरा मजा ले सकते हैं।

अगर आपको डायबिटीज है...

rainy season in hindi

अपने पैरों का रखें खयाल

अगर आपको डायबिटीज है तो आपको अपने पैरों का अतिरिक्‍त खयाल रखने की जरूरत होती है। डायबिटीज के मरीजों की रक्‍तवाहिनियां कमजोर हो जाती हैं। इसका असर रक्‍तप्रवाह कम हो जाता है। इससे पैरों पर बुरा असर पड़ता है।

नंगे पैर न घूमें

यूं तो नंगे पैर कभी नहीं घूमना चाहिये। लेकिन, बारिशों के दिनों में तो ऐसा बिलकुल ही नहीं करना चाहिये। बरसात के दिनों में कई कीड़े मकौड़े घूमते रहते हैं। वे आपके पैरों पर काट सकते हैं। घर के बाहर तो नंगे पैर बिलकुल ही कदम भी न रखें।

पैरों को रखें साफ

अपने पैरों को अच्‍छी तरह धोयें और सुखायें। जूते पहनने से पहले पैरों पर एंटी-फंगल पाउडर डालें। अगर आपको डायबिटीज है, तो कभी भी ऐसे जूते न पहना करें जो आपके पैरों में सही से फिट न आते हों।

मसाज है बेहतर

अपने पैरों की मसाज करते रहें। रात को सोने से पहले अपने पैरों की तेल से अच्‍छी तरह मालिश करें। इससे आपके पैरों की सेहत अच्‍छी रहती है।

अगर आपको अस्‍थमा है

 

आहार का रखें ध्‍यान

मानसून के दिनों में अस्‍थमा के मरीजों को अपने आहार का विशेष ध्‍यान रखना पड़ता है। रात के समय खासतौर पर दही, अचार और भारी भोजन के सेवन से बचें। इससे आपकी परेशानी बढ़ सकती है।

प्राणायाम करें

प्राणायाम आपके लिए बहुत फायदेमंद हो सकता है। प्राणायाम के जरिये आप अपनी सांसों की गति को नियंत्रित कर सकते हैं। इससे अस्‍थमा अटैक की आशंका कम होती है। इसके साथ ही आपको पैदल चलने जैसे हल्‍के व्‍यायाम भी करने चाहिये।

सफाई रखें

साफ-सफाई का विशेष रूप से ध्‍यान रखें। अलमारी और अन्‍य बंद स्‍थानों पर कवक जमा न होने दें। पान और नीम के पत्‍ते घर और अलमारी में रखें, इससे आपको सांस लेने में आसानी होगी।

अगर आपको लिवर की समस्‍या है

 

आहार हो सही

जिन लोगों को लिवर संबंधित कोई परेशानी है, बारिशें उनके लिए किसी मुसीबत से कम नहीं होती। बरसात में यूं ही हमारी पाचन श्‍ाक्ति कमजोर हो जाती है। ऐसे मौसम में आपको फल, खिचड़ी, ठंडे सूप और नारियल पानी आदि का सेवन अधिक करना चाहिये। ये आहार पचने में आसान होते हैं। और लिवर के मरीजों के लिए ये काफी फायदेमंद होते हैं।

शराब के सेवन से रहें दूर

शराब का सेवन आपके लिए अच्‍छा नहीं। मानसून के दिनों में खासकर आपको उच्‍च प्रोटीन, एल्‍कोहल और तला हुआ भोजन नहीं करना चाहिये। इनका सेवन आपकी सेहत पर विपरीत असर डालने का काम करता है।

monsoon diseases in hindi

अगर आपकी त्‍वचा है संवेदनशील

 

मूंग और चना, फायदा दे घना

मूंग की दाल और चने का पाउडर समान मात्रा में लें। इस पाउडर को पानी या दूध में मिला लें। इस मिश्रण से दिन में दो बार चेहरा धोयें। इससे आपके चेहरे पर जमा गंदगी तो साफ होगी ही साथ ही त्‍वचा भी सुरक्षित रहेगी।

पपीता, शहद और दूध

पपीते, शहद और दूध का मिश्रण तैयार करें। इसे अपने चेहरे पर लगायें, और 15 मिनट के लिए छोड़ दें। इसके बाद सामान्‍य पानी से चेहरा धो दें।

मसाज

सप्‍ताह में एक बार आयुर्वेदिक तेल से बॉडी मसाज करवायें। इससे त्‍वचा में रक्‍त संचार सुचारू होगा और साथ ही त्‍वचा के रोम छिद्र भी खुलेंगे।

बेसन से करें साफ

अपने चेहरे को बेसन, हल्‍दी और कच्‍चे दूध के मिश्रण से साफ करें। इसे अपने चेहरे पर लगायें और 15 मिनट के‍ लिए छोड़ दें। इसके बाद इसे साफ पानी से धो लें। इससे आपका चेहरा निखर जाएगा।   

 

Image Courtesy- Getty Images

 

 

 

Write a Review
Is it Helpful Article?YES8 Votes 1794 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर